केशवानन्द के जितेन्द्र व जयदीप ने मारी बाजी, भारतीय टीम में चयन

स्वामी केशवानन्द शिक्षण संस्थान नें बेहतर परिणाम देते हुए विद्याथीर्यों को पहुँचाया उच्च मुकाम तक

केशवानन्द के जितेन्द्र व जयदीप ने मारी बाजी, भारतीय टीम में चयन

स्वामी केशवानन्द शिक्षण संस्थान के दो छात्रों ने बास्केटबॉल में अपनी पहचान बनाते हुए, फेडरेशन आॅफ इंडिया बॉस्केटबॉल ऐसोसिएशन अंडर 18 पुरूष बॉस्केटबॉल इंडिया टीम में बनाई जगह ।

सीकर। स्वामी केशवानन्द शिक्षण संस्थान भढाडर सीकर खेलों में अपनी अंर्तराष्ट्रीय लेवल पर अपनी पहचान बनाते हुए शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर परिणाम देते हुए विद्याथीर्यों को उच्च मुकाम तक पहुंचाया है। संस्थान के ही दो छात्रों ने बास्केटबॉल में अपनी पहचान बनाते हुए फेडरेशन ऑफ इंडिया बॉस्केटबॉल ऐसोसिएशन अंडर 18 पुरूष बॉस्केटबॉल इंडिया टीम में अपनी जगह बनाई है।

संस्थान निदेशक रामनिवास ढाका ने बताया कि: संस्थान के छात्र जयदीप राठौड और जितेन्द्र कुमार शर्मा ने बॉस्केटबॉल में शानदार प्रदर्शन करते हुए अंडर 18 पुरूष बॉस्केटबॉल इंडिया टीम में अपना स्थान बना लिया। यह टीम अंडर 18 पुरूष एशियन बॉस्केटबॉल चैम्पियशिप में भाग लेगी।यह चैम्पियशिप कटक ओडिसा में आयोजित हो रही है। इससे पूर्व भी दोनों छात्र खेलो इंडिया में अपना शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल हासिल किये है। इस अवसर पर संस्थान निदेशक रामनिवास ढाका, चेयरमैन सुरेन्द्र सिंह, सहनिदेशक गोपाल सिंह, प्रधानाचार्य चन्द्रशेखर कौशिक सहित संस्थान प्रबंधन सदस्यों ने दोनो खिलाड़ियों को बधाई प्रेषित की।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

महाराष्ट्र के मंत्रियों ने कर्नाटक में प्रवेश की कोशिश की, तो होगी कार्रवाई : सीएम बोम्मई महाराष्ट्र के मंत्रियों ने कर्नाटक में प्रवेश की कोशिश की, तो होगी कार्रवाई : सीएम बोम्मई
बोम्मई ने कहा कि अगर महाराष्ट्र के मंत्री राज्य में प्रवेश करने का प्रयास करते हैं, तो संबंधित अधिकारियों को...
रूस में ईंधन टैंकर में आग लगने से 3 लोगों की मौत
बर्ड फ्लू का प्रकोपः 3 लाख से ज्यादा मुर्गियां मारेगा जापान
अंडर-19 महिला विश्व कप में शेफाली करेंगी भारत की कप्तानी
राहुल की केन्द्र सरकार को समय रहते संभल जाने की हुंकारः गहलोत
कृषि पर्यवेक्षक, ग्राम विकास अधिकारी और पटवारी के पद खाली पड़े, जनता भटक रही
ओवरलोड वाहनों के कारण जर्जर हुईं संपर्क सड़कें