हादसे के बाद चेता प्रशासन, वीआईपी रास्तों और गेट को किया सीज

खाटूश्याम मंदिर में मची भगदड़ को लेकर सतर्क नजर आया प्रशासनिक अमला

हादसे के बाद चेता प्रशासन, वीआईपी रास्तों और गेट को किया सीज

जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी व एसपी कुंअर राष्ट्रदीप की मौजूदगी में डीवाईएसपी सुरेन्द्र सिंह, उपखंड अधिकारी राजेश मीणा, ईओ विशाल यादव ने नगरपालिका प्रशासन व पुलिस जवानों के साथ मंदिर में आने वाले वीआईपी गेटों को ताला तथा टीन शेड लगाकर पैक किया गया। साथ ही मंदिर तक आने वाले छोटे-छोटे वीआईपी रास्तों को भी बंद करवाया गया।

खाटूश्यामजी। विश्व विख्यात खाटू नगरी में एकादशी की अलसुबह मंदिर प्रवेश द्वार पर मची भगदड़ में तीन महिला श्याम भक्तों की मौत के बाद प्रशासनिक अमला मंगलवार को सतर्क नजर आया। व्यवस्थाओं में सुधार करने के प्रभावी कदम उठाने को लेकर अधिकारी खाटूश्यामजी में डेरा डाले रहे। जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी व एसपी कुंअर राष्ट्रदीप की मौजूदगी में डीवाईएसपी सुरेन्द्र सिंह, उपखंड अधिकारी राजेश मीणा, ईओ विशाल यादव ने नगरपालिका प्रशासन व पुलिस जवानों के साथ मंदिर में आने वाले वीआईपी गेटों को ताला तथा टीन शेड लगाकर पैक किया गया। साथ ही मंदिर तक आने वाले छोटे-छोटे वीआईपी रास्तों को भी बंद करवाया गया। प्रशासनिक अधिकारियों व मंदिर कमेटी पदाधिकारियों की बैठक एकादशी को हुई घटना के बाद क्षेत्रीय विधायक वीरेन्द्र सिंह ने वीआईपी दर्शन रोकने के पुख्ता इंतजाम करने की मांग की थी। वहीं भगदड़ की घटना की जानकारी मिलते ही मेला विकास प्राधिकरण बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश बोराणा ने खाटूश्यामजी पहुंचकर जिले के प्रशासनिक अधिकारियों व मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के लिए लगातार व्यवस्थाएं की जा रही है, लेकिन कुछ कार्य ऐसे होते हैं जो मंदिर कमेटी के होते हैं। अनुभव कम होने के चलते वह ठीक से नहीं हो पाते हैं। ऐसे में आज फैसला किया गया है कि जो भी निर्णय लिए जाएंगे, वे मंदिर कमेटी और जिला प्रशासन के साथ लेंगे। वहीं सोमवार सुबह हुई घटना कोई सामान्य घटना नहीं थी। इसकी जांच के बाद प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। जिला कलक्टर ने कहा कि मेला विकास प्राधिकरण बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश बोराणा ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली है। मामले की जांच संभागीय आयुक्त करेंगे। इसके साथ ही आज मंदिर कमेटी को भी निर्देश दिए गए हैं कि विशेष मौके पर व्यवस्थाओं में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए। मंदिर जाने के लिए जल्द होगी वैकल्पिक व्यवस्था जिला कलक्टर ने कहा कि अब खाटूश्याम कस्बे के एरिया के हिसाब से काफी ज्यादा भीड़ आने लगी है। ऐसे में जल्द ही इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी, जिससे ऐसी घटना कभी भविष्य में नहीं हो। एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने कहा कि जब भी कभी भीड़ ज्यादा हो तो मंदिर परिसर पूरे टाइम खुला रहे। इस मामले में मंदिर कमेटी ने भी कहा है कि वह पट बंद रखने के समय को कम करेगी। भीड़ के हिसाब से जाब्ता भी बढ़ाया जाएगा। किसी भी जगह भीड़ को रुकने नहीं दिया जाएगा। ट्रैफिक की समस्या पर एसपी ने कहा कि पार्टी पॉइंट्स जल्दी डिसाइड कर लिए जाएंगे, जिससे यह समस्या दूर हो जाएगी। मौजूदा समय में पार्किंग पॉइंट निश्चित नहीं होने के चलते ट्रैफिक बना रहता है। ओवरलोड वाहनों की बात पर एसपी ने कहा कि इस पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। कई लोग उसका विरोध भी करते हैं, लेकिन फिर भी पुलिस लगातार कार्रवाई जारी रखती है। मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज कस्बे में सोमवार को प्रवेश गेट पर भगदड़ से तीन महिलाओं की मौत के मामले को लेकर रामदेव सिंह खोखर ने श्री श्याम मंदिर कमेटी के पदाधिकारी व ट्रस्टी प्रताप सिंह चौहान के खिलाफ गैर आदतन हत्या का मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने श्री श्याम मंदिर कमेटी के अध्यक्ष शंभू सिंह चौहान, मंत्री श्याम सिंह चौहान, कोषाध्यक्ष कालू सिंह चौहान, ट्रस्टी प्रताप सिंह चौहान, भवानी सिंह चौहान के खिलाफ धारा 304 ए के तहत मामला दर्ज कर उच्च अधिकारियों के निर्देश पर दांतारामगढ़ थानाधिकारी मदनलाल कड़वासरा को जांच सौंप दी है। मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन कस्बे में मंगलवार को भी व्यवस्थाओं को लेकर आक्रोश देखने को मिला। थड़ी ठेला मजदूर यूनियन व नागरिकों द्वारा मुख्य बाजार से नारेबाजी करते हुए पांच सूत्री मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर अविचल चतुर्वेदी को ज्ञापन दिया गया। इससे पहले सीकर धर्मशाला के पास कार्यकर्ताओं की मीटिंग आयोजित की गई। इसके बाद कार्यकर्ता पुतला जलाते हुए मुख्य बाजार से मंदिर कमेटी तक नारेबाजी करते हुए पहुंचे। पांच सदस्यों के प्रतिनिधिमंडल ने जिला कलक्टर को पांच सूत्री मांग पत्र देकर मृतक के परिजनों को 50- 50 लाख का मुआवजा, मृतक महिलाओं के आश्रितों को सरकारी नौकरी, मामले की न्यायिक जांच करवाने, हाथ ठेला व ई रिक्शा वालों का स्थान निर्धारित करने सहित अन्य मांगों का ज्ञापन दिया। जिला कलेक्टर ने सभी मांगों पर सकारात्मक जवाब देते हुए कहा कि मामले को लेकर संभागीय आयुक्त द्वारा जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। राज्य सरकार के आदेशानुसार मुआवजे को लेकर चर्चा की जाएगी।

Post Comment

Comment List

Latest News

असर खबर का : हरकत में आया प्रबंधन, चालू की यूनिट दो असर खबर का : हरकत में आया प्रबंधन, चालू की यूनिट दो
प्रदेश में चल रहे बिजली संकट के मामले में दैनिक नवज्योति ने पॉवर प्लांटों की 11 यूनिट बंद होने के...
सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में ठेका श्रमिकों ने किया कार्य बहिष्कार
फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप: झारखण्ड की खिलाड़ी अस्टम उरांव भारत की कैप्टन
अपने कर्तव्यो को ईमानदारी से निभाने वाले अधिकारियों के साथ सरकार कर रही है नाइंसाफी : रामलाल
इन्वेस्ट राजस्थान समिट की सभी तैयारियां पूरी, मित्तल, बिड़ला सहित जाने माने उद्यमी होंगे शामिल
कांग्रेसजनों ने गोकुल भाई भट्ट को अर्पित की पुष्पांजलि
सिर पर पत्थर से वार कर युवक की हत्या