PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कोरोना स्थिति पर की चर्चा, कहा- एकजुट होकर करना होगा चुनौती का सामना

PM मोदी ने मुख्यमंत्रियों से कोरोना स्थिति पर की चर्चा, कहा- एकजुट होकर करना होगा चुनौती का सामना

देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ने के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने पिछले 5 सप्ताह में आज तीसरी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। इससे पहले भी उन्होंने 17 मार्च और 8 अप्रैल को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ महामारी से निपटने के उपायों पर चर्चा की थी।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर कई राज्यों और छोटे-बड़े शहरों को चपेट में ले रही है और सभी राज्यों को इसे परास्त करने के लिए एकजुट होना पड़ेगा तथा दवा और ऑक्सीजन के लिए एक दूसरे की मदद करनी होगी। देश में कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ने के मद्देनजर प्रधानमंत्री ने पिछले 5 सप्ताह में आज तीसरी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। इससे पहले भी उन्होंने 17 मार्च और 8 अप्रैल को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ महामारी से निपटने के उपायों पर चर्चा की थी। मोदी ने कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित 11 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेन्स के जरिए बैठक की। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष कोरोना की पहली लहर का देश ने एकजुट होकर सामना किया था और इस बार भी सफलता के लिए सभी को एकजुट होकर लड़ना होगा, इससे संसाधनों की कमी भी नहीं होगी। दूसरी लहर की चुनौती से निपटने के लिए भी सभी राज्यों को एकजुट होकर रणनीति बनानी होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य एकजुट हों और तालमेल के साथ एक दूसरे का सहयोग करे, केन्द सरकार उनकी हरसंभव मदद करती रहेगी। ऑक्सीजन की आपूर्ति के बारे में उन्होंने कहा कि इसे बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं, सभी संबंधित विभाग और मंत्रालय मिलकर काम कर रहे हैं। औद्योगिक क्षेत्र की ऑक्सीजन को भी मेडिकल इस्तेमाल में लाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों को मिलकर और तालमेल के साथ एक दूसरे की दवा तथा ऑक्सजीन की जरूरतों के मामलों में मदद करनी चाहिए। सभी राज्यों को ऑक्सीजन तथा दवा की जमाखोरी के मामलों से सख्ती से निपटना चाहिए। प्रत्येक राज्य को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि किसी भी राज्य में जाने वाले ऑक्सीजन टैंकर को किसी भी सूरत में नहीं रोका जाना चाहिए। राज्यों को अपने यहां प्रत्येक अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए एक समिति का गठन करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार सभी राज्यों को जल्द से जल्द ऑक्सीजन आपूर्ति करने के लिए हरसंभव उपाय कर रही है और इसमें रेल तथा हवाई मार्ग की मदद ली जा रही है। उन्होंने कहा कि संसाधनों को बेहतर बनाने के साथ साथ हमें जांच भी बढ़ानी होगी और लोगों को सुगम तरीके से जांच की सुविधा देनी होगी। उन्होंने टीकाकरण की रफ्तार को बढ़ाने पर भी जोर दिया। उन्होंने अस्पतालों में हाल में हुए हादसों का जिक्र करते हुए सुरक्षा का विशेष ध्यान रखने को भी कहा। उन्होंने कहा कि राज्य लोगों से कहें कि वे हड़बड़ी में खरीदारी न करें। 

Post Comment

Comment List

Latest News

सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार! सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार!
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह सिल्वर स्क्रीन पर सुपरहीरो शक्तिमान का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं।
चीन में फिर कोरोना का कहर, शीआन शहर में लगा एक सप्ताह का लॉकडाउन
अब वार्ड वार लगेंगे प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर
रिश्वतखोर पटवारी को 3 साल की सजा , 50000 रुपए जुमार्ना
कन्हैयालाल हत्याकांड सरकार की तुष्टीकरण की नीति का है परिणाम : पूनिया
पर्यटन को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से करे प्रचारित : सिंह
ईआरसीपी पर गुमराह कर रहे हैं मुख्यमंत्री, सब चाहते हैं योजना को मंजूरी मिले :राठौड़