सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में ठेका श्रमिकों ने किया कार्य बहिष्कार

दो माह से वेतन नहीं मिलने पर जताई नाराजगी

सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में ठेका श्रमिकों ने किया कार्य बहिष्कार

आज ठेका श्रमिको ने (सुबह 8 से 11) 3 घंटे कार्य बहिष्कार किया। हॉस्पिटल गेट पर नारेबाजी की। बाद में हॉस्पिटल प्रशासन ने संवेदक को बुलाकर बात की। एक दो दिन में भुगतान का आश्वासन देकर कार्य बहिष्कार खत्म करवाया।

कोटा । कोटा मेडिकल कॉलेज से सम्बद्ध सुपर स्पेशयलिटी हॉस्पिटल (एसएसबी) में कार्यरत ठेका श्रमिक दो माह से वेतन को तरस रहे है। संवेदक द्वारा ठेका श्रमिकों को दो महीने से भुगतान नहीं किया गया। वेतन नहीं मिलने से ठेका श्रमिक आर्थिक संकट से जूझ रहे है। उन्हें घर खर्च चलाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विरोध में आज ठेका श्रमिको ने (सुबह 8 से 11) 3 घंटे कार्य बहिष्कार किया। हॉस्पिटल गेट पर नारेबाजी की। बाद में हॉस्पिटल प्रशासन ने संवेदक को बुलाकर बात की। एक दो दिन में भुगतान का आश्वासन देकर कार्य बहिष्कार खत्म करवाया।

ठेका श्रमिकों का कहना है कि ठेका प्रथा के तहत कार्मिकों का शोषण किया जा रहा है। महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। उसके बाद भी ठेका श्रमिकों को प्रतिमाह 4 से 5 हजार रुपये वेतन दिया जा रहा है। हॉस्पिटल में करीब 101 से ज्यादा ठेका श्रमिक है। जो केश काउंटर, पर्ची काउंटर, दवा काउंटर,लेखा शाखा,एक्सरे विभाग, लैब सहित अस्पताल के कई वार्डो में लगे है। लेकिन वर्तमान में बिना वेतन को काम करने को मजबूर है। दूसरा , महीना पूरा हो चुका है, इन्हें अभी तक वेतन नहीं मिला है। बताया जा रहा है कि  संवेदकों के बिल का भुगतान नहीं होने से ठेका श्रमिकों का वेतन अटका है। 

संवेदक सुपरवाइजर भंवर का कहना है कि टेंडर हुए 4 माह हो गए है। लेकिन अभी तक हॉस्पिटल प्रबंधक द्वारा बिल का भुगतान नहीं किया। दो महीने की सैलरी जेब से दे चुके। जबकि टेंडर शर्त में एक महीने की सैलरी जेब से देने की बात थी। अभी तक चार बिलों का भुगतान नहीं किया गया।

Read More उदयपुर-डूंगरपुर को जोड़ने वाले पुल का 33 मीटर हिस्सा ढहा

Post Comment

Comment List

Latest News