भाजपाइयों को सदमा, फर्राटा मारते निकल गई रेलमंत्री की ट्रेन

पहले था स्टेशन पर रुकने का कार्यक्रम

भाजपाइयों को सदमा, फर्राटा मारते निकल गई रेलमंत्री की ट्रेन

रेल मंत्री का अजमेर से दिल्ली जाते समय रात 9 बजकर 35 पर बांदीकुई जंक्शन पर 10 मिनट रुकने का कार्यक्रम तय हुआ था। इन दस मिनट में रेलमंत्री को स्थानीय नागरिक व भाजपा कार्यकर्ताओं से रूबरू होना भी तय था।

बांदीकुई। पुरानी कहावत है कि डीगें हांकना कभी कभी व्यक्ति की किरकिरी भी करा देती है। यह कहावत मंगलवार रात भाजपा नेता व आरएसएस के लोगों पर यहां के रेलवे स्टेशन पर उस समय चरितार्थ हुई जब रेलमंत्री अश्नवी वैष्णव विशेष ट्रेन से अजमेर से दिल्ली जाते समय  रेलवे स्टेशन पर नहीं रुके। स्टेशन पर उनके स्वागत के लिए आरएसएस व भाजपा के दर्जनों कार्यकर्ता माला और साफे लेकर  खड़े रहे गए। रेलमंत्री के नहीं रुकने पर उन्हें मायूसी होकर घर पड़ा। दरअसल मंगलवार शाम रेल मंत्री का अजमेर से दिल्ली जाते समय रात 9 बजकर 35 पर बांदीकुई जंक्शन पर 10 मिनट रुकने का कार्यक्रम तय हुआ था। इन दस मिनट में रेलमंत्री को स्थानीय नागरिक व भाजपा कार्यकर्ताओं से रूबरू होना भी तय था। जिसकी सूचना रेल प्रशासन की ओर से स्थानीय आरएसएस व भाजपाइयों को भी दी गई थी। बताया जाता है कि इसी दरम्यान रात आठ बजे रेलवे प्रशासन की ओर से दूसरा मैसेज आया कि रेलमंत्री नहीं रुकेंगे और सीधे दिल्ली जाएंगे। जिसकी सूचना रेलवे के पीआरओ ने मिडिया को दे दी थी।

रेल मंत्री का बांदीकुई नहीं रुकना भाजपाइयों को नागुवार गुजरा। रेल मंत्री का बांदीकुई रेलवे स्टेशन पर रुकने का कार्यक्रम निरस्त हो जाने के बाद भी आरएएसस के क्षेत्रीय सर संघ चालक डा. सोहन लाल, संघ के पूर्व जिला कार्यवाह वैद्य बलवीर सिंह कुशवाह, रेल सलाहकार समिति के सदस्य शोभित चतुर्वेदी, राजस्थान युवा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भूपेंद्र सैनी, पंचायत समिति के पूर्व प्रधान सुबुद्धिराम मीणा, भाजपा जिला मंत्री डॉ सुमेश विजय, रवि  पालीवाल, वरिष्ठ भाजपा नेता प्रमोद व्यास, वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश पारीक, बसवा,बाबूलाल सैनी बसवा,नगर अध्यक्ष मनोज टोडवाल सहित अनेको भाजपाई,पार्षद महेन्द दैमन,विनेश वर्मा व अनेको भाजपा कार्यकर्ता हाथो में फूलों की माला, साफे और ट्रेनों के ठहराव सम्बंधी मागों का ज्ञापन लेकर रेलवे स्टेशन पहुंच गए। जिसकी खबर मीडिया को लगी तो मिडियाकर्मी भी स्टेशन पर पहुंच गए। जहां राजस्थान युवा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भूपेन्द्र  सैनी नेमीडियाकर्मियों सहित अन्य को मोबाइल पर रेल मंत्री से उनकी हुई वीडियो कॉलिंग की रिकॉडिंग दिखाई। जिसमें सैनी रेलमंत्री से बांदीकुई रुकने का आग्रह कर रहे थे। इस आग्रह को सैनी रेलमंत्री की दो मिनट रुकने की स्वीकृति बता रहे थे। इसके अलावा अन्य कुछ वरिष्ठ लोग रेलमंत्री के रुकने का दावा  कर रहे थे।

ऐसे में भाजपाइयों सहित अन्य स्टेशन पर रेल मंत्री की स्पेशल ट्रेन के आगमन का इंजतार करने लगे। रात 9 बजकर 55 पर रेलमंत्री की स्पेशल ट्रेन जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर दो से बिना रुके तेज गति से गुजर तो गई लेकिन रुकी नही। इस मंजर को देखरेलमंत्री के रुकने का दावा करने वाले तो बगल झांकने लगे और सभी मायूस होकर अपने अपने घर लौट गए। बताया जाताहै कि भाजपा के कुछ पदाधिकारी तो बांदीकुई की पूर्व विधायक एवं भाजपा की राष्ट्रिय मंत्री डॉ अलक सिंह के हवाले से रेल मंत्री को ज्ञापन देने आए थे। उन्हें भी बैरंग ही लौटना पड़ा। कार्यकर्ताओं को इस  बातका मलाल है कि रेल मंत्री दौसा रेलवे स्टेशन पर तो दस मिनट रुक गए, लेकिन बांदीकुई मे दो मिनट भी नही रूके।

आपस में माला पहनकर मिटाई झेंप : रेलमंत्री की ट्रेन के गुजर जाने के बाद करीब दस मिनट तक रेलवे स्टेशन पर झेंप मिटाने की रस्म अदा की गई। कार्यकर्ताओं ने सबसे पहले पूर्व प्रधान सुबुद्धिराम मीना को तो बाद में युवा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भूपेन्द्र सैनी और पार्षद महेन्द्र दैमन को माला पहनाकर झेंप मिटाई। इतना ही नहीं कुछ कार्यकर्ताओंं ने तो स्टेशन स्थित जीआरपी व आरपीएफ के सहायता बूथ को फू लों की माला अर्पित कर डाली। उसके बाद भी उनकी दिल नहीं भरा तो रेल मंत्री को देने आए ज्ञापन स्टेशन अधीक्षक को समर्पित कर दिया।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News