वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ

पूरे विधानसभा क्षेत्रों में निकाली जा रही जनआक्रोश यात्रा

वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में एक भी सफलता काम सामने नहीं है, कांग्रेस में मुख्यमंत्री, मंत्रीयों के विभागों के बंटवारे को झगड़ा चला।

टोंक। जन आक्रोश यात्रा 2022 के जिला प्रभारी एवं पूर्व मंत्री कालीचरण सर्राफ ने कहा कि राजस्थान में अब तक की सरकारों के इतिहास में कांग्रेस की इस बार सरकार पूरी तरह विफल रही है, और कांग्रेस सरकार बनी है, जब से ही कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद को लेकर घमासान मचा हुआ, जनता के दुख:दर्द की चिंता नहीं है। जन आक्रोश यात्रा के जिला प्रभारी कालीचरण सर्राफ ने जिला प्रमुख सरोज बंसल के आवास पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि भाजपा द्वारा पूरे विधानसभा क्षेत्रों में जनआक्रोश यात्रा निकाली जा रही है, जिसकी तैयारियां को लेकर जानकारी लेकर अधिक से अधिक जनता का जुड़ाव होकर यात्रा को सफल बनाएंगे, जिसमें अधिक से अधिक कार्यकर्ता भाग लेंगे। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार में एक भी सफलता काम सामने नहीं है, कांग्रेस में मुख्यमंत्री, मंत्रीयों के विभागों के बंटवारे को झगड़ा चला। राजस्थान अपराधों में उत्तरप्रदेश व बिहार से अव्वल नम्बर पर है। कांग्रेस से किसानों से वादा किया था, लेकिन एक भी वादा पूरा नहीं किया, राहुल गांधी आएं थे तो वायदा किया था कि 10 दिन में किसानों को कर्जा माफ कर देंगे, पर किसानों का कर्जा माफ नहीं किया। जुमलेबाजी वाली कांग्रेस सरकार रही है और राजस्थान के इतिहास में जबरदस्त फेल सरकार रहा है। राजस्थान में 38 लाख बेरोजगार है। उनके लिए कुछ नहीं किया। पूर्व मंत्री कालीचरण सर्राफ किस्सा कुर्सी के सवाल पर कहा कि भाजपा वर्तमान हालातों को देख रही है, मध्यावधि चुनाव की ओर राजस्थान सरकार बढ़ रही है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने ही पार्टी के नेता सचिन पायलट को गद्दार बता रहे है। जबकि आलाकमान पायलट को मुख्यमंत्री बनाना चाहते है, पर अशोक गहलोत यह नहीं चाहते है। ऐसे में भाजपा तो यह ही चाह रही है कि मौका आते ही भाजपा का राज बने और इसके लिए भाजपा कार्यकर्ता पूरी तरह से तैयार है। भाजपा जनता पार्टी पर आरोप लगा रहे है, जबकि कांग्रेस का आपस का झगड़ा है। 

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में कोई झगड़ा नहीं है, जो केन्द्रीय नेतृत्व मुख्यमंत्री तय करता है। उन्होंंने वसुंधरा राजे की भूमिका पर कहा कि राजस्थान की सर्वमान्य नेता वसुंधरा राजे है। उन्होंने कहा कि वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, है और हमारी नेता रहेगी। वास्तव में काम होगा तो केन्द्र को मनाना पड़ेगा। इस मौके पर जिला प्रमुख सरोज बंसल, भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र पराणा, भाजपा सह प्रभारी जयपुर नरेश बंसल, भाजयुमो प्रदेश महामंत्री चन्द्रवीर सिंह चौहान, भाजपा जिला महामंत्री विष्णु शर्मा आदि मौजूद थे।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News