जापान: नर्सरी स्कूल के शिशुओं के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में तीन शिक्षिकाएं गिरफ्तार

शिक्षक जून और अगस्त के बीच दुर्व्यवहार के 15 मामलों में शामिल थे

जापान: नर्सरी स्कूल के शिशुओं के साथ दुर्व्यवहार के आरोप में तीन शिक्षिकाएं गिरफ्तार

एक पिता ने गुरुवार को कहा कि वह अपनी बेटी के स्कूल में दुव्र्यवहार के खुलासे से पूरी तरह से स्तब्ध है और इस तरह के जघन्य कृत्य करने वाले लोगों को समझना असंभव है।

टोक्यो। जापान के शिजुओका प्रान्त में एक नर्सरी स्कूल में काम करने वाली तीन शिक्षिकाओं को रविवार को उनकी देखभाल में रह रहे शिशुओं के साथ बार-बार दुव्र्यवहार करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। स्थानीय मीडिया ने यह जानकारी दी। सुसोनो शहर में सकुरा होइकुएन नामक निजी स्कूल की पुलिस द्वारा तलाशी लेने के कुछ घंटों बाद इन शिक्षकों को हिरासत में लिया गया। 

यह मामला शहर में बुधवार के इस खुलासे के बाद आया कि ये शिक्षक जून और अगस्त के बीच दुर्व्यवहार के 15 मामलों में शामिल थे। इसमें एक साल के बच्चों को उनके पैरों से उल्टा पकडऩा, जबरन उनकी पैंट उतारना और उन्हें चाकुओं से डराने के साथ ही कई अन्य अपमानजनक कार्य शामिल है।

शिजुओका प्रान्त में शहर के अनुसार ये तीनों आरोपी शिक्षक एक वर्षीय कक्षा के प्रभारी छह शिक्षकों में से थे और हाल ही में नर्सरी स्कूल छोड़ दिया था। इन्होंने अपमानजनक व्यवहार करना स्वीकार किया है लेकिन साथ ही दावा किया कि वे बच्चों को अनुशासित करने की कोशिश कर रहे थे।

स्थानीय रिपोर्टों के अनुसार पुलिस जब्त किये गये रिकॉर्ड की जांच करेगी क्योंकि उनका मानना है कि नर्सरी में लगातार दुव्र्यवहार हो रहा था। स्कूल ने अपने सभी कर्मचारियों को इस शपथ पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया था कि वहां क्या हुआ था इसका खुलासा किसी से नहीं करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि पुलिस ने इस डर से तलाशी ली है कि सबूत नष्ट हो सकते हैं।

स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि स्कूल के प्रमुख तोशिहिको सकुराई से पूछताछ की गई और एक विशेष जांच के हिस्से के रूप में तीन शिक्षकों के काम के रिकॉर्ड पेश करने की जरुरत है। जानकार सूत्रों ने कहा कि स्कूल को पहले अगस्त के मध्य में स्थानीय अधिकारियों द्वारा प्रत्येक बच्चे पर किए गए दुव्र्यवहार का विस्तृत विवरण प्रदान करने के लिए कहा गया था, लेकिन स्कूल और  उसके प्रमुख इन आरोपों पर चुप रहे।

एक पिता ने गुरुवार को कहा कि वह अपनी बेटी के स्कूल में दुव्र्यवहार के खुलासे से पूरी तरह से स्तब्ध है और इस तरह के जघन्य कृत्य करने वाले लोगों को समझना असंभव है। उन्होंने कहा कि वह यह सोच कर भी सो नहीं पाएंगे कि उनकी एक साल की बेटी के साथ ऐसी घिनौनी हरकत हुई होगी।

Tags: Japan

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा