बेटिकट यात्रा करने वालों की संख्या में हो रहा इजाफा

18 हजार 583 यात्रियों पर लगा जुर्माना

बेटिकट यात्रा करने वालों की संख्या में हो रहा इजाफा

दिवाली पर बिना टिकट यात्रा करने वालों की संख्या में इस बार भारी इजाफा हुआ है। इस वर्ष केवल नवम्बर माह में कुल ऐसे मामले 35,600 पाए गए जिसमे बिना टिकट 18,583 मामले , अनुचित यात्रा 16,966 और बिना बुक वाले 51 मामले शामिल है।

कोटा। फोकट का दिमाग रखने वाले हमेशा फोकट में सारी चीजों को हासिल करना चाहते है। उदाहरण के लिए रेल यात्रियों को ही देख लीजिए। ट्रेनों में बेटिकट यात्रा करने वाले लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। चलती ट्रेन में टिकट चेकिंग के लिए टीसी लगाए हुए है। जो बिना टिकट मिलने पर जुर्माना भी लगाते है उसके बावजूद बिना टिकट यात्रा करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 

आठ माह में 21 करोड का लगाया जुर्माना
 कोटा मंडल के वाणिज्य विभाग ने अब तक वित्तीय वर्ष के आठ माह में 2022-23 में अप्रैल से नवम्बर माह तक टिकट जांच के दौरान बिना टिकट,अनुचित टिकट लेकर यात्रा करने वाले एवं बिना बुक गये सामान सहित कुल 3,27,032 मामलों से 21 करोड़ 69 लाख 53 हजार 9 सौ 99 रुपए की आय अर्जित की जो गत वित्तीय वर्ष से लगभग 28.75 प्रतिशत अधिक है।  जिसमे बिना टिकट के 2,67,101 मामले है ।  वरिष्ठ मण्डल वाणिज्य प्रबन्धक जन सम्पर्क अधिकारी नें यात्रियों से अपील की है कि उचित टिकट लेकर ही यात्रा करें । प्लेटफॉर्म टिकट यात्रा के लिए अनुमत नहीं है। अपने सामान को उचित रूप से बुक कराएं, ताकि किसी प्रकार की असुविधा न हो।

दिवाली पर मुफ्त यात्रा करने वालों पर लगाया जुर्माना
दिवाली पर बिना टिकट यात्रा करने वालों की संख्या में इस बार भारी इजाफा हुआ है। इस वर्ष केवल नवम्बर माह में कुल ऐसे मामले 35,600 पाए गए जिसमे बिना टिकट 18,583 मामले , अनुचित यात्रा 16,966 और बिना बुक वाले 51 मामले शामिल है। जिससे रेलवे को कुल 2 करोड़ 28 लाख 80 हजार 5 सौ 42 रुपए आय आर्जित हुई । इससे प.म.रेल कोटा मंडल के आय में बढ़ोत्तरी हुई । जो कि वाणिज्य विभाग के टिकट चेकिंग कर्मचारियों द्वारा किया गया सराहनीय कार्य है ।

बिना टिकट यात्रा पर ये लगता जुर्माना
जुर्माना की राशि इस बात पर निर्भर करती है कि यात्री कहां चढ़ा और किस स्टेशन पर उतरना है।  सटीक दूरी, किराया देखने बाद ही बिना टिकट यात्रियों की जुर्माना राशि तय होती है। 

इनका कहना है
रेल प्रशाासन की ओर से यात्रियों को अच्छी और आरामदायक सुविधाएं उपलब्ध  कराने के लिए प्रतिबद्ध है। लेकिन अगर कोई बिना टिकट यात्रा करके  रेलवे के राजस्व में धोकाधड़ी कर रहा है। तो हम ऐसे यात्रियों से निपटने के लिए हमेशा विशेष निरीक्षण अभियान चलाते है। ।इसमे पकड़े गए  यात्रियों से कार्रवाई के रूप में जुर्माना वसूला जाता है। 
- रोहित मालवीय, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक कोटा 

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News