खारकीव में भारतीय छात्र की मौत, गहलोत बोले.....यूक्रेन के खारकीव में भारतीय छात्र नवीन की मृत्यु का समाचार दुखद

यूक्रेन की परिस्थितियों में भारतीयों को अपने हाल पर नहीं छोड़ा जाना चाहिए।

खारकीव में भारतीय छात्र की मौत, गहलोत बोले.....यूक्रेन के खारकीव में भारतीय छात्र नवीन की मृत्यु का समाचार दुखद

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यूक्रेन के खारकीव में भारतीय छात्र नवीन की मृत्यु का समाचार दुखद है। मैं भारत सरकार से पुन: निवेदन करता हूं कि उच्चतम स्तर पर वार्ता कर सभी भारतीयों को यूक्रेन से सुरक्षित बाहर निकाला जाए।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यूक्रेन के खारकीव में भारतीय छात्र नवीन की मृत्यु का समाचार दुखद है। मैं भारत सरकार से पुन: निवेदन करता हूं कि उच्चतम स्तर पर वार्ता कर सभी भारतीयों को यूक्रेन से सुरक्षित बाहर निकाला जाए। यूक्रेन की परिस्थितियों में भारतीयों को अपने हाल पर नहीं छोड़ा जाना चाहिए।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने यूक्रेन के माइकोलेव शहर में पढ़ाई कर रहीं जयपुर की छात्रा पायल मूलानी एवं लवीना रावल से वीडियो कॉल पर बात की। उन्होंने बताया वे अभी बस से माल्डोवा बॉर्डर जा रहे हैं जहां से दिल्ली के लिए फ्लाइट लेंगे। इन सभी को सकुशल भारत आने के लिए शुभकामनाएं दीं।

गहलोत ने यूक्रेन में फंसे देश एवं प्रदेश के विद्यार्थियों की शीघ्र एवं सुरक्षित वापसी के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा था। इस पत्र में प्रधानमंत्री से आग्रह किया है कि इन विद्यार्थियों को शीघ्र भारत लाने के लिए केन्द्र सरकार अविलम्ब यूके्रन की सरकार से सम्पर्क करे ताकि पोलैंड एवं रोमानिया से होकर विद्यार्थियों को भारत आने के लिए सुरक्षित मार्ग मिल सके।


मुख्यमंत्री ने यूक्रेन में रह रहे भारतीय छात्र अजय सिंह से आज फोन पर हुई उनकी बातचीत का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री को अवगत कराया है कि यूक्रेन से एक साथ निकलने के लिए भारतीय विद्यार्थियों को रोमानिया और पोलैंड से सुरक्षित मार्ग नहीं मिल पा रहा है। राज्य सरकार के अधिकारियों को वहां रह रहे विद्यार्थियों एवं उनके परिजनों के माध्यम से यह संदेश प्राप्त हो रहे हैं कि बड़ी संख्या में भारतीय विद्यार्थी रोमानिया की सीमा पर एकत्रित हैं और उन्हें वहां से आगे बढ़ने का रास्ता नहीं मिल पा रहा है। गहलोत ने प्रधानमंत्री को यह भी अवगत कराया कि रोमानिया बॉर्डर पर इन विद्यार्थियों को अत्यधिक ठण्ड का सामना करना पड़ा रहा है। यूक्रेन में बने वर्तमान हालातों तथा वहां फंसे होने के कारण बच्चे एवं भारत में रह रहे उनके अभिभावक मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं। इस समस्या के समाधान के लिए राज्य सरकार के अधिकारी विदेश मंत्रालय और इन विद्यार्थियों से लगातार संपर्क बनाए हुए हैं।


मुख्यमंत्री ने मोदी से आग्रह किया है कि वे पौलेंड और रोमानिया तक सुरक्षित मार्ग की विद्यार्थियों की जरूरत को पूरा करने के लिए यूक्रेन सरकार से संपर्क करें और रोमानिया बॉर्डर पर उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए भारतीय विद्यार्थियों को जल्द से जल्द सहायता पहुंचाने के लिए विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को निर्देशित करें। गहलोत ने केन्द्रीय विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर को भी पत्र लिखकर उनका ध्यान विद्यार्थियों की सुरक्षित वापसी में आ रही इन समस्याओं की ओर आकृष्ट किया है।

राज्य सरकार ने ई-सूचना पोर्टल लॉन्च किया
नई दिल्ली। राजस्थान सरकार ने यूक्रेन में राजस्थान राज्य के फंसे हुए निवासियों से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए एक ई-सूचना पोर्टल लॉन्च किया है।  पोर्टल राज सीएडी, डीओआईटी एंड सी तथा राजस्थान सरकार द्वारा विकसित किया गया है। Website (https://home.rajasthan.gov.in) (https://rajasthan.gov.in)  राजस्थान सरकार के राज्य पोर्टल से लॉग इन कर इस पर एक्सेस किया जा सकता है ।

Post Comment

Comment List

Latest News

सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार! सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार!
मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह सिल्वर स्क्रीन पर सुपरहीरो शक्तिमान का किरदार निभाते नजर आ सकते हैं।
चीन में फिर कोरोना का कहर, शीआन शहर में लगा एक सप्ताह का लॉकडाउन
अब वार्ड वार लगेंगे प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर
रिश्वतखोर पटवारी को 3 साल की सजा , 50000 रुपए जुमार्ना
कन्हैयालाल हत्याकांड सरकार की तुष्टीकरण की नीति का है परिणाम : पूनिया
पर्यटन को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से करे प्रचारित : सिंह
ईआरसीपी पर गुमराह कर रहे हैं मुख्यमंत्री, सब चाहते हैं योजना को मंजूरी मिले :राठौड़