मेहंदीपुर बालाजी में फिर तनाव

भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष के पहुंचते ही स्थिति तनावपूर्ण

 मेहंदीपुर बालाजी में फिर तनाव

ग्रामीणों ने लगाए स्थानीय पुलिस पर आरोप

दौसा/मेहंदीपुर बालाजी। मेहंदीपुर बालाजी थाना क्षेत्र के उदयपुर गांव में दो समाजों के बीच सामाजिक आयोजन को लेकर उपजे विवाद में गुरूवार को फिर विवाद हो गया। ऐसे में दोनों पक्षों की ओर से पथराव हो गया। जिससे एक बार स्थिति तनावपूर्ण हो गई। वहीं सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची मेहंदीपुर बालाजी थाना पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में किया और पथराव करने वालों को मौके से खदेड़ दिया।

वहीं स्थिति को देखते हुए मौके पर मेहंदीपुर बालाजी थाना सहित महवा, सिकंदरा मानपुर थाने का जाब्ता मौके पर मौजूद रहा। दरअसल 9 मई को महाराणा प्रताप जयंती को लेकर दूसरे समाज के एक व्यक्ति ने अभद्र टिप्पणी की थी। जिसे लेकर दो समाजों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया था। ऐसे में एक पक्ष की ओर से कुछ युवकों के ऊपर जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने ओर मारपीट का मामला मेहंदीपुर बालाजी थाने में दर्ज करा गया था। इसके बाद पुलिस ने एक युवक को एससी एसटी एक्ट मुकदमे में गिरफ्तार कर लिया था, ओर अन्य लोगों की तलाश पुलिस कर रही थी। इस दौरान बुधवार को भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार ने उदयपुरा गांव में पहुंचने के लिए सोशल मीडिया पर दावा किया था।

भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष के पहुंचते ही स्थिति तनावपूर्ण

ऐसे में आज उदयपुरा गांव में भीम आर्मी प्रदेश अध्यक्ष के पहुंचते ही स्थिति तनावपूर्ण हो गई और दोनों पक्षों की ओर से पथराव कर दिया गया। इसकी सूचना मिलते ही मेहंदीपुर बालाजी थाना पुलिस ने पथराव करने वाले लोगों को खदेड़ कर स्थिति को नियंत्रण में किया वहीं मौके पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया। साथ ही दौसा एडिशनल एसपी लालचंद कयाल ने मौके पर पहुंच दोनों समाज के लोगों से शांति व्यवस्था कायम रखने की अपील की। उन्होंने दोनों समाज के लोगों से सख्त लहजे में कहते हुए कहा कि जिन लोगों ने पथराव किया है, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस ने पथराव करने वाले युवाओं की पहचान कर उन्हें नामजद किया है।

ग्रामीणों ने लगाए स्थानीय पुलिस पर आरोप
 एडिशनल एसपी लालचंद कयाल ने बताया कि जो भी लोग इस विवाद को लेकर सोशल मीडिया पर अभद्र कमेंट कर रहे हैं उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिसे लेकर सोशल मीडिया पर कमेंट करने वाले लोगों की फोटो निकाल कर स्थानीय गांव वासियों ने एडिशनल एसपी को सौंपी है। वहीं इस मामले में स्थानीय थाना पुलिस की भारी लापरवाही सामने आई है। ऐसे में ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष के आने की स्थानीय थाना पुलिस को पहले से सूचना होने के बाद भी उन्होंने उसे गांव में आने से नहीं रोका।

Post Comment

Comment List

Latest News

वेस्टइंडीज दौरे पर रोहित शर्मा को आराम, शिखर धवन होंगे भारतीय टीम के कप्तान वेस्टइंडीज दौरे पर रोहित शर्मा को आराम, शिखर धवन होंगे भारतीय टीम के कप्तान
मुंबई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने बुधवार को वेस्ट इंडीज दौरे पर होने वाली एकदिवसीय श्रंखला के लिये टीम...
राजसमंद भाजपा जिला कार्यसमिति की बैठक में चाकूबाजी.....
खराब फॉर्म के चलते टेस्ट रैंकिंग में फिसले कोहली, 6 साल में पहली बार विराट टॉप-10 से बाहर
11वें विम्बलडन सेमीफाइनल में पहुंचे जोकोविच
सुपरहीरो शक्तिमान की यादें फिर होगी ताजा, रणवीर सिंह निभायेंगे किरदार!
चीन में फिर कोरोना का कहर, शीआन शहर में लगा एक सप्ताह का लॉकडाउन
अब वार्ड वार लगेंगे प्रशासन शहरों के संग अभियान शिविर