ओपिनियन - Page 8
ओपिनियन

पूर्ण बहुमत वाली सरकार यानी जनता की जीत : नरेंद्र चौधरी

पूर्ण बहुमत वाली सरकार यानी जनता की जीत : नरेंद्र चौधरी यदि पूर्ण बहुमत की सरकार आने के बाद भी जनप्रतिनिधि वादों को पूरा करने से मना करते हैं तो यह जनता की जिम्मेदारी है की वह उनसे वादे पूरे करवाए। यह प्रजातंत्र है।
Read More...
ओपिनियन

हर व्यक्ति को जल संरक्षण से है जोड़ा

हर व्यक्ति को जल संरक्षण से है जोड़ा भूजल ने कई दशकों से देश की खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह लाखों नलकूपों के माध्यम से ‘हरित क्रांति’ की सफलता सुनिश्चित करने में प्रमुख संचालक सिद्ध हुआ है।
Read More...
ओपिनियन

पगड़ी ही राजमुकुट, पटरियां ही मेरा सिंहासन: त्रिभुवन

पगड़ी ही राजमुकुट, पटरियां ही मेरा सिंहासन: त्रिभुवन पगड़ीधारी और लाठी वाला कद्दावर किसान सा दिखता आदमी और वह भी अंग्रेजी की किताब पढ़े और धोती भी खांटी अंदाज में बांधे तो सहसा आकर्षण का विषय
Read More...
ओपिनियन

सदन में हिंसा

सदन में हिंसा पश्चिम बंगाल विधानसभा सत्र के शुरू होने के पहले ही दिन बीरभूम हिंसा को लेकर जमकर मारपीट से व्यक्त होता है कि ममता सरकार बीरभूम जैसी दिल दहलाने वाले हादसे पर चर्चा करने के लिए तैयार नहीं थी।
Read More...
ओपिनियन

पर्याप्त भोजन के बावजूद भुखमरी के कगार पर?

पर्याप्त भोजन के बावजूद भुखमरी के कगार पर? स्थिति गंभीर है और देश व्यापक भूख से जूझ रहा है।
Read More...
ओपिनियन राजकाज

राज-काज में क्या है खास

राज-काज में क्या है खास बे में इन दिनों हाथ वाले भाई लोगों में फिर से सुगबुगाहट शुरू हो गई। इंदिरा गांधी भवन में बने पीसीसी के ठिकाने से चालू हुई यह सुगबुगाहट सिविल लाइंस होकर दिल्ली तक पहुंच गई।
Read More...
ओपिनियन

युद्ध समाप्ति का माध्यम बने अहिंसा यात्रा

युद्ध समाप्ति का माध्यम बने अहिंसा यात्रा बात केवल रूस-यूक्रेन युद्ध की ही नहीं है बल्कि देश के भीतर घटित हिंसा के ताण्डव की भी है। जबकि अहिंसा सबसे ताकतवर हथियार है, बशर्ते कि इसमें पूरी ईमानदारी बरती जाए।
Read More...
ओपिनियन

पर्यावरण चिंतन: कृषि प्रधान राज्यों में भूजल प्रदूषण की समस्या

पर्यावरण चिंतन: कृषि प्रधान राज्यों में भूजल प्रदूषण की समस्या भूमि की सतह से प्रदूषित सामग्री मिट्टी के माध्यम से आगे बढ़ सकती है और भूजल में घुल सकती है।
Read More...
ओपिनियन

सहकारी मॉडल ने विकास योजना की सफलता में दिया अहम योगदान

सहकारी मॉडल ने विकास योजना की सफलता में दिया अहम योगदान सहकारी समितियां स्वयं सहायता, जिम्मेदारी, लोकतंत्र, समानता, हिस्सेदारी और एकजुटता के मूल्यों पर आधारित होती है। अंतरराष्ट्रीय सहकारी गठबंधन (आईसीए) ने कहा कि अपने संस्थापकों की परंपरा में, सहकारी समितियों के सदस्य ईमानदारी, खुलेपन, सामाजिक जिम्मेदारी और दूसरों की देखभाल नैतिक मूल्यों में विश्वास करते हैं।
Read More...
ओपिनियन

कश्मीरी पंडितों का हो पुनर्वास

कश्मीरी पंडितों का हो पुनर्वास कश्मीरी पंड़ितों पर अत्याचार का यह सिलसिला 1990 से नहीं शुरू हुआ, इसका इतिहास बड़ा पुराना है। लगभग चार सौ साल पुराना, जब दिल्ली में औरंगजेब का शासन था, तब भी कश्मीरी पंड़ितों पर अत्याचार हो रहे थे।
Read More...
ओपिनियन

आखिर बढ़े ईंधन के दाम

आखिर बढ़े ईंधन के दाम पेट्रोल के दाम 88 पैसे और डीजल के दाम 83 पैसे प्रति लीटर तक बढ़ाए गए हैं, तो वहीं रसोई गैस सिलेंडर 50 रुपए और महंगा हो गया है।
Read More...
ओपिनियन

महंगाई की मार

महंगाई की मार हाल ही में आए महंगाई के सरकारी आंकड़े लोगों की चिंता बढ़ाने वाले हैं। थोक और खुदरा महंगाई अभी जिस उच्चत्तम स्तर पर है। भविष्य में महंगाई से कोई राहत मिलने वाली नहीं है।
Read More...

बिजनेस