इंडिया गेट - Page 3
इंडिया गेट

सतरंगी सियासत

सतरंगी सियासत देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के नेताओं की ओर से तीखी और बेसुरी बयानबाजी हो रही। सलमान खुर्शीद और राशिद अल्वी के बयानों के मायने क्या? मतलब यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी पारा चढ़ रहा। कोई कम नहीं।
Read More...
इंडिया गेट

सतरंगी सियासत

सतरंगी सियासत अब टूट का खतरा!: यही अंतर!: अब क्या होगा?: गले की हड्डी!: बैगानी शादी में...: संसद का शीत सत्र
Read More...
इंडिया गेट

सतरंगी सियासत

सतरंगी सियासत संसदीय बोर्ड बनाम 36 कौम : ट्वीट्स से ट्वीस्ट : दांव आधी आबादी पर! : दर्द कुछ और! : भारत खोल रहा पत्ते! : एक और ‘खेला’!
Read More...
इंडिया गेट

सतरंगी सियासत

सतरंगी सियासत सीडब्ल्यूसी का संदेश!
Read More...
इंडिया गेट

अभिव्यक्ति की आजादी की एक और बहस

अभिव्यक्ति की आजादी की एक और बहस तो अब मुल्क में अशोका विश्वविद्यालय के बरक्स अभिव्यक्ति की आजादी का सवाल जेरेबहस है। बहस के केन्द्र में जाने-माने राजनीतिक विश्लेषक प्रताप भानु मेहता और पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम का इस्तीफा है। हरियाणा के सोनीपत में स्थित यह विश्वविद्यालय इस हफ्ते तब विवादों में आया, जब बीते मंगलवार यानी 16 मार्च को जाने-माने राजनीतिक टिप्पणीकार प्रताप भानु मेहता ने अशोका यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पद से इस्तीफा दे दिया।
Read More...
इंडिया गेट

एक चोट भाजपा पर भारी

एक चोट भाजपा पर भारी लोकसभा चुनाव के बाद से ही बंगाल विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे भाजपा के रणनीतिकारों को अब इस बात का बखूबी एहसास हो चला होगा कि ममता बनर्जी से निपटना किस कदर मुश्किल है। मुल्क के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रिगेड मैदान की रैली में ममता बनर्जी के स्कूटी चलाने पर तंज कसते हुए कहा था कि दीदी की स्कूटी नंदीग्राम में गिरना तय है, हम इसमें क्या कर सकते हैं। संयोग देखिए कि संकेत के तौर पर कही गई ये बात अलग तरह से सच हो गई।
Read More...
इंडिया गेट

कांग्रेस में बगावत का सिलसिला

कांग्रेस में बगावत का सिलसिला कांग्रेस में अंदरुनी कलह का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। केरल विधानसभा चुनावों से पूर्व वरिष्ठ कांग्रेस नेता पीसी चाको ने कांग्रेस छोड़ने का ऐलान कर पार्टी को करारा झटका दिया है। पीसी चाको ने केरल कांग्रेस और आलाकमान पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका आरोप है कि चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवार तय करने में गुटबाजी हावी रही है।
Read More...
इंडिया गेट

ऐतिहासिक मकाम पर किसान आंदोलन

ऐतिहासिक मकाम पर किसान आंदोलन तो दिल्ली की सरहदों पर किसान आंदोलन के 100 दिन पूरे हो गए। नवंबर के अंतिम सप्ताह में जब यह आंदोलन शुरू हुआ तो तब शायद ही किसी को यह उम्मीद थी कि यह इतना लंबा चलेगा। लोकतांत्रिक आंदोलनों का इतिहास तो यही कहता है कि आंदोलन होते हैं, थोड़े दिनों में सत्ता या सरकार के साथ आंदोलनकारियों की बातचीत होती है, दोनों पक्ष एक मुद्दे पर सहमत होते हैं और आंदोलन खत्म हो जाता है।
Read More...

बिजनेस