चीन में उइगर मुसलमानों की प्रताड़ना का बांग्लादेश मुक्ति सैनानियों ने किया विरोध

अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय में सुनवाई कराने की मांग

चीन में उइगर मुसलमानों की प्रताड़ना का बांग्लादेश मुक्ति सैनानियों ने किया विरोध

प्रख्यात मूर्तिकार राशा ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की एक समिति को पता चला है कि चीन के शिनजियांग क्षेत्र में करीब 10 लाख उइगर मुसलमानों को शिविरों में रखा जा रहा है।

ढाका। बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम सेनानियों ने चीन की ओर से उइगर मुसलमानों पर अत्याचार के खिलाफ रविवार को ढाका में एक विरोध रैली और मानव श्रृंखला कार्यक्रम का आयोजन किया गया और इसकी सुनवाई अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय में कराने की मांग की।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बंगलादेश मुक्तियुद्ध मंच के अध्यक्ष ने चीन में उइगर मुसलमानों की स्थिति पर गहरी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि चीन के शिनजियांग प्रांत में रहने वाले 120 लाख से अधिक उइगर मानवाधिकारों के उल्लंघन जैसे कि जबरन जन्म नियंत्रण, धर्मांतरण और शिविरों में नजरबंदी का सामना कर रहे हैं।

इस अवसर पर संगठन के सलाहकार और वयोवृद्ध स्वतंत्रता सेनानी रूहुल अमीन मजूमदार ने कहा कि चीनी सरकार उइगर मुस्लिम अल्पसंख्यक की सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक स्वतंत्रता में लगातार हस्तक्षेप कर रही है। उन्होंने कहा कि चीन का दावा है कि वह अलगाववाद और धार्मिक उग्रवाद से निपटने के लिए नीतियां अपना रहा है, लेकिन वे यह नहीं बता सकते कि रमजान के महीने में दाढ़ी रखना या उपवास रखना कैसे धार्मिक अतिवाद है।

Read More अलजाइमर की दवा बनाने की दिशा में मिली एक महत्वपूर्ण कामयाबी

प्रख्यात मूर्तिकार राशा ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र की एक समिति को पता चला है कि चीन के शिनजियांग क्षेत्र में करीब 10 लाख उइगर मुसलमानों को शिविरों में रखा जा रहा है।

Post Comment

Comment List

Latest News