चैंपियन बनने के बाद निकहत ने याद किए मुश्किल दिन

बाधाओं ने मुझे मजबूत बनाया: निकहत जरीन

चैंपियन बनने के बाद निकहत ने याद किए मुश्किल दिन

निकहत ने इस्तांबुल में विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में गुरुवार को थाईलैंड की जितपोंग जुतामास को 5-0 से हराकर फ्लाईवेट (52 किग्रा) वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।

नई दिल्ली। विश्व चैम्पियन मुक्केबाज निकहत जरीन ने कहा कि अपने करियर में मुश्किल परिस्थितियों का सामना करने से वह मानसिक रूप से मजबूत बनी। निकहत ने इस्तांबुल में विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में गुरुवार को थाईलैंड की जितपोंग जुतामास को 5-0 से हराकर फ्लाईवेट (52 किग्रा) वर्ग में स्वर्ण पदक जीता।  जरीन ने कहा कि इन दो सालों में मैंने केवल अपने खेल पर ध्यान केंद्रित किया और मेरे खेल में जो भी कमियां थी उनमें सुधार करने की कोशिश की। मैंने अपने करियर में जिन बाधाओं का सामना किया, उन्होंने मुझे मजबूत बनाया। मैं इन सबके बाद मानसिक रूप से मजबूत बनी हूं। मेरा मानना है कि चाहे कुछ भी हो जाए मुझे लड़ना है और अपना सर्वश्रेष्ठ देना है।


जब मैरीकॉम ने पूछा, कौन निकहत
निकहत जरीन ने इस स्वर्णिम उपलब्धि से दो साल पहले तत्कालीन खेल मंत्री किरेन रिजिजू को पत्र लिखकर ओलंपिक क्वालीफायर के लिए निष्पक्ष ट्रायल करवाने का आग्रह किया था। इस कारण जरीन को सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया था, जबकि एमसी मैरीकॉम ने कड़े शब्दों में पूछा था कि कौन निकहत जरीन। जरीन इसके बाद ट्रायल में मैरीकॉम से हार गई जिससे वह टोक्यो ओलंपिक में जगह नहीं बना पाई।


चोट के कारण एक साल खेल से दूर रही
इससे पहले 2011 की जूनियर विश्व चैंपियन जरीन को कंधे की चोट से भी जूझना पड़ा, जिससे वह एक साल तक खेल से बाहर रही और 2018 में राष्ट्रमंडल खेलों, एशियाई खेल और विश्व चैंपियनशिप में भाग नहीं ले पाईं। जरीन ने कहा कि मैं 2017 में कंधे की चोट से परेशान रही जिसके लिए मुझे आपरेशन करवाना पड़ा और मैं एक साल तक प्रतियोगिताओं में हिस्सा नहीं ले पाई थी।

नजर अब राष्ट्रमंडल खेलों पर
जरीन अब राष्ट्रमंडल खेलों के ट्रायल की तैयारी करेंगी जिसके लिए उन्हें अपना वजन घटाकर 50 किग्रा करना होगा। उन्होंने कहाकि राष्ट्रमंडल खेलों में 50 किग्रा वर्ग होता है। मैं अब इसके लिए तैयारी करूंगी। तेलंगाना की निकहत ने पेरिस ओलंपिक के लिए तैयारी शुरू कर दी है लेकिन यह तय नहीं है कि वह किस भार वर्ग में खेलेंगी। उन्हें या तो 54 किग्रा या फिर 50 किग्रा में भाग लेना होगा।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News