कार्यान्वयन के लिए उशिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा इग्नू

प्रशिक्षित करने का दायित्व भारत सरकार द्वारा दिया गया

कार्यान्वयन के लिए उशिक्षकों को प्रशिक्षित करेगा इग्नू

इग्नू ने एक प्रोफेशनल डवलपमेंट प्रोग्राम महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय के शिक्षकों के लिए विकसित किया है, जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वन के संबंध में प्रशिक्षित करेगा।

जयपुर। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) के 15 लाख अध्यापकों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति के कार्यान्वयन के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस संबंध में उच्च शिक्षा से जुड़े हुए शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का दायित्व भारत सरकार द्वारा दिया गया है। इग्नू ने एक प्रोफेशनल डवलपमेंट प्रोग्राम महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय के शिक्षकों के लिए विकसित किया है, जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के क्रियान्वन के संबंध में प्रशिक्षित करेगा।

फ्री होगा कार्यक्रम
प्रशिक्षण कार्यक्रम नि:शुल्क है। इसके लिए नामांकन चल रहा है। यह यूजीसी -एचआरडीसी द्वारा शार्ट टर्म प्रोग्राम के समतुल्य होगा। प्रशिक्षण छह दिवसों का होगा, जिसके लिए अभ्यर्थी को 36 घंटे देने होंगे एवं इसे अधिकतम 9 दिनों में पूर्ण किया जा सकता है। सभी अध्यापकगण, अतिथि विद्वान एवं गेस्ट फैकल्टी को इस प्रशिक्षण में प्रवेश प्राप्त कर सकते है तथा इस प्रशिक्षण करने के लिए किसी प्रकार की अवकाश की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह पाठ्यक्रम स्वयम प्लेटफार्म के माध्यम से ऑनलाइन संचालित किया जाएगा।

एक विशेष पोर्टल बनाया

Read More राजस्थान विवि के प्रोफेसर विनोद कुमार शर्मा सिंडिकेट सदस्य नियुक्त

इग्नू क्षेत्रीय निदेशक डॉ. ममता भाटिया ने कहा कि इग्नू द्वारा इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में पंजीकरण करने के लिए एक विशेष पोर्टल बनाया है, जिसमें संस्था के प्राचार्य का संस्तुति पत्र अथवा संस्था का आई कार्ड को अपलोड करना अनिवार्य होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम उच्च शिक्षा से जुड़े शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के कार्यान्वन की बारीकियों से अवगत कराएगा तथा प्राप्त प्रमाण-पत्र जो कि यूजीसी-एचआडीसी के शार्ट टर्म प्रोग्राम के समतुल्य होने के कारण स्कोर बढ़ानें एवं कॅरिअर एडवान्समेंट में भी मदद करेगा।

 

Post Comment

Comment List

Latest News