शिवम् नाट्यालय का 29वां व 30वां अरंगेत्रम सम्पन्न

शिवम् नाट्यालय का 29वां व 30वां अरंगेत्रम सम्पन्न।सलोनी और सयांशी ने दी 3 घंटे भरतनाट्यम की प्रस्तुति।

शिवम् नाट्यालय का 29वां व 30वां अरंगेत्रम सम्पन्न

30वां अरंगेत्रम एस एन मेडिकल ऑडिटोरियम में संपन्न हुआ। जिसमें सलोनी और सयांशी ने अपनी गुरु से घुंगरू पूजा कर घुंघरू ग्रहण किए।अपनी प्रथम प्रस्तुति पुष्पांजली ताल आदितालम में की। उसके बाद अलारिपु राग नटाई में व जातिस्वरम राग हेमावती ने प्रस्तुत किया।

शिवम् नाट्यालय का 29वां व 30वां अरंगेत्रम सम्पन्न।सलोनी और सयांशी ने दी 3 घंटे  भरतनाट्यम की प्रस्तुति।

 

 शिवम् नाट्यालय का 29 वां व

Read More भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों को लेकर कांग्रेस के वॉर रूम में बैठक

30वां अरंगेत्रम एस एन मेडिकल ऑडिटोरियम में संपन्न हुआ। जिसमें सलोनी और सयांशी ने अपनी गुरु से घुंगरू पूजा कर घुंघरू ग्रहण किए।अपनी प्रथम प्रस्तुति पुष्पांजली ताल  आदितालम में की। उसके बाद अलारिपु राग नटाई में व जातिस्वरम राग हेमावती ने प्रस्तुत किया। शब्दम में द्रोपदी चीर हरण पर कृष्ण लीला का भावपूर्ण अभिनय पेश किया। चिदंबरम की कविता "नल्ला शगुनम" पर आधारित वर्णम राग मलिका में एवम् पराशक्ति जननी द्वारा पदम की बारीकियों को व दुर्गा के श्रृंगार रस,वियोग रस,वीर रस और रौद्र रस को आदितालम में दिखाकर सबको भावविभोर कर दिया। राग बहाग में तिल्लाना प्रस्तुत कर खूब तालियां बटौरी। अंत में मंगलम प्रस्तुत कर दोनों शिष्याओं ने अपने गुरु एवम् दर्शकों को धन्यवाद कर आशीर्वाद लिया।गुरु मंजूषा ने सलोनी और सयांशी को स्नातक की डिग्री प्रदान की। गुरु मंजूषा ने अरंगेत्रम के महत्व को समझाते हुए बताया कि उनकी संस्था विगत 20 वर्षो से जोधपुर में भरतनाट्यम के क्षेत्र में लगातार कार्य कर रही है, संस्था ने देश में अपनी एक पहचान बनाई है।आने वाले समय में जोधपुर, राजस्थान में भरतनाट्यम के लिए जाना जाएगा।किसी रेपोटेटेड संस्था से अरंगेत्रम करना मायने रखता है।ये डिग्री देश में ही नहीं विदेश में भी महत्वपूर्ण है। विदेश जाकर पढ़ाई करने में,वीजा मिलने में व टॉप यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने में बहुत सहायक होती है। बच्चियां अपने पैरों पर खड़ी होती है। मुख्य अतिथि के रूप में दिल्ली पब्लिक स्कूल के प्रिंसिपल बी. एस. यादव, राज्य उपभोग्ता आयोग राजस्थान के सदस्य श्री लियाकत अली, निर्देशक ACMERI एवम् पूर्व प्राचार्य डॉ एस एन मेडिकल कॉलेज डॉ अरविंद माथुर, प्रोफेसर एंड हेड डिपरमेंट ऑफ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग एमबीएम यूनिवर्सिटी जोधपुर डॉ अखिल रंजन गर्ग, डॉक्टर वंदना बत्रा, डॉक्टर संजीव बत्रा, भू वैज्ञानिक डॉक्टर मीता खिलनानी एवम् प्राचार्य केंद्रीय विद्यालय- 1एयर फोर्स जोधपुर श्री विवेक यादव उपस्थित थे। दोनों परिवारो ने सभी अतिथियों का स्वागत एवम् आभार प्रगट कर गुरु को सम्मान देते हुए धन्यवाद दिया। इस कार्यक्रम में मंच संचालन संस्थान की सीनियर छात्राएं अविशा गोयल , दिव्यांशी चौधरी द्वारा किया गया।

Post Comment

Comment List

Latest News