केंद्र सरकार का बड़ा फैसला: 1 मई से 18 साल से अधिक के सभी लोग लगवा सकेंगे कोरोना का टीका

केंद्र सरकार का बड़ा फैसला: 1 मई से 18 साल से अधिक के सभी लोग लगवा सकेंगे कोरोना का टीका

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते रिकॉर्ड तोड़ मामले के बीच मोदी सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाने का फैसला किया है। साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण के तहत वैक्सन निर्माता 50 फीसदी वैक्सीन की डोज केंद्र सरकार को देंगे और 50 फीसदी राज्य सरकारों या फिर खुले बाजार में बेचने को स्वतंत्र होंगे।

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते रिकॉर्ड तोड़ मामले के बीच मोदी सरकार ने 1 मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाने का फैसला किया है। साथ ही कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण के तहत वैक्सन निर्माता 50 फीसदी वैक्सीन की डोज केंद्र सरकार को देंगे और 50 फीसदी राज्य सरकारों या फिर खुले बाजार में बेचने को स्वतंत्र होंगे। यही नहीं राज्य सरकारें अपनी जरूरत के हिसाब से सीधे कंपनियों से वैक्सीन की खरीद कर सकती हैं। मोदी सरकार वैक्सीन निर्माताओं से मिलने वाली वैक्सीन की आपूर्ति राज्यों को करेगा। इसके लिए कोरोना के ऐक्टिव केसों को मानदंड मानकर आपूर्ति की जाएगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में देश के शीर्ष डॉक्टरों के साथ विचार मंथन के बाद यह फैसला लिया गया है।

मोदी ने कहा कि सरकार बीते एक साल से प्रयास कर रही है कि देश में ज्यादा से ज्यादा भारतीयों को कम से कम समय में वैक्सीन दी जा सके। इस मीटिंग में घरेलू कंपनियों को वैक्सीन के अधिक उत्पादन के लिए प्रेरित करने की बात कही गई है। इसके अलावा अन्य भारतीय और विदेशी वैक्सीन्स को भी मंजूरी देने की बात शामिल है। बैठक में फैसला लिया गया कि एक  मई से देश भर में कोरोना टीकाकरण का तीसरा राउंड शुरू हो रहा है, जिसमें युवाओं को भी कवर किया जाएगा। अब तक 45 साल से अधिक आयु के लोगों को ही टीका लगाया जा रहा था। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित दिल्ली, पंजाब और महाराष्ट्र जैसे राज्यों के मुख्यमंत्रियों की ओर से युवाओं को भी टीका लगाए जाने की मांग की थी। सरकार का कहना है कि विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण में टीकों की खरीद और टीका लगवाने की पात्रता में ढील दी जा रही है। कोरोना वैक्सीन पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स, हेल्थ वर्कर्स और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को लगाई गई थी। इसके बाद 45 साल की उम्र से अधिक के लोगों को टीका लगाया जा रहा है।  

बाजार में बिक्री के लिए टीके की कीमत पहले बतानी होगी
कंपनियों को तय कोटे के मुताबिक 50 फीसदी वैक्सीन राज्यों और खुले बाजार में 1 मई से पहले पहुंचानी होगी। कंपनियों को इसकी कीमत पहले ही तय करनी होगी। इसके बाद राज्य सरकार, निजी अस्पताल, औद्योगिक इकाइयां कंपनियों से सीधे वैक्सीन खरीद सकेंगी। वैक्सीन लगाने वाले प्राइवेट संस्थानों को भी इसका चार्ज पहले से बताना होगा।

अभी चल रहा फ्री कोरोना वैक्सीनेशन जारी रहेगा  
सरकार की तरफ से टीकाकरण अभियान पहले की तरह जारी रहेगा। इसके तहत प्राथमिकता वाले ग्रुप्स को फ्री में वैक्सीन लगाई जा रही है। इनमें हेल्थकेयर वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ज्यादा उम्र के लोग शामिल है।

वैक्सीनेशन के लिए तय प्रोटोकॉल का पालन करना होगा
सरकारी और प्राइवेट सेंटर पर होने वाला वैक्सीनेशन राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल रहेगा। वैक्सीनेशन के लिए तय प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। पहले की तरह कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होगा। सेंटर पर वैक्सीन के स्टॉक और कीमत की जानकारी भी रियल टाइम देनी होगी।

Post Comment

Comment List

Latest News

सुविधाएं बढ़े तो बैडमिंटन में कोटा होगा सिरमौर सुविधाएं बढ़े तो बैडमिंटन में कोटा होगा सिरमौर
बैडमिंटन खेल के विकास में कोटा के खिलाड़ी भी अपनी भागीदारी निभा रहे हैं। अब तक कई खिलाड़ी नेशनल व...
शहर में विसर्जन के लिए बने अलग कुंड तो स्वच्छ रहेंगे जलाशय
उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वैंकया नायडू विदाई के मौके पर हुए भावुक
सावधान: कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार दे रही चौथी लहर की दस्तक
बैडमिंटन में अब कोटा की बेटियां भी बढ़ा रही कदम
बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022: टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल ने पुरुष एकल में गोल्ड मैडल जीता
पाइप लाइन टूटने से पेयजल सप्लाई बंद