प्राचीन सिक्कों का हुआ निरीक्षण, दोनों ओर हैं अरबी भाषा के आलेख

कुल 51 ताम्बे के सिक्कों का निरीक्षण एवं फोटोग्राफ़ी हुई

प्राचीन सिक्कों का हुआ निरीक्षण, दोनों ओर हैं अरबी भाषा के आलेख

ये सिक्के तब जारी किए गए थे, जब बाज़ार में सोने और चांदी की अत्यधिक कमी हो गई थी।

जयपुर। पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने जमवारामगढ़ में मिले प्राचीन सिक्कों का निरीक्षण किया। इस दौरान विभाग के मुद्रा विशेषज्ञ प्रिंस कुमार उप्पल एवं उनकी टीम ने कार्यालय तहसीलदार, जमवारामगढ़ में भारतीय निखात निधि अधिनियम 1878 तथा राजस्थान निखात निधि नियम 1961 के तहत कुल 51 ताम्बे के सिक्कों का निरीक्षण एवं फोटोग्राफ़ी की। इस दौरान पाया कि सभी सिक्के मध्यक़ालीन सल्तनत काल के शासक मोहम्मद बिन तुग़लक़ (1325-1351) के हैं। इस सिक्कों का वजन 5-9ग्राम है। इन सिक्कों पर दोनो ओर अरबी भाषा के आलेख हैं।

सिक्कों को टका कहा जाता था। प्रिंस कुमार उप्पल ने बताया कि ये सिक्के तब जारी किए गए थे, जब बाज़ार में सोने और चांदी की अत्यधिक कमी हो गई थी। वास्तव में मो. बिन तुग़लक़ ने चीन की सांकेतिक मुद्रा को आधार बनाकर सोने और चांदी के सिक्कों के स्थान पर ताम्बे का टका चलाया था , लेकिन उसकी यह योजना विफल हो गई, क्योंकि शासक द्वारा टकसाल पर पर्याप्त नियंत्रण नहीं रखा जा सका। उप्पल ने बताया कि ये सभी सिक्के 14वीं शताब्दी के है और मो. बिन तुग़लक़ की जानकारी का स्त्रोत है। इसलिए इनका मुद्रा शास्त्र की दृष्टि से अत्यधिक महत्व है। ऐसे में इन सिक्कों को विभाग द्वारा नियमानुसार अवाप्त किया जाएगा।

 

Read More असर खबर का : हाइवे से बजरी के ढेर हटवाना किया शुरू

Post Comment

Comment List

Latest News

दिल्ली के गांधीनगर में लगी भीषण आग में 1 व्यक्ति मौत दिल्ली के गांधीनगर में लगी भीषण आग में 1 व्यक्ति मौत
मृतक की पहचान शहनवाज (19) के रूप में हुई है। राजधानी के गांधी नगर कपड़ा मार्केट में एक दुकान में...
सोनिया की मौजूदगी से भारत जोड़ो यात्रा को मिलेगी मजबूती : राहुल-प्रियंका
फकीर आदमी हूं, मेरे यहां धेला नहीं मिलेगा और चुनाव में अखिलेश-जयंत की मदद करूंगा: सत्यपाल मलिक
बॉन्ड नीति के विरोध में रेजिडेंट डॉक्टर्स का अस्पतालों में पूर्णतया कार्य बहिष्कार
पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में की फायरिंग, 23 बच्चों समेत 34 लोगों की मौत
भारत में निर्मित कफ सिरप पीने से गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत, डब्ल्यूएचओ ने दी चेतावनी
देश में कोरोना के 2,529 नए मामले आए सामने