शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक

निफ्टी 18 हजार अंक से नीचे बंद हुआ

शेयर बाजार की तेजी पर लगा ब्रेक

रूस पर आर्थिक प्रतिबंध से एशियाई बाजारों में आई तेजी के बावजूद स्थानीय स्तर पर एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, रिलायंस, एसबीआई और मारुति की दिग्गज कंपनियों में हुई बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार की तेजी पर ब्रेक लग गया और निफ्टी 18 हजार अंक से नीचे बंद हुआ।

मुंबई। रूस पर आर्थिक प्रतिबंध से एशियाई बाजारों में आई तेजी के बावजूद स्थानीय स्तर पर एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी, रिलायंस, एसबीआई और मारुति की दिग्गज कंपनियों में हुई बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार की तेजी पर ब्रेक लग गया और निफ्टी 18 हजार अंक से नीचे बंद हुआ। बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 435.24 अंक गिरकर 60 हजार अंक के पार 60176.50 अंक पर टिकने में सफल रहा, लेकिन नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 96 अंक टूटकर 18 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे 17957.40 अंक पर आ गया। हालांकि दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मझौली कंपनियों में लिवाली हुई, जिसने बाजार को और अधिक गिरने से बचाया। इस दौरान बीएसई का मिडकैप 1.28 प्रतिशत की तेजी लेकर 25,072.44 अंक और स्मॉलकैप 1.37 प्रतिशत की छलांग लगाकर 29,582.49 अंक पर रहा।

बीएसई में कुल 3507 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2345 हरे जबकि 1056 लाल निशान पर रहे वहीं 106 में कोई बदलाव नहीं हुआ। इसी तरह एनएसई में 25 कंपनियों में लिवाली जबकि 24 में बिकवाली हुई वहीं एक के भाव स्थिर रहे। इस दौरान वित्त 1.25, बैंकिंग 1.33, रियल्टी 0.16 और टेक समूह की 0.15 प्रतिशत की गिरावट को छोड़कर शेष 15 समूहों में तेजी रही। पावर समूह सबसे अधिक 3.38 प्रतिशत की बढ़त पर रहे। इनके अलावा यूटिलिटीज 3.34, एफएमसीजी 1.26, इंडस्ट्रियल्स 1.71, ऑटो 1.12 और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स समूह के शेयर 2.51 प्रतिशत चढ़ गए।









Post Comment

Comment List

Latest News