अशोक गहलोत ने ली अभाव अभियोग से जुड़ी अहम बैठक, लोगों की समस्याओं को लेकर दिया प्रेजेंटेशन 

लोगों की शिकायतों का त्वरित निराकरण हो

अशोक गहलोत ने ली अभाव अभियोग से जुड़ी अहम बैठक, लोगों की समस्याओं को लेकर दिया प्रेजेंटेशन 

बैठक में जन अभाव अभियोग अध्यक्ष पुखराज पाराशर सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबंधित अधिकारियों से कहा कि लोगों की ओर से मिली शिकायतों का त्वरित निराकरण हो। उनकी शिकायतें पेंडिंग नहीं रहनी चाहिए। गहलोत ने सीएमओ पहुंचकर जन अभाव अभियोग से जुड़ी अहम बैठक ली। बैठक में जन अभाव अभियोग अध्यक्ष पुखराज पाराशर सहित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। जोधपुर जाने से पहले ली इस बैठक में मुख्यमंत्री ने अभाव अभियोग से जुड़े अहम बिंदुओं पर गहन चिंतन और मंथन किया। बैठक में मुख्यमंत्री के सामने जन अभाव अभियोग में लोगों की समस्याओं और शिकायतों को लेकर के एक प्रेजेंटेशन दिया गया। प्रेजेंटेशन में विभागवार मुख्यमंत्री ने सभी तरह की समस्याओं और उनके निस्तारण की प्रक्रिया और निस्तारण की समयबद्ध गति को लेकर अधिकारियों से सवाल किए। मुख्यमंत्री ने संपर्क पोर्टल, हेल्पलाइन 181, जनसुनवाई तथा अन्य माध्यमों से प्राप्त प्रकरणों के निराकरण की गहन समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अधिकारी पूरी संवेदनशीलता और मजबूत इच्छाशक्ति के साथ समस्याओं के निराकरण कार्य को करें। बैठक में बताया कि हेल्पलाइन 181 पर 1 जनवरी, 2019 से अब तक लगभग 73 लाख प्रकरण पंजीकृत किए गए हैं, जिनमें से लगभग 71.60 लाख (98 प्रतिशत) से अधिक प्रकरणों को निस्तारित किया जा चुका है। 

प्रभावी एवं त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए
गहलोत ने अपराधों एवं कानून-व्यवस्था से संबंधित शिकायतों के प्रभावी एवं त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए ताकि फरियादी को समयबद्ध रूप से न्याय मिलना सुनिश्चित हो सके। बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जन अभाव अभियोग के अध्यक्ष पुखराज पाराशर को भी प्रदेश में जनता की समस्याओं को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने के लिए कहा। इसके साथ ही अलग-अलग विभागों के अधिकारियों को भी निर्देशित किया कि आमजन की समस्याओं को लेकर किसी तरह की कोताही ना की जाए।

Post Comment

Comment List

Latest News