6 कंपनियों से कॉन्ट्रेक्ट में खरीदी जाएगी बिजली, जल्द टलेगा संकट

अगले 6 महीने नहीं होगी कमी

6 कंपनियों से कॉन्ट्रेक्ट में खरीदी जाएगी बिजली, जल्द टलेगा संकट

राजस्थान ऊर्जा विकास निगम ने 6 कंपनियों के 1785 मेगावाट क्षमता के सोलर प्लांट्स से बिजली खरीद के लिए करार किया है। इन कंपनियों से 2.17 और 2.18 रुपए प्रति यूनिट की दर से सस्ती बिजली अगले 20 साल तक खरीदी जाएगी।

जयपुर। कोयले की किल्लत के बीच दीपावली को देखते हुए ऊर्जा विभाग ने 6 कंपनियों से लांग टर्म कॉन्ट्रेक्ट कर बिजली संकट से राहत देने की तैयारी की है। राजस्थान ऊर्जा विकास निगम ने 6 कंपनियों के 1785 मेगावाट क्षमता के सोलर प्लांट्स से बिजली खरीद के लिए करार किया है। इन कंपनियों से 2.17 और 2.18 रुपए प्रति यूनिट की दर से सस्ती बिजली अगले 20 साल तक खरीदी जाएगी। इसके अलावा 7 पैसे प्रति यूनिट सेबी को ट्रेडिंग चार्ज अलग से दिया जाएगा। निगम से मिली जानकारी के अनुसार टैरिफ रेट तय करने के लिए सोल एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया की गाइडलाइंस के हवाले से विद्युत विनियामक आयोग में याचिका लगा दी है। 6 बिजली कंपनियों से ऊर्जा विकास निगम को करीब 540 मेगावाट बिजली हर घंटे मिल पाएगी। उस हिसाब से 24 घंटे में औसतन 1.30 करोड़ यूनिट बिजली खरीदी जाएगी। करार अनुसार रोजाना करीब 2.80 करोड़ रुपए, महीने भर में 85 करोड़ और सालभर में 10.20 अरब रुपए की बिजली खरीद होगी। सेबी ट्रेडिंग चार्ज के 9.10 लाख रुपए अलग से देने होंगे।

अगले 6 महीने नहीं होगी कमी
कोयला किल्लत को देखते हुए सर्दी और रबी सीजन फसल में बिजली डिमांड के बढ़ते हुए संकट की आशंका बनी हुई थी। अब इन करार के बाद अगले छह महीने तक बिजली की कमी नहीं रहेगी। ऊर्जा विकास निगम सस्ती सोलर बिजली खरीदेगा, लेकिन उपभोक्ताओं को वर्तमान तय दरों पर ही बिजली मिलेगी। सस्ती सोलर बिजली मिलने के बाद तीनों डिस्कॉम में दीवाली मेंटनेंस के नाम पर चार घंटे तक कटौती पर भी अंकुश लगेगा। घरेलू, कॉमर्शियल और इंडस्ट्रियल उपभोक्ताओं को उपलब्धता के बाद बिजली सरप्लस भी रह सकती है। 

पीक आवर्स में बढ़ेगी डिमांड
निगम रिपोर्ट अनुसार दीपावली, रबी फसल सीजन और सर्दियों को देखते हुए पीक आवर्स में डिमांड 17,800 मेगावाट तक और उपलब्धता 12,900 मेगावाट तक हो सकती है। ताजा हालातों में सर्दियों का सीजन तो निकल जाएगा, लेकिन सोलर एनर्जी से इसके बाद भी कोई परेशानी नहीं आएगी। वहीं छत्तीसगढ़ कोयला खदानों से सप्लाई बंद रहने के चलते ओडिशा से वैकल्पिक व्यवस्था में कोयला लिया जा रहा है। गुजरात से भी बिजली खरीदी जा रही है। 

Read More रानी जल्द दे सकती है बच्चे को जन्म, इसलिए फैमिली से किया अलग

Post Comment

Comment List

Latest News

रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन
संस्था के वाइस चेयरमैन डॉ. अंशु सुराना ने बताया कि कॉलेज में समय समय पर कैरियर गाइडेंस के कार्यक्रम आयोजित...
पायलट और मैं पार्टी एसेट, हमारे और नेता भी एसेट: गहलोत
आईएफएफआई जूरी प्रमुख की टिप्पणी कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचारों की भयावहता का अपमान - रोड्रिग्स
30 लाख कीमत का 287 किलो गांजा बरामद, 6 अभियुक्त गिरफ्तार
राहुल, सोनिया की जुबान बोल रहे हैं खडग़े : भाजपा
बेकाबू मेटाडोर कार में घुसी, दो की मौत, तीन घायल
हिमालय से कोटा पहुंचे ब्लैक काइट शिकारी पक्षी