शहरी की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं ने दिखाया मतदान में अधिक उत्साह

जिले में पिछले चुनाव की तुलना में 1.5 फीसदी बढ़ा महिलाओं का मतदान

शहरी की अपेक्षा ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं ने दिखाया मतदान में अधिक उत्साह

जिले की जहां सभी सीटों पर शनिवार को हुए मतदान में महिलाओं मतदान प्रतिशत में बढ़ोतरी दर्ज हुई तो शहरी इलाके के कोटा उत्तर विधानसभा क्षेत्र में कमी देखने को मिली।

कोटा। कोटा जिले में शनिवार को हुए रिकोर्ड तोड़ मतदान में वर्ष 2018 में जिले की 6 विधानसभा सीटों का कुल वोट प्रतिशत 75.43 था जो 2023 में बढ़कर 76.23 पर पहुंच गया। वहीं जिले की आधी आबादी ने भी अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हुए जमकर मतदान किया। जिले में हुए मतदान में महिलाओं के वोट प्रतिशत में पिछले चुनाव के मुकाबले 0.80 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गर्ई। वर्ष 2018 में महिला मतदान प्रतिशत जहां 73.20 था वर्ष 2023 में बढ़कर 74.67 हो गया। इसके अलावा जिले की कोटा उत्तर को छोड़कर सभी सीटों पर महिलाओं के मतदान प्रतिशत में बढ़त देखने को मिली। ग्रामीण इलाके में आने वाले विधानसभा क्षेत्रों की महिलाओं ने शहरी महिलाओं की अपेक्षा मतदान में ज्यादा उत्साह से भाग लिया। ग्रामीण इलाके में आने वाले पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में हुए मतदान में इस बार सबसे ज्यादा 5 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

पीपल्दा में दिखाई महिलाओं ने ताकत
जिले के ग्रामीण इलाके में आने वाले पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र की महिलाओं में विधानसभा चुनाव में जमकर अपने मत का प्रयोग किया और मतदान प्रतिशत को 70.86 से बढ़ाकर 75.32 फीसदी पर पहुंचा दिया। पीपल्दा विधानसभा क्षेत्र में 2018 विधानसभा चुनाव में जहां 94794 महिलाओं मतदाताओं में से 67179 महिलाओं ने वोट डाला वहीं 2023 में 100862 महिला मतदाताओं में से 75975 महिलाओं ने मतदान में अपनी भागीदारी निभाई। वहीं 2018 में विधानसभा क्षेत्र में कुल 94794 महिला मतदाताओं में से 67179 महिलाओं ने अपने मत का प्रयोग किया। जिले की 6 विधानसभा सीटों में से पीपल्दा में ही सबसे ज्यादा 5 फीसदी मतदान की बढ़ोतरी दर्ज की। 

सांगोद में रही 1 फीसदी बढ़त
सांगोद विधानसभा क्षेत्र में भी महिलाओं ने मतदान में खासा उत्साह दिखाया पिछले विधानसभा चुनाव में सांगोद विधानसभा क्षेत्र की महिलाओं ने मतदान में बढ़चढ़कर भाग लिया था। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में इस क्षेत्र का महिला मतदान प्रतिशत 75.38 था जो इस बार के विधानसभा चुनाव में करीब 1 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ में 76.64 फीसदी दर्ज किया गया। वहीं वर्ष 2018 में क्षेत्र की 95536 महिला मतदाताओं में से 72014 महिलाओं ने अपने मत का प्रयोग किया और 2023 विधानसभा चुनाव में 100862 महिला मतदाताओं में से 75975 महिलाओं ने मतदान किया। 

कोटा उत्तर में दिखी उत्साह की कमी
जिले की जहां सभी सीटों पर शनिवार को हुए मतदान में महिलाओं मतदान प्रतिशत में बढ़ोतरी दर्ज हुई तो शहरी इलाके के कोटा उत्तर विधानसभा क्षेत्र में कमी देखने को मिली। क्षेत्र में पिछले चुनाव की तुलना में महिला मतदान में 0.10 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई। वर्ष 2018 में महिला मतदान प्रतिशत जो 72.68 प्रतिशत था वो इस बार 72.59 फीसदी पर अटक गया। वर्ष 2018 में क्षेत्र की 115811 महिला वोटर्स में से 84169 महिलाओं ने मतदान किया तो 2023 में 125439 मतदाजाओं में से 91057 ही मतदान केंद्र तक पहुंची। ओकडों को देखते हुए कोटा के शहरी इलाके में महिला मतदाताओं में मतदान को लेकर उत्साह में कमी दिखी।

Read More बीएनआई बिज एक्सपो आरआईसी में होगा शुरू 

कोटा दक्षिण की महिलाओं ने किया जमकर मतदान
कोटा शहर में ही आने वाली कोटा दक्षिण विधानसभा क्षेत्र की महिला मतदाताओं ने भी इस बार जमकर मतदान किया। वर्ष 2018 में क्षेत्र का महिला मतदान प्रतिशत 70 था जो इस बार 2.45 फीसदी बढ़ोतरी के साथ 72.45 दर्ज हुआ। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में क्षेत्र की 114477 महिला मतदाताओं में से 80113 महिलाओं में वोटा डाला जबकि इस बार के चुनाव में 125439 महिला मतदाताओं में से 910557 महिलाओं अपने मताधिकार का प्रयोग किया। क्षेत्र से चुनाव लड़ रही महिला प्रत्याशी, महिला मतदान प्रतिशत के बढ़ने का कारण भी हो सकती हैं। वहीं कोटा दक्षिण में पिछली बार हार जीत का अंतर करीब 7000 वोटों का रहा था और महिलाओं का बढ़ा हुआ मतदान प्रतिशत इसमें निर्णायक भुमिका निभा सकता है।

Read More अपेक्स यूनिवर्सिटी में एचआर कॉन्क्लेव सम्पन्न

लाडपुरा की महिलाओं ने भी दिखाया उत्साह
जिले की सबसे ज्यादा मतदाताओं वाले विधानसभा क्षेत्र लाडपुरा में भी महिला मतदान प्रतिशत में करीब 1 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। क्षेत्र में वर्ष 2018 के चुनाव में महिलाओं का वाट प्रतिशत 74 फीसदी था वो 2023 में बढ़कर 74.96 फीसदी दर्ज हुआ। पिछले विधानसभा चुनावों में क्षेत्र में करीब 125946 महिला मतदाता थी जिनमें से 93198 ने मतदान किया वहीं इस चुनाव में 140597 महिला मतदताओं में से 105322 महिला मतदाताओं ने वाट डाला। क्षेत्र में ग्रामीण के साथ साथ कुछ शहरी इलाके भी आते हैं चुनाव आयोग की तरफ से संपूर्ण आंकड़े जारी होने के बाद स्थिति साफ होगी कि किस इलाके में महिलाओं ने ज्यादा मतदान किया।

Read More कांग्रेस की पहली सूची 10 को हो सकती है जारी

रामगंजमंडी में पारंपरिक मतदान
रामगंजमंडी विधानसभा क्षेत्र की महिला मतदाताओं ने हर बार की तरह इस बार भी पारंपरिक मतदान किया। क्षेत्र के महिला मतदान प्रतिशत में 0.20 की मामूली बढ़त दर्ज हुई। वर्ष 2018 में क्षेत्र का महिला मतदान प्रतिशत 76.36 था जाम 2023 में 76.58 दर्ज किया गया। वर्ष 2018 में क्षेत्र में कुल 107314 महिला मतदाता थी जिनमें से 81949 महिलाओं ने ही मतदान किया वही 2023 में 118916 महिला मतदाताओं में से 91071 महिलाओं ने आने मताधिकार का प्रयोग किया। रामगंजमंडी क्षेत्र में महिला मतदातओं में इन चुनावों में कम उत्साह देखने को मिला।

Post Comment

Comment List

Latest News

किसानों पर बढ़ा अत्याचार, पंचायत स्तर पर चलाएंगे किसान जागृत सम्मेलन: चांदना किसानों पर बढ़ा अत्याचार, पंचायत स्तर पर चलाएंगे किसान जागृत सम्मेलन: चांदना
किसानों एमएसपी मुद्दे पर कांग्रेस ने एक बार फिर समर्थन देते हुए मोदी सरकार और भजनलाल सरकार पर हमला बोला...
कांग्रेस की पहली सूची 10 को हो सकती है जारी
Ranji Trophy : मुंबई 48वीं बार फाइनल में, सेमीफाइनल में तमिलनाडु को पारी और 70 रन से हराया
जम्मू के कुख्यात अपराधी की पंजाब में हत्या
अमेरिका में बर्फीले तूफान का कहर, सड़कें बंद
लोकसभा चुनाव : भाजपा की सात मार्च को आ सकती है दूसरी सूची
भारत-पाक टी 20 विश्व कप मैच के टिकटों के दाम आसमान पर, 1.86 करोड़ रु. तक पहुंची कीमत!