सरकार के नियम के विरूद्ध देर रात दुगनी हो जाती है शराब की कीमत

अवैध रूप से ठेकेदारों द्वारा गांव-गांव में परोसी जा रही है शराब

सरकार के नियम के विरूद्ध देर रात दुगनी हो जाती है शराब की कीमत

यहां शराब ठेकेदारों द्वारा मनमर्जी करते हुए नियम के विरूद्ध देर रात तक महंगे दामों में खुलेआम शराब बेचकर सरकार के नियम-कानूनों की सरेआम ध िजयां उड़ाई जा रही है।

मण्डावर। यहां शराब ठेकेदारों द्वारा मनमर्जी करते हुए नियम के विरूद्ध देर रात तक महंगे दामों में खुलेआम शराब बेचकर सरकार के नियम-कानूनों की सरेआम ध िजयां उड़ाई जा रही है। ग्रामीणों द्वारा बार-बार शिकायतें करने के बावजूद उनके खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नही हो पा रही है। जिससे ठेकेदारों के हौंसले बुलंद हो रहे है और उनके हौंसले भी बुलंद होना वाजिब है,क्योंकि आबकारी अधिकारी और स्थानीय पुलिस द्वारा शराब ठेकेदारों को सरकार के नियम-कानूनों को रौंदने का लाईसेंस जो दे रखा है। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री द्वारा अपराधिक मामलों को कम करने के लिहाज से खासकर महिलाओं पर शराब के कारण बढ़ते अत्याचारों को रोकने के लिए शराब नीति में परिवर्तन करते हुए सुबह दस बजे से पहले एवं रात्रि आठ बजे बाद शराब बेचते पाएं जाने पर सम्बन्धित शराब की दुकान का लाईसेंस तुरंत प्रभाव से निरस्त कर कार्रवाई किए जाने के आबकारी विभाग को सख्त निर्देश दिए गए है। लेकिन दौसा जिले के मण्डावर उपखण्ड क्षेत्र में आबकारी विभाग के अधिकारी गहलोत सरकार के निर्देशों की कीतनी सख्ती से पालना करवा रहे है इसका अंदाजा उपखण्ड  क्षेत्र के देशी/अंग्रेजी शराब ठेको पर देर रात्रि आराम से मिलने वाली शराब को देखकर लगाया जा सकता है।

राज्य सरकार द्वारा हथकड़ी शराब को बंद करवाने,गांवों में अवैध रूप से शराब बेचने वालों पर कार्रवाई किए जाने,शराब ठेकेदारों द्वारा मनमर्जी से शराब नही बेचे जाने एवं नियम कानून से ठेकों पर शराब बिकवाने सहित अवैध शराब के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए महुवा में आबकारी थाना खोल रखा है। जिसमें आबकारी पुलिस भी बैठती है। लेकिन महुवा आबकारी पुलिस द्वारा पिछले दो वर्षों में अवैध शराब कारोबार की रोकथाम,ठेकेदारों द्वारा मनमर्जी से बेची जा रही  शराब पर कार्रवाई करने के नाम पर शून्य रही है। एक अप्रैल से शुरू हुए पाखर चौड़ाकी, मण्डावर, गढ़हिम्मतसिंह, सायपुर-पाखर एवं हिंगोटा शराब ठेकेदार द्वारा मोटी कमाई करने के लिए महुवा आबकारी अधिकारी एवं मण्डावर पुलिस का आशीर्वाद लेकर गांवों में शराब की अवैध दुकानें खुलवाकर खुलेआम शराब बेची जा रही है। मण्डावर,सायपुर-पाखर,रसीदपुर पुलिस चौकी के पास स्थित पाखर चौड़ाकी शराब की दुकान का ना कोई खुलने का समय है और नाही बंद होने का समय है जब चाहे तब शराबी महंगे दामों में शराब खरीदकर पी सकते है। रविवार को इन दुकान पर रात्रि पौने नौ बजे तक महंगे दामों में शराब बेची जा रही थी। जिसको लेकर आबकारी अधिकारी एवं मण्डावर पुलिस को मौके से ही ग्राहकों द्वारा अवगत करवाया जा रहा है। लेकिन इसके बावजूद भी आबकारी अधिकारी द्वारा शराब ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नही की जा रही है। वहीं गढ़हिम्मतसिंह की देशी/अंग्रेजी शराब की दुकान 24 घण्टे संचालित रहती है तब चाहे आप शराब खरीद सकते है। वहीं हिंगोटा में शराब की दुकान की कभी शटर ही बंद नही होती है,जहां मनचाहे तक शराबी शराब लेकर ठेके पर ही बैठकर पी सकते है। पाखर चौड़ाकी,गढ़हिम्मतसिंह एवं हिंगोटा शराब ठेकेदारों द्वारा प्रत्येक बीयर की बोतल को दिन में 180 एवं रात्रि में 200 से 220 रूपए तक बेची जा रही है। इन दुकानों पर रात्रि के समय प्रत्येक शराब की बोतल की दुगनी कीमत वसूली जा रही है। ऐसा नही है की ठेकेदारों द्वारा गांवों में अवैध रूप एवं देर रात्रि तक महंगे दामों में बेची जा रही शराब की जानकारी आबकारी अधिकारी को नही हो।


Post Comment

Comment List

Latest News

उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वैंकया नायडू विदाई के मौके पर हुए भावुक उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम. वैंकया नायडू विदाई के मौके पर हुए भावुक
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वैंकया नायडू के संघर्षशील व्यक्तित्व और रचनात्मक एवं सकारात्मक कृतित्व की भूरी-भूरी प्रशंसा की
सावधान: कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार दे रही चौथी लहर की दस्तक
बैडमिंटन में अब कोटा की बेटियां भी बढ़ा रही कदम
बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022: टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंता शरत कमल ने पुरुष एकल में गोल्ड मैडल जीता
पाइप लाइन टूटने से पेयजल सप्लाई बंद
हर जगह लावारिस मवेशियों का जमावड़ा, यातायात हो रहा प्रभावित
रपट की ऊंचाई कम होने से जान जोखिम में डाल निकलने को मजबूर ग्रामीण