10 लाख को नौकरी

रोजगारों को नौकरियां देने की घोषणा की

10 लाख को नौकरी

कोरोना महामारी और उससे उपजी परिस्थितियों के कारण रोजगार को लेकर जो निराशा छाई हुई थी, उसके मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 लाख बेरोजगारों को नौकरियां देने की घोषणा की है।

कोरोना महामारी और उससे उपजी परिस्थितियों के कारण रोजगार को लेकर जो निराशा छाई हुई थी, उसके मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 लाख बेरोजगारों को नौकरियां देने की घोषणा की है। महामारी और वैश्विक चुनौतियों के बीच भारत तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था जरूर बन गया है, लेकिन बेरोजगारी का मुद्दा सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। ऐसे में प्रधानमंत्री ने केन्द्र के अधीन विभिन्न मंत्रालयों और विभागों में मानव संसाधनों की समीक्षा के बाद मिशन मोड में दस लाख भर्तियां करने का निर्देश दिया है। यानी दिसंबर 2023 तक दस लाख पदों पर भर्तियां होंगी। बेरोजगारी लोगों के बीच सरकार के फैसले की काफी वाहवाही हो रही, जो स्वाभाविक है, क्योंकि रिक्त पदों को भरने में वैसे भी काफी विलंब हो गया है, जो भी हो, कम से कम अब तो यह सुनिश्चित किया ही जाना चाहिए कि तय अवधि में दस लाख बेरोजगारों की रिक्त पदों पर भर्तियां हो जाएं। भर्ती अभियान को गति देने के साथ ही इस पर भी ध्यान देना होगा कि भर्ती प्रक्रिया किसी गड़बड़ी का शिकार न बनने पाएं। ऐसा इसलिए कि पिछले हाल के समय में कई भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हुए हैं।

इससे जहां नौकरी पाने वालों की उम्मीदें न केवल निराशा में बदल जाती हैं, बल्कि उनके समय व धन की भी बर्बादी होती है और साथ ही सरकार की छवि भी खराब होती है। केन्द्र सरकार ने रिक्त पदों पर तय अवधि में भर्ती की घोषणा की है, वैसे कदम राज्यों को भी उठाने चाहिए। कई राज्यों में बड़ी संख्या में पुलिस, शिक्षकों व चिकित्सकों आदि के पद लंबे अर्से से रिक्त पड़े हुए हैं। रिक्त पदों पर भर्ती नहीं होने से शासन-प्रशासन की कार्यकुशलता प्रभावित होती है। बेरोजगारों को रोजगार देना और दिलाना सरकारों की प्राथमिकता होनी चाहिए। पदों की रिक्तता की वजह से आम लोगों की परेशानियां भी बढ़ती हैं। बेरोजगारों को यह नहीं भूलना चाहिए कि सरकारी नौकरियों की एक सीमा होती है। बेरोजगारों को निजी क्षेत्र में भी नौकरी पाने और स्वरोजगार की तरफ भी ध्यान देना चाहिए। यह आसान काम नहीं है, लेकिन सरकारें भी ऐसे लोगों की राह आसान कर सकती है। बस जरूरत दृढ़ इच्छा शक्ति की है।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News