इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ जीता देश के लिए मेडल

सर्वश्रेष्ठ कूद के साथ रजत पदक प्राप्त किया

इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ जीता देश के लिए मेडल

इसी के साथ श्रीशंकर राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में लंबी कूद में भारत के लिए रजत पदक जीतने वाले पहले पुरुष एथलीट बन गए हैं।

बर्मिंघम। भारत के लॉन्ग जंपर मुरली श्रीशंकर ने भारत को ट्रैक एंड फील्ड में दूसरा मेडल दिलाया है। श्रीशंकर ने पुरुषों की लम्बी कूद के फाइनल में 8.08 मीटर की सर्वश्रेष्ठ कूद के साथ रजत पदक प्राप्त किया। इसी के साथ श्रीशंकर राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में लंबी कूद में भारत के लिए रजत पदक जीतने वाले पहले पुरुष एथलीट बन गए हैं। इससे पहले महिलाओं में पूर्व एथलीट अंजू और प्रयूषा मलाइखल पदक जीत चुकी है।

अंजू ने राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य और प्रयूषा ने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था। मुरली 44 साल बाद पदक जीतने वाले पुरुष एथलीट भी बने। पुरुषों में सुरेश ने 1978 राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीता था। श्रीशंकर खेल के साथ पढ़ाई में भी अच्छे रहे हैं। श्रीशंकर ने एमबीबीएस का एंट्रेंस एग्जाम पास भी कर लिया, लेकिन एडमिशन नहीं लिया। उन्होंने इंजीनियरिंग का एंट्रेंस भी क्लियर किया और इस बार एडमिशन भी ले लिया, लेकिन खेल पर फोकस नहीं कर पाने के कारण इंजिनियरिंग की पढ़ाई भी छोड़ दी।

Post Comment

Comment List

Latest News