नगर परिषद की अनदेखी : 12 घंटे बाद उठाई मृत गाय 

पुराने शहर में गायों की मौतों के विभत्स दृश्य

नगर परिषद की अनदेखी : 12 घंटे बाद उठाई मृत गाय 

गायों की मौतों का विभत्स दृश्य पुराने शहर में देखने को मिला। यहां नगर परिषद की संवेदनहीनता के चलते मृत गाय को आवारा कुत्ते नोचते हुए दिखाई दिए।

सवाई माधोपुर। लंपी वायरस के चलते हजारों गायों की मौत हो रही है। इन गायों की मौतों का विभत्स दृश्य पुराने शहर में देखने को मिला। यहां नगर परिषद की संवेदनहीनता के चलते मृत गाय को आवारा कुत्ते नोचते हुए दिखाई दिए। दोपहर को पुराने शहर के राजबाग इलाके में लंपी वायरस के चलते 1 गाय की मौत हो गई थी। जिसकी सूचना लोगों ने नगर परिषद को दी। सूचना मिलने पर गाय को ले जाने के लिए नगर परिषद का वाहन करीब 5 बजे यहां पहुंचाए, लेकिन खस्ताहात वाहन रास्ते में ही खराब हो गया। जिसके चलते यह गाय पूरी रात यहां वाहन में पड़ी रही। इस दौरान करीब 12 घंटे तक कॉलोनीवासी मृत गाय की बदबू से परेशान होते रहे। लंबे समय तक गाय के वाहन में पड़े रहने से आवारा कुत्ते मृत गाय को नोचते हुए दिखाई दिए। 

लंपी वायरस के फैलने का खतरा
नगर परिषद की ओर से लंपी वायरस से मृत गायों को लेकर संवेदनहीनता दिखाई जा रही है। शहर में कही मृत आवारा गायों को खुले में ही छोड़ा जा रहा है तो कहीं आवारा कुत्ते गायों को नाचते हुए दिखाई दे रहै। जबकि नगर परिषद कुंभकर्णी नीद सोई हुई है। मामले को लेकर सफाई निरीक्षक शिवराम मीणा का कहना है कि बुधवार को दशहरा होने की वजह से सभी वाहन बिजी थे। अचानक वाहन खराब होने से परेशानी का सामना करना पड़ा था। सुबह नगर परिषद की जेसीबी और ट्रैक्टर भिजवाकर गाय को उठवा लिया गया है। जबकि कुछ लोगों का कहना है, कि अक्सर नगर परिषद कर्मचारी मृत जानवरों को उठाने के लिए अवैध रुपए मांगते है। जिसके चलते गाय को नहीं उठाया गया।

 

Read More अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल की बैठक में किए कई अहम निर्णय 

Post Comment

Comment List

Latest News