80 प्रतिशत विधायकों का साथ नहीं मिला तो हम छोड़ देंगे दावेदारी : गुढ़ा

आलाकमान बुलाए सीएलपी बैठक

80 प्रतिशत विधायकों का साथ नहीं मिला तो हम छोड़ देंगे दावेदारी : गुढ़ा

पायलट के साथ दस विधायक नहीं होने के दावे का भी खंडन करते हुए गुढ़ा ने कहा कि सीएम अगर इतने आश्वस्त हैं तो फिर काउंटिंग क्यों नहीं करा लेते। कांग्रेस में विधायक आलाकमान के आशीर्वाद से बने हैं और उसी से मंत्री, मुख्यमंत्री बने हैं। यदि कांग्रेस छोड़ते हैं तो गांव के सरपंच तक नहीं बन सकते। 

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सचिन पायलट पर दिए बयान के बाद पायलट समर्थक मंत्री राजेन्द्र गुढ़ा ने कहा है कि आलाकमान विधायक दल की बैठक बुलाए, यदि 80 प्रतिशत विधायक पायलट के साथ नहीं हों तो हम सीएम पद की दावेदारी छोड़ देंगे। गुढ़ा ने कहा कि सीएम विधायकों की वन टू वन बैठक और सीएलपी बैठक के पक्ष में क्यों नहीं हैं। जिन विधायकों पर दस-दस करोड़ रुपए लेने के आरोप लगा रहे हैं तो फिर उनमें से पांच विधायकों को क्या सोचकर कैबिनेट में मंत्री पद दे रखा है। अब बार-बार उनको गद्दार क्यों बोल रहे हैं। ऐसे आरोप लगाकर दिवंगत विधायक भंवरलाल शर्मा और गजेन्द्र शक्तावत को भी कटघरे में खड़ा कर दिया है। आलाकमान को अब जल्दी ही सीएलपी बैठक करानी चाहिए, क्योंकि अभी तक नोटिस मिले तीन नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं हुई और खुद सीएम ऐसे बयान दे रहे हैं।

सीएम अगर इतने आश्वस्त तो काउंटिंग क्यों नहीं करा लेते

पायलट के साथ दस विधायक नहीं होने के दावे का भी खंडन करते हुए गुढ़ा ने कहा कि सीएम अगर इतने आश्वस्त हैं तो फिर काउंटिंग क्यों नहीं करा लेते। कांग्रेस में विधायक आलाकमान के आशीर्वाद से बने हैं और उसी से मंत्री, मुख्यमंत्री बने हैं। यदि कांग्रेस छोड़ते हैं तो गांव के सरपंच तक नहीं बन सकते। 

Read More सीआईडी की मध्यप्रदेश में बड़ी कार्रवाई : रबड़ की आड़ में गांजा तस्करी करते तस्कर पकड़वाया

Post Comment

Comment List

Latest News