प्रेमजाल में फंसाकर की महिला की हत्या

पहले मृतका पर जमाया विश्वास, फिर गहने रुपए लूटकर गला दबा दिया

प्रेमजाल में फंसाकर की महिला की हत्या

प्लानिंग के तहत 31 मई को ही उसके जेवरात व रुपए लूटकर गला घोट कर हत्या कर दी। इसके बाद उसने जेवरात व रुपए अपने पास रख लिए तथा मृतका की लाश को शंभूपुरा हाइवे के पास एक गढ्डे में डालकर फरार हो गया था।

कोटा। पांच महीने बाद एक शादीशुदा महिला को प्रेम जाल में फंसाकर हत्या करने के मामले में गिरफ्तार प्रेमी को कुन्हाड़ी पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। जहां से रिमांड पर  सौंप दिया गया है। आरोपी  प्रमोद कुमार सिंह उर्फ टोनू पुत्र दान सिंह निवासी  पूनम कॉलोनी को शुक्रवार देर रात को गिरफ्तार किया था।  पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत ने बताया  कि आरोपी गर्म कपड़ों व हींग का व्यापार करता था। कोरोना काल में दो साल  काम बंद होने से आर्थिक तंगी में आ गया था। इसी कारण से उसकी आर्थिक स्थित कमजोर हो गई। जिससे  उसने मृतका पूजा अरोड़ा को  अपने प्रेम जाल में फंसाया तथा उसे अपने विश्वास में ले लिया । इसके बाद आरोपी ने उसके साथ घर बसाने का अश्वासन देकर उसका विश्वास जीता। उसे वाट्सअप कर उससे संपर्क करता था, जिससे पहचान नहीं हो सके। आरोपी ने प्लानिंग के तहत मृतका को 31 मई 2022 को शाम 7.40  पर पूजा अरोड़ा को तैयार होकर रुपए व गहने व कपड़े लेकर रेलवे हॉस्पिटल के मैन गेट पर बुलाया। जहां उसने अपनी पहचान को छुपाने के लिए रेलवे हॉस्पिटल की मैन गेट वाली जगह को चुना, जहां कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं था। जहां पर भीड़भाड़ भी रहती है। इसके बाद वहां से आरोपी ने उसे अपने साथ चलने का विश्वास दिलाते हुए कार में बैठा लिया तथा मृतका को शहर से बाहर लेकर गया।  प्लानिंग के तहत 31 मई को ही उसके जेवरात व रुपए लूटकर गला घोट कर हत्या कर दी। इसके बाद उसने जेवरात व रुपए अपने पास रख लिए तथा मृतका की लाश को शंभूपुरा हाइवे के पास एक गढ्डे में डालकर फरार हो गया था। 
 
उन्होंने बताया कि एक जून को शंभूपुरा के पास हाइवे पर मृतका की लाश मिली थी। पहले अज्ञात महिला लग रही थी। अनुसंधान के बाद उसकी पहचान पूनम कॉलोनी निवासी पूजा अरोडा (50)के रूप में हुई थी। इसके बाद पुलिस हत्या का राज खोलने के लिए कई संदिग्धों से गहनता से पूछताछ की गई तथा सौ से अधिक सीसीटीवी फुटेज को चेक किया गया।  200 नंबरों से अधिक मोबाइलों की सीडीआर को निकलवाया गया।  इसके बाद पुलिस को एक लिंक मिला इस वारदात में आरोपी प्रमोद कुमार सिंह शामिल हो सकता है। इसके बाद पुलिस की रडार पर आ गया तथा उसके बारे में जानकारी जुटाई गई। इस दौरान पता चला कि मृतका की प्रमोद  से जान पहचान अच्छी  थी, दोनों एक ही संस्थान से जुड़ थे।  पुलिस ने प्रमोद की गतिविधियों व खर्चों पर पूरी निगरानी रखी। इसी दौरान उसे शुक्रवार को हिरासत में लेकर गहनता से पूछताछ की गई तो पहले पुलिस को छकाता रहा। बाद मे  सख्ती से पूछने पर टूट गया तथा अपना जुर्म कबूल किया।  पूजा से जान पहचान होने के बाद उसे पता चला कि पूजा संपन्न परिवार से है और उसके पति से भी अनबन चल रही है। इसके बाद उसने इस बात का फायदा उठाते हुए वारदात को अंजाम दिया। 

 

Post Comment

Comment List

Latest News

ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार  ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार 
नकली जब्त किए गए नोटों को भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड, मुद्रा नगर, सालाबोनी, पचिमा मिदनापुर, पश्चिम बंगाल...
फ्रांस के हेलीकाप्टर जापान, भारत और अमेरिका के साथ सैन्य अभ्यास में शामिल होंगे
झारखंड की दो 'केराकत' ने यूथ गेम्स में जमाया रंग
अलग-अलग किरदार निभाना चाहती है कृति सैनन
कैंसर जॉच आपके द्वार अभियान का हुआ आगाज
जोधपुर में 20 से 22 मार्च को आयोजित होगा राजस्थान इंटरनेशनल एक्सपो
ओवरलोड वाहनों के चलते संपर्क सड़कें हुई जर्जर