प्रताप विवाद पर सियासत: पूनिया बोले मति भ्रमित हुई, राठौड़ ने कहा कुंठित है मानसिकता, जोशी बोले, 'भाजपा नेता चाहते, वहीं बोले जो उनको सुहाए'

महाराणा प्रताप पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के बयान के बाद सियासी पारा बढ़ा

प्रताप विवाद पर सियासत:  पूनिया बोले मति भ्रमित हुई, राठौड़ ने कहा कुंठित है मानसिकता, जोशी बोले, 'भाजपा नेता चाहते, वहीं बोले जो उनको सुहाए'

राजस्थान की आन बान शान के प्रतीक महाराणा प्रताप

 जयपुर। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा के महाराणा प्रताप और अकबर के बीच के युद्ध को सत्ता की लड़ाई होने का बयान देने पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने उनके बयान का विरोध किया है। पूनिया ने कहा है कि उनकी मति भ्रमित हो गई है। वहीं राठौड़ ने इसे उनकी कुंठित मानसिकता करार दिया है। पूनिया ने कहा कि डोटासरा की मति भ्रमित हो गई है। कांग्रेस का मुस्लिम वोटों से मोह छूट नहीं रहा है। प्रताप का अकबर के साथ युद्ध सत्ता संघर्ष नहीं था। राष्ट्रवाद की लड़ाई थी। स्वाभिमान का युद्ध था। देश की अस्मिता की रक्षा का संघर्ष था। इससे पहले भी डोटासरा अकबर को महान बताकर प्रताप का अपमान कर चुके हैं। विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि महाराणा प्रताप और अकबर की लड़ाई संप्रभुता, स्वतंत्रता और स्वाभिमान की लड़ाई थी। प्रताप भारतीय संविधान के आदर्श हैं। वह लड़ाई सत्ता की नहीं थी। राजस्थान की आन बान शान के प्रतीक महाराणा प्रताप के खिलाफ  बार-बार कुंठित मानसिकता का परिचय देना डोटासरा की आदत में शुमार हो गया है।

प्रताप विवाद पर बोले जोशी: भाजपा नेता चाहते, वही बोले जो उनको सुहाए

महाराणा प्रताप पर पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के बयान के बाद भाजपा नेताओं के पलटवार पर कैबिनेट मंत्री महेश जोशी ने प्रतिक्रिया दी है। पीसीसी में मीडिया से बात करते हुए जोशी ने कहा कि महाराणा प्रताप को देश की जनता और देश का पाठ्यक्रम आज भी महान मानता है। अगर किसी विषय पर कोई शैक्षणिक बात कही जाती है तो भाजपा नेताओं की उसे लपकने की आदत हो गई है। विवाद को कभी राजपूत समाज से जोड़कर पेश करते हैं तो कभी कोई और बात को जोड़ देते हैं। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को भाजपा नेताओं ने ताक पर रखा हुआ है। भाजपा में मोदी से लेकर नीचे तक के नेताओं की यही आदत बनी हुई है। भाजपा नेता चाहते हैं कि हम वही बोले जो उनको सुहाए। महाराणा प्रताप के महान होने पर कांग्रेस में किसी ने शंका व्यक्त नहीं की। गोविंद सिंह डोटासरा के बयान के तोड़ मरोड़ कर मायने निकाले जा रहे हैं।

Read More बिना टेंडर 40 लाख से अधिक का कार्यादेश जारी करने का आरोप

Post Comment

Comment List

Latest News