ट्रैक्टर को जाने से रोकने पर 300 मीटर दूर आगे चल रहे युवक को कुचला

घायल सुरेश को कालवाड़ रोड स्थित निजी अस्पताल पहुंचाया

ट्रैक्टर को जाने से रोकने पर 300 मीटर दूर आगे चल रहे युवक को कुचला

करधनी थाना इलाके में सरना डूंगर स्थित गौतम नगर में मिट्टी सप्लाई करने वाले ट्रैक्टर चालक को कॉलोनीवासियों की ओर से रोकने पर उसने ट्रैक्टर दौड़ाते हुए 300 मीटर आगे चल रहे युवक को कुचल दिया।

जयपुर। करधनी थाना इलाके में सरना डूंगर स्थित गौतम नगर में मिट्टी सप्लाई करने वाले ट्रैक्टर चालक को कॉलोनीवासियों की ओर से रोकने पर उसने ट्रैक्टर दौड़ाते हुए 300 मीटर आगे चल रहे युवक को कुचल दिया। वहां मौजूद लोगों ने घायल सुरेश को कालवाड़ रोड स्थित निजी अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस संबंध में मृतक के भाई कान्हाराम ने ट्रैक्टर चालक मुकेश मीणा और मिट्टी सप्लायर हनुमान सैनी के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट में आरोप है कि मिट्टी सप्लाई के लिए हनुमान सैनी के कई डम्पर और ट्रैक्टर चलते हैं, जो कॉलोनी की छोटी गालियों से जाते हैं। इससे कॉलोनी में महिलाओं के घूमने और बच्चों के खेलने में परेशानी होती है। इस मामले की जांच कर रहे एसीपी स्वामी ने कहा कि दोषियों को गिरफ्तार करने की तैयार कर ली गई है।

मारने की दी थी धमकी

स्थानीय लोगों के अनुसार पिछले एक माह से कॉलोनी में आने-जाने वाले ट्रैक्टर चालकों को कई बार कॉलोनी के अंदर से जाने के लिए मना किया गया तो एक चालक ने परिवार सहित जाने से मारने की धमकी भी दी थी। सोमवार रात को करीब पौने आठ बजे मुकेश मीणा मिट्टी खाली करके आया तो महिलाओं ने उसे रोक लिया और इस रास्ते से जाने के लिए मना कर दिया। इस दौरान मुकेश ने महिलओं से गाली-गलौच भी की। तभी वहां कान्हाराम आ गया। चालक ने ट्रैक्टर को थोड़ा पीछे चलाया और उसके बाद साइड वाले प्लॉट की डेढ़ फीट ऊंची दीवार को तोड़ते हुए 100 मीटर आगे सामने से आ रहे सुरेश को कुचल दिया। इधर, कान्हाराम ने स्कूटी से पीछा करके करीब 500 मीटर आगे टैÑक्टर को रुकवाने की कोशिश की, लेकिन चालक उन्हें भी टक्कर मारते हुए फरार हो गया।

Read More आशापुरा माताजी मंदिर में दुर्गा पूजा साथ मेले का आगाज

रातभर थाने के बाहर दिया धरना
मृतक के भाई कान्हाराम ने बताया कि इस घटना के बाद देर रात तक परिजनों व अन्य लोगों के साथ वह करधनी थाने पहुंचे और वहां कार्रवाई करने के लिए रातभर धरना दिया। उधर, सबसे पहले दुर्घटना थाना  पुलिस मौके पर पहुंची। मुकदमा दर्ज होने के बाद परिजनों ने आरोपियों को पकड़ने की मांग की। जब मामला बढ़ा तो सुबह पार्षद विकास बारेठ समेत सैकड़ों लोग थाने के बाहर इकट्ठा हो गए।  बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया और मामले को शांत कराया गया।

Post Comment

Comment List

Latest News