प्रदेश में कहर बरपा रही आग उगलती गर्मी, टूटा 10 साल का रिकॉर्ड  

हीट वेव से होने की पुष्टि नहीं की है

प्रदेश में कहर बरपा रही आग उगलती गर्मी, टूटा 10 साल का रिकॉर्ड  

भीषण गर्मी से 13 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। इसमें 22 साल का एक स्टूडेंट कपिल भी शामिल है जो एग्जाम देने जयपुर आया था और जैसे ही एग्जाम देकर कॉलेज से बाहर निकला वह बेहोश हो गया।

जयपुर। प्रदेश में आग उगलती गर्मी अपना कहर लगातार बरपा रही है। मई महीने में चूरू में पारा 8 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर 50.5 डिग्री पर पहुंच गया। इससे पहले एक जून 2019 को पारा 50.8 पहुंच गया था। जानकारी के अनुसार भीषण गर्मी से 13 लोगों ने अपनी जान गंवा दी। इसमें 22 साल का एक स्टूडेंट कपिल भी शामिल है जो एग्जाम देने जयपुर आया था और जैसे ही एग्जाम देकर कॉलेज से बाहर निकला वह बेहोश हो गया। यहां से उसे जयपुरिया अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रथमदृष्टया चिकित्सकों ने युवक की मौत का कारण गर्मी बताया है। वहीं टोंक में पति पत्नी समेत पांच लोगों की मौत हुई है। पाली में भी एक हैड कांस्टेबल की गर्मी से मौत होने की जानकारी मिली है। उदयपुर जिले के कुराबड़ थाना क्षेत्र के छोटा भल्लो का गुड़ा निवासी महिला की मौत हुई है। भरतपुर शहर के अटल बंद थाना इलाके में और भरतपुर शहर के सुभाष नगर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। बारां जिले में हरनावदा शाहजी क्षेत्र में दो लोगों की, कस्बे के ही बोरखेड़ी रोड पर एक व्यक्ति की, पाली के पुनायता औद्योगिक क्षेत्र की फैक्ट्री के कमरे में एक मजदूर का शव मिला है। श्रीगंगानगर के सूरतगढ़ थर्मल पावर प्लांट में गर्मी और लू के कारण एक श्रमिक की मौत की खबर है। हालांकि इन सभी मौतों की फिलहाल चिकित्सा विभाग और प्रशासन ने हीट स्ट्रोक या हीट वेव से होने की पुष्टि नहीं की है। 

चूरू में आसमां से बरसी आग, जयपुर में भी टूटा रिकॉर्ड 
भीषण गर्मी के बीच तापमान रोजाना नए रिकॉर्ड बना रहा है। मंगलवार को प्रदेश का चूरू जिला देश ही नहीं, बल्कि विश्व का सबसे गर्म जिला बन गया। चूरू में गर्मी ने पिछले आठ साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया और यहां पारा 50.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं इससे पहले 19 मई, 2016 को चूरू में अधिकतम तापामन 50.2 डिग्री दर्ज किया गया था। वहीं राजधानी जयपुर में भी गर्मी का पिछले 10 साल का रिकॉर्ड टूटा है और यहां मंगलवार को भीषण गर्मी और लू के कहर के बीच अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री दर्ज किया गया। यहां बीती रात का तापमान 33.3 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। इससे पहले जयपुर में दस साल पहले मई माह में इतना तापमान रिकॉर्ड किया गया था। जयपुर में देर शाम कुछ इलाकों में बूंदाबांदी हुई। वहीं पिलानी में भी तापमान 49 डिग्री दर्ज किया गया जो इससे पहले 25 साल पहले रिकॉर्ड किया था। 

अब आगे क्या
29 मई से पूर्वी राजस्थान के कुछ भागों में और 30 मई से पश्चिमी राजस्थान के कुछ भागों में अधिकतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस गिरावट होने की संभावना है। जून के प्रथम सप्ताह में राज्य के ज्यादातर भागों में अधिकतम तापमान सामान्य के आसपास दर्ज होने की संभावना है। वहीं 30 और 31 मई को एक नया विक्षोभ भी सक्रिय हो सकता है। इसके असर से जयपुर संभाग के कुछ इलाकों में आंधी चलने के साथ बारिश होने की संभावना है। 

 

Read More RU के छात्र-छात्राओं की समस्याओं को लेकर विरोध प्रदर्शन

Tags: summer

Post Comment

Comment List

Latest News

कश्मीर में आतंकी गतिविधियों का बढ़ना चिंता का विषय, सरकार उठाएं प्रभावी कदम : गहलोत कश्मीर में आतंकी गतिविधियों का बढ़ना चिंता का विषय, सरकार उठाएं प्रभावी कदम : गहलोत
केंद्र सरकार से हमारा अनुरोध है कि आतंकवाद की समाप्ति के लिए प्रभावी कदम उठाए। आतंकवाद से लड़ाई में पूरा...
पुलिस थाना महेश नगर जयपुर दक्षिण की बड़ी कार्रवाई, मोबाईल चोरी करने वाली खट-खट गैंग का पर्दाफाश
मणिपुर-त्रिपुरा में हिंसा की घटनाएं प्रायोजित : कांग्रेस
ग्रीष्मकालीन अभिरुचि शिविर के तहत विशेष प्रदर्शनी का आयोजन, स्टूडेंट्स ने भीलवाड़ा शाहपुरा की फड़ को प्रदर्शित
RU के छात्र-छात्राओं की समस्याओं को लेकर विरोध प्रदर्शन
Stock Market Update : शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन तेजी, सेंसेक्स 51.69 अंक उछला
मुख्यमंत्री के पिता चोटिल, बाथरूम में फिसलकर गिरे, जयपुर किया सकता है रैफर