मौद्रिक नीति समिति की बैठक, महंगे हो जाएंगे ऋण

नीतिगत दरों में वृद्धि की संभावना व्यक्त की

मौद्रिक नीति समिति की बैठक, महंगे हो जाएंगे ऋण

रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा रही है और इसको कोरोना महामारी के पहले के स्तर पर ले जाने का अनुमान है।

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति की 3 दिवसीय बैठक शुरू हो गई, जिसमें नीतिगत दरों में वृद्धि किये जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। यदि फिर से इसमें बढ़ोतरी की जाती है, तो इससे उपभोक्ताओं के लिए घर, कार और अन्य ऋण अधिक महंगे हो जाएंगे। रिजर्व बैंक द्वारा नीतिगत दरों में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा रही है और इसको कोरोना महामारी के पहले के स्तर पर ले जाने का अनुमान है।

रिजर्व बैंक ने इस वर्ष नीतिगत दरों में अब तक 0.90 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर चुका है और यह अभी भी कोरोना काल के पहले के स्तर से नीचे है। कोरोना महामारी से पहले यह दर 5.15 प्रतिशत पर थी। इस हिसाब से रिजर्व बैंक के पास अभी भी 0.25 प्रतिशत तक बढ़ोतरी करने का पूरा मौका है।   

Post Comment

Comment List

Latest News