कोटड़ा में सवा 5 इंच बारिश, बक्शा का नाका बांध ओवरफ्लो

नदी-नाले उफान पर, जलाशयों के पास जाने में विशेष सावधानी बरतने की सलाह

कोटड़ा में सवा 5 इंच बारिश, बक्शा का नाका बांध ओवरफ्लो

उदयपुर। जिले में तेज बारिश का दौर लगातार जारी है। कोटड़ा का बक्शा का नाका डेम बुधवार को ओवरफ्लो हो गया। कोटड़ा में रिकॉर्ड 132 एमएम बारिश दर्ज की गई।

उदयपुर। जिले में तेज बारिश का दौर लगातार जारी है। कोटड़ा का बक्शा का नाका डेम बुधवार को ओवरफ्लो हो गया। कोटड़ा में रिकॉर्ड 132 एमएम बारिश दर्ज की गई। सावन के बाद भादों में हो रही तेज बारिश से झीलों, बांधों व जलाशयों में पानी की तेज आवक बनी हुई। जलाशयों में पानी की तेज आवक को देखते हुए प्रशासन को अलर्ट मोड पर रखा गया है। वल्लभनगर के सरजना बांध का जलस्तर 17.80 फीट हो गया है। इसकी कुल भराव क्षमता19.50 फीट है। उदयसागर के गेट खुलने और अच्छी बारिश से बेड़च नदी में पानी की तेज आवक बनी हुई है। इससे वल्लभनगर बांध अब कभी भी छलक सकता है। जल संसाधन विभाग की ओर से आमजनों से बांध की रपट, बहाव क्षेत्र में जाने और पुलिया पार करने की मनाही के निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं कोटड़ा डेम भी ओवरफ्लो हो गया है। कोटड़ा क्षेत्र में भी लोगों से विशेष सावधानी बरतने की अपील की जा रही है। सलंबूर, सराड़ा में भी हुई तेज बारिश बाढ़ नियंत्रण कक्ष को मिले आंकड़ों के अनुसार बुधवार सुबह तक उदयपुर में 35, बड़गांव में 46, गोगुंदा में 19, मावली में 47, लसाड़िया में 45, सलंूबर में 81, सराड़ा में 71, सेमारी में 35, खेरवाड़ा में 35, ऋषभदेव में 25, झाड़ोल में 40, कोटड़ा में 132, भींडर में 21, कानोड़ में 18, कुराबड़ में 55 और नयागांव में 48 मिली मीटर बारिश दर्ज की गई। बुधवार को दोपहर से शाम 5 बजे तक भी जिले के कई स्थानों पर अच्छी बारिश हुई। मानसून की सबसे ज्यादा बारिश जयसमंद में संभाग में अभी तक मानसून की सर्वाधिक बारिश जयसमंद में 1397 एमएम हो चुकी है। कोटड़ा में 1019, चित्तौड़गढ़ के गंभीरी में 1185, प्रतापगढ़ में 1140 एमएम बारिश हो चुकी है। शहर के पिछोला, फतहसागर, स्वरूपसागर, गोवर्धन सागर, छोटा, बड़ा मदार तालाब आदि जलाशय छलक चुके हैं। मादड़ी डेम ओवरफ्लो हो गया है। सीसारमा में 5 फीट बहाव स्तर बना हुआ है। आकोदड़ा डेम के अभी भी ओवरफ्लो होने का इंतजार है।

Post Comment

Comment List

Latest News

नजदीक से गुजर रहे हाईटेंशन तार, हर पल मौत का साया नजदीक से गुजर रहे हाईटेंशन तार, हर पल मौत का साया
लोगों का छतों पर जाना भी मुश्किल हो रहा है। 220 केवी की लाइन के चपेट में आने के डर...
शादी की तैयारियों के बीच मेरिज गार्डन पहुंचा भारी भरकम मगरमच्छ, मचा हड़कम्प
अंबानी परिवार को मिली धमकी, फोन कर कहा, 'एचएन रिलाइंस फाउंडेशन अस्पताल को बम से उड़ा दिया जाएगा'
मोदी ने हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर एम्स का किया उद्घाटन
राष्ट्रीय दल बनते ही टीआरएस का बदला नाम, हुआ भारतीय राष्ट्र समिति
निचले स्तर पर ही सुनिश्चित हो रहा है लोगों की समस्याओं का निस्तारण - गहलोत
वर्तमान सरकार के राज में विकास का पहिया थम गया : राजेंद्र राठौड़