महिलाओं और दलितों का अब प्रतिनिधित्व बढ़ा : भूपेश

महिलाओं और दलितों का अब प्रतिनिधित्व बढ़ा : भूपेश

राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री की शपथ लेने जा रहीं ममता भूपेश ने बताया कि इतिहास में पहली बार दलित समाज के चार जनप्रतिनिधियों को कैबिनेट में मौका मिला है।

जयपुर। राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री की शपथ लेने जा रहीं ममता भूपेश ने  बताया कि इतिहास में पहली बार दलित समाज के चार जनप्रतिनिधियों को कैबिनेट में मौका मिला है। इसके साथ ही कैबिनेट में सभी वर्गों का समावेश किया गया है और अब लक्ष्य है कि प्रदेश की आम जनता के हित में काम किए जा सके। पहले जो विभाग दिया गया था, उसमें कई नवाचार करने की कोशिश की। सरकार की योजनाओं का लाभ जनता तक पहुंचाने का प्रयास किया गया।

पीसीसी में मीडिया से बात करते हुए ममता भूपेश ने कहा कि कैबिनेट में महिलाओं की संख्या बढ़ी है और जहां तक कांग्रेस में महिलाओं के प्रतिनिधित्व की बात है, तो कांग्रेस नेताओं जैसी सोच किसी की नहीं है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को याद करते हुए कहा कि लोकल बॉडी में उन्होंने महिलाओं को आरक्षण दिया। राजनीति के हर क्षेत्र में महिलाओं का योगदान है।  महिला राष्ट्रपति महिला प्रधानमंत्री से लेकर के लोकसभा अध्यक्ष तक कांग्रेस ने दी। कांग्रेस महिलाओं के प्रति दोहरी नीति नहीं रखती। उन्होंने कहा कि विचारों का मतभेद कई बार परिवारों में हो जाता है। इसमें अस्थिरता वाली कोई बात नहीं है। पार्टी के नेता-कार्यकर्ता सब एक हैं। इसी का नतीजा रहा कि पंचायती राज चुनाव हो, चाहे जिला परिषद के चुनाव या फिर उपचुनाव, सभी में कांग्रेस ने बढ़त हासिल की है। कांग्रेस का श्रेष्ठता का प्रमाण यही है कि कई जगह बीजेपी की जमानत तक जब्त हुई। बीजेपी की कथनी और करनी में अंतर है। यही वजह है कि उन्हें तीन कृषि कानून वापस लेने पड़े।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News

जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम जगजीत सिंह के जन्म दिवस पर 8 फरवरी को शाम-ए-गजल कार्यक्रम
सचिव शिव जालान ने बताया कि इसमें अनेक कलाकार गीतों, गजलें और नज्मों से स्व. जगजीत सिंह को स्वरांजलि अर्पित...
सतीश पूनियां ने सीएम को लिखा पत्र, आमेर विस क्षेत्र की मांगों को बजट में शामिल करने का किया आग्रह
केरल का इंटरनेशनल थियेटर फेस्टिवल 5 फरवरी से होगा शुरू
मोबाइल फोन के बेतहाशा इस्तेमाल से बढ़ा विजन सिंड्रोम का खतरा
तालिबान प्रशासन व्याख्याता मशाल को तत्काल रिहा करें: संयुक्त राष्ट्र
अडानी सीमेंट के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग
खान सुरक्षा अभियान में निदेशक खान का जोधपुर दौरा