ढांचागत क्षेत्र के लिए गारंटी बॉण्ड बीमा उत्पाद लेकर आएंगे: गडकरी

19 दिसंबर को भारत का पहला गारंटी बॉण्ड बीमा उत्पाद उतारने वाला है

ढांचागत क्षेत्र के लिए गारंटी बॉण्ड बीमा उत्पाद लेकर आएंगे: गडकरी

गारंटी बॉण्ड के तहत किसी बीमित परियोजना को पूरा करने या प्रदर्शन का दायित्व निहित होता है जबकि कॉरपोरेट बांड ऋण चुकाने से संबंधित वित्तीय दायित्व से संबंधित होते हैं। 

नई दिल्ली। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ढांचागत क्षेत्र में तरलता बढ़ाने के लिए देश का पहला गारंटी बांड बीमा उत्पाद 19 दिसंबर को जारी करेगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बृहस्पतिवार को एक कार्यक्रम में देश का पहला गारंटी बॉण्ड बीमा उत्पाद लाने की घोषणा की। गारंटी बॉण्ड कॉरपोरेट बांड और वित्तीय गारंटी से अलग होते हैं। गारंटी बॉण्ड के तहत किसी बीमित परियोजना को पूरा करने या प्रदर्शन का दायित्व निहित होता है जबकि कॉरपोरेट बांड ऋण चुकाने से संबंधित वित्तीय दायित्व से संबंधित होते हैं। 

ठेकेदारों को बड़ी राहत मिलेगी

गडकरी ने उद्योग निकाय भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक कार्यक्रम में कहा कि भारतीय राजमार्गों का बुनियादी ढांचा तेजी से विकसित हो रहा है जिसके लिए फंड की जरूरत है। गडकरी ने कहा कि हमारा मंत्रालय 19 दिसंबर को भारत का पहला गारंटी बॉण्ड बीमा उत्पाद उतारने वाला है। इससे ठेकेदारों को बड़ी राहत मिलेगी। 

बुनियादी ढांचा क्षेत्र में नकदी बढ़ेगी

गडकरी ने कहा कि गारंटी बॉण्ड ठेकेदारों की बैंक गारंटी के रूप में फंसी कार्यशील पूंजी को मुक्त कराने में मदद करेंगे जिससे बुनियादी ढांचा क्षेत्र में नकदी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि ठेकेदार इस धन का इस्तेमाल अपना कारोबार बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। 

बिजली आधारित परिवहन प्रणाली शुरू करेंगे

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वह बिजली आधारित एक त्वरित जन परिवहन प्रणाली शुरू करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मैं लद्दाख और लेह में 30 फ्यूनिकुलर रेलवे प्रणाली परियोजना शुरू करना चाहता हूं। फ्यूनिकुलर रेल प्रणाली के तहत तेज चढ़ाई वाली जगह पर रेल डिब्बे को घूमने वाली केबल की मदद से ऊपर खींचा जाता है। इस केबल का संचालन बिजली मोटर से किया जाता है।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News