कोटा के विकास कार्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले हैं

एमपी के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने किया शहर के विकास कार्यों का अवलोकन

कोटा के विकास कार्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले हैं

कोटा में विकसित किए जा रहे पर्यटन विकास के प्रोजेक्ट अकल्पनीय हैं । कोटा विश्व मानचित्र के पटल पर पर्यटन के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाएगा ।

कोटा। मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि कोटा में जो विकास कार्य हुए हैं वह अद्भुत है और पर्यटन विकास के प्रोजेक्ट राष्ट्रीय ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोटा को पहचान दिलाने वाले हैं। दिग्विजय सिंह ने यह बात शुक्रवार को कोटा शहर में हुए विकास कार्यों  का अवलोकन करने के बाद कही ।दिग्विजय सिंह , मंत्री शांति धारीवाल के साथ सबसे पहले  चंबल रिवर फ्रंट देखने पहुंचे । जहां उन्होंने नयापुरा बावड़ी से निमार्णाधीन चंबल रिवर फ्रंट का जायजा लेकर कहा कि चंबल रिवर फ्रंट वाकई फंटास्टिक रिवर फ्रंट बनने जा रहा है।  साबरमती के रिवरफ्रंट से कई गुना बेहतर चंबल रिवर फ्रंट होगा । उन्होंने रिवर फ्रंट के प्रचार प्रसार के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की कांफ्रेंस भी आयोजित करने की यू डी एच मंत्री  धारीवाल को सलाह दी।  इसके बाद जैसे ही दिग्विजय सिंह  सिटी पार्क आॅक्सीजोन में पहुंचे तो नजारा देखकर खासे प्रभावित हुए। उन्होंने पार्क में विकसित किए गए विश्व स्तरीय संसाधनों को बारीकी से देखा। प्राकृतिक माहौल के बीच पार्क में विकसित किए गए तालाब के पास बैठ कर प्रकृति के बेहतरीन नजरों का लुफ्त उठाया  और कहा कि कोटा में विकसित किए जा रहे पर्यटन विकास के प्रोजेक्ट अकल्पनीय हैं । कोटा विश्व मानचित्र के पटल पर पर्यटन के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाएगा । उन्होंने विकास कार्यों मे यूडीएच मंत्री की पहल पर नगर विकास द्वारा किए गए वित्तीय प्रबंधन की भी सराहना करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा विकास कार्यों में राशि उपलब्ध नहीं होने के बावजूद वित्तीय प्रबंधन कर अभूतपूर्व विकास कार्य करवाना सराहनीय है।

 इसके बाद  सिंह देवनारायण आवासीय योजना का जायजा लेने पहुंचे । जहां एक ही स्थान पर पशुपालकों के लिए शहर की तर्ज पर विकसित किये गए संसाधनों को देख खासे प्रभावित हुए । उन्होंने पशुपालकों के आवास का भी अवलोकन किया । पशुपलकों से बातचीत कर उनकी जीवन शैली के बारे में जानकारी ली ।योजना के तहत पशुपालकों की गोबर से होने वाली आमदनी के बारे में भी पशुपालकों से जानकारी ली और योजना को बेहतरीन बताते हुए कहा कि ऐसी योजनाएं  देश के शहरों में विकसित की जानी चाहिए । जिससे शहरी क्षेत्र में मवेशियों की समस्या से भी छुटकारा मिल सके । पशुपालकों के जीवन स्तर में भी आमूलचूल परिवर्तन हो सके। दिग्विजय सिंह ने कोटा में विकसित किए गए आकर्षक चौराहे नयापुरा, घोड़े वाले बाबा ,एरोड्रम ,अंडरपास सहित सुगम आवागमन के लिए विकसित किए गए प्रोजेक्ट भी बारीकी से देखें ।  यूडीएच मंत्री के विकास के विजन की खुले दिल से सराहना की। इस दौरान नगर विकास न्यास ओएसडी आरडी मीणा, उपसचिव ताहिर मोहम्मद , पुलिस उप अधीक्षक अशीष भार्गव सहित प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News