प्रदेश में पहली मावठ, सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठिठुरन

भरतपुर, करौली, धौलपुर में हुई अच्छी बारिश

प्रदेश में पहली मावठ, सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठिठुरन

मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि प्रदेश में कड़ाके की ठंड 26 जनवरी तक रह सकती है।

जयपुर। प्रदेश में मौसम के बदलाव के साथ ही बादल छाने और बारिश होने से सर्दी बढ़ गई है। इस सीजन की पहली मावठ भी हुई। भरतपुर, करौली, धौलपुर में पिछले 24 घंटे में एक एमएम से लेकर 21 एमएम तक बरसात दर्ज की गई। मौसम के इस बदलाव और सर्द हवाओं से ठिठुरन बढ़ गई है। हालांकि किसानों के लिए बड़ी राहत की बात है। रबी की फसल के लिए ये बारिश बहुत लाभकारी होगी। 

उधर, मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि प्रदेश में कड़ाके की ठंड 26 जनवरी तक रह सकती है। मौसम केंद्र जयपुर के मुताबिक ऐसी संभावना है कि 26 जनवरी के आसपास तक पूर्वी राजस्थान के कई हिस्सों में बादल छाने के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश और बूंदाबांदी होने के आसार हैं।

इन इलाकों में बरसी मावठ
मौसम केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान करौली और भरतपुर में अच्छी बारिश हुई। भरतपुर शहर में 11 एमएम, जबकि कुम्हेर में 10 एमएम, वैर में 21 एमएम, भुसावर-रूपवास में 17-17 एमएम, उच्चैन में 14 एमएम, बयाना में 11 एमएम, नदबई में 5 और डीग में 2 एमएम बारिश हुई। करौली जिले के मासलपुर में 2 एमएम, सपोटरा में 4 एमएम, हिंडौन में 6 एमएम, सरमथुरा में 3 एमएम, महावीरजी में 2 एमएम और नादौती में एक एमएम बारिश हुई। किसानों के लिए ये बारिश काफी फायदेमंद रही। करौली के अलावा देर रात धौलपुर में भी कई हिस्सों में हल्की बारिश हुई। वहीं दौसा, जयपुर और सवाई माधोपुर के हिस्सों में भी कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी दर्ज हुई। बूंदाबांदी के बाद जयपुर समेत पूर्वी राजस्थान में सर्द हवाएं चलने लगीं, जिससे ठिठुरन बढ़ गई। हालांकि बादल छाने के कारण बीती रात न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 13.4 पर पहुंच गया था। वहीं मंगलवार को जयपुर का अधिकतम तापमान 18.6 डिग्री दर्ज किया गया। अजमेर में भी तापमान 1.5 डिग्री सेल्सियस बढ़कर 12.3 पर दर्ज हुआ। सीकर जिले के फतेहपुर में बीती रात न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री था।  

Tags: winter

Post Comment

Comment List

Latest News