एच3एन2 वायरस से हो रही खांसी और तेज बुखारः आईसीएमआर

दो महीनों में मरीजों की संख्या बढ़ी

एच3एन2 वायरस से हो रही खांसी और तेज बुखारः आईसीएमआर

डॉक्टरों का कहना है कि बीते ढ़ाई महीने में एच3एन2 वायरस के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है। इस वायरस का प्रकोप अभी भी बना हुआ है।

नई दिल्ली। लंबे समय से खांसी और तेज बुखार होना जैसे लक्षण आम होने लगे हैं। दरहअसल यह एच3एन2 वायरस के कारण हो रहा है। इसकी पुष्टि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने की है। अगर आपको भी तेज बुखार और लंबे समय से खांसी है तो सतर्क हो जाइए और डॉक्टर से सलाह जरुर लीजिए। यह वायरस अन्य की तुलना में ज्यादा प्रभावी है और इससे पीड़ित लोग अस्पताल में जल्दी भर्ती हो रहे है। 

डॉक्टरों का कहना है कि बीते ढ़ाई महीने में एच3एन2 वायरस के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है। इस वायरस का प्रकोप अभी भी बना हुआ है। मार्च आखिर या अप्रैल शुरुआत में इस वायरस के कम होने के आसार हैं क्योंकि उस समय तक तापमान बढ़ जाता है। इन लक्षणों में लोगों को एंटिबायटिक के ज्यादा प्रयोग से बचना चाहिए। 

एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस वायरस के प्रकोप से सर्दी, खांसी और बुखार लगातार बना रहता है। इसकी शुरुआत ठंड लगने के साथ तेज बुखार आने से शुरु होती है। पिछले दो महीनों में मरीजों की बाढ़ सी आ गई है। यह वायरस अन्य इंफ्लुएंजा वायरस की तुलना में अधिक गंभीर लक्षण वाला है। 
डब्ल्यूएचओ के अनुसार हर साल दुनिया में मौसमी इंफ्लुएंजा के 30 से 50 लाख मामले सामने आते हैं। जिसमें लाखों लोगों की मौत सांस की बीमारी के कारण होती है। 

 

Read More रेलवे ने शुरू किया समर स्पेशल ट्रेनों का संचालन

Post Comment

Comment List

Latest News

कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे
ऐसे में इस बार पहले चरण की सीटों पर कम वोटिंग ने भाजपा को सोचने पर मजबूर कर दिया है।...
भारत में नहीं चाहिए 2 तरह के जवान, इंडिया की सरकार बनने पर अग्निवीर योजना को करेंगे समाप्त : राहुल
बड़े अंतर से हारेंगे अशोक गहलोत के बेटे चुनाव, मोदी की झोली में जा रही है सभी सीटें : अमित 
किडनी ट्रांसप्लांट के बाद मरीज की मौत, फोर्टिस अस्पताल में प्रदर्शन
इंडिया समूह को पहले चरण में लोगों ने पूरी तरह किया खारिज : मोदी
प्रतिबंध के बावजूद नौलाइयों में आग लगा रहे किसान
लाइसेंस मामले में झालावाड़, अवैध हथियार रखने में कोटा है अव्वल