विराट के 100वें टेस्ट मैच में जीत के लिए खेलेगा भारत, 100 टेस्ट मैच खेलने वाले भारत के 12वें और दुनिया के 71वें खिलाड़ी बन जाएंगे कोहली

टेस्ट क्रिकेट में कोहली बहुत अच्छे हैं : रोहित

विराट के 100वें टेस्ट मैच में जीत के लिए खेलेगा भारत, 100 टेस्ट मैच खेलने वाले भारत के 12वें और दुनिया के 71वें खिलाड़ी बन जाएंगे कोहली

सचिन ने कोहली को 100वें टेस्ट मैच के लिए बधाई दी

मोहाली/मुंबई। पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली के शुक्रवार को यहां 100वें टेस्ट मैच में भारतीय क्रिकेट टीम जीत के लिए खेलेगी। विराट ने अपने अब तक के शानदार क्रिकेट करियर में कई उपलब्धियां हासिल की हैं और शुक्रवार को मोहाली के पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन (पीसीए) स्टेडियम में वह खुद को एक विशिष्ट स्तर पर पाएंगे, जब वह 100 टेस्ट मैच खेलने वाले भारत के 12वें और दुनिया के 71वें खिलाड़ी बन जाएंगे। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण, अनिल कुंबले, कपिल देव, सुनील गावस्कर, दिलीप वेंगसरकर, सौरव गांगुली, इंशात शर्मा, हरभजन ङ्क्षसह और वीरेंद्र सहवाग 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेल चुके हैं।

यकीनन एक ऑल-फॉर्मेट क्रिकेटर के लिए यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है और खास कर तब, जब उसका पूरा करियर टी-20 के दौर में चला हो। सुनील गावस्कर, सचिन तेंदुलकर या यहां तक कि राहुल द्रविड़ जैसे अन्य भारतीय बल्लेबाजों के विपरीत विराट का भारत की टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की करने का मार्ग बेहद शानदार रहा है। विराट के लिए इस पल को यादगार बनाने के लिए पीसीए ने खास इंतजाम किए। पीसीए ने चंडीगढ़ की कई जगहों पर कोहली को बधाई संदेश देने वाले बड़े-बड़े बोर्ड लगाए हैं। इसके अलावा आइएस ङ्क्षबद्रा क्रिकेट स्टेडियम में भी कोहली को बधाई संदेश वाले बैनर लगाए गए हैं। यह भी समझा जाता है कि पीसीए द्वारा विराट का  होटल से लेकर स्टेडियम तक स्वागत किया जाएगा। वहीं पीसीए की तरफ से विराट को एक सिल्वर शील्ड भी स्मृति चिन्ह के तौर पर भेंट की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि 2008 में वनडे में पदार्पण करने के बाद विराट को पहला टेस्ट मैच खेलने का मौका लगभग तीन साल बाद कैरेबियन में मिला, जब दिग्गज क्रिकेट सचिन तेंदुलकर ने दौरे को छोडऩे का विकल्प चुना। तब तक कोहली ने 50 ओवर के प्रारूप में खुद को टीम के प्रमुख बल्लेबाज के रूप में स्थापित कर लिया था, हालांकि उन्हें रेड बॉल टीम में कोई सफलता नहीं मिल रही थी। टेस्ट प्रारूप में उनकी शुरुआत उतनी अच्छी नहीं रही और उन्हें उनकी पहली श्रृंखला में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद बाहर कर दिया गया था, लेकिन वह साल के अंत में शानदार प्रदर्शन की बदौलत विदेशी दौरे में टीम का हिस्सा बने, जहां वह 300 रन के आंकड़े को पारी करने एकमात्र मेहमान बल्लेबाज बने।

भारतीय टीम की बात करें तो लगभग सभी खिलाड़ी फिट दिख रहे हैं। पिछले दिनों टीम के उप कप्तान जसप्रीत ने भी वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में सभी खिलाड़यिों के पहले टेस्ट मैच के लिए फिट और उपलब्ध होने की बात कही थी। भारतीय टीम पिछली तीन सीरीज लगातार जीत कर आ रही है। ऐसे में उसका आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ है, जिसका असर प्रदर्शन में दिखेगा।

सचिन ने कोहली को 100वें टेस्ट मैच के लिए बधाई दी
 मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने विराट कोहली के 100वें टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर उन्हें बधाई देते हुए कहा कि यह उपलब्धि शानदार है, क्योंकि यह क्रिकेटरों  की एक पीढ़ी को प्रेरित करेगी। तेंदुलकर का संदेश बीसीसीआई द्वारा विराट के सम्मान में  साझा किए गए एक वीडियो का भाग था।तेंदुलकर ने कहा कि क्या शानदार उपलब्धि है। मुझे याद है मैंने जब आपके बारे में 2007-08 में सुना था, उस समय हम ऑस्ट्रेलिया में थे। आप मलेशिया में अंडर19 विश्व कप खेल रहे थे। उस समय कुछ खिलाड़ी थे, जो आपके बारे में बात कर रहे थे कि यह खिलाड़ी देखने योग्य है, अच्छी बल्लेबाजी कर लेता है।उसके बाद हमने भारत के लिए एक साथ खेला और ज्यादा, तो नहीं लेकिन जितना भी समय हमने साथ बिताया, उसमें आप अधिक से अधिक चीजों को सीखने के लिए उत्सुक रहते थे।

कोहली, जिन्हें दुनिया के महान बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में  7962 रन बनाए हैं, जिसमें 27 शतक और 28 अर्धशतक शामिल हैं। 99 टेस्ट में उनका औसत 50.39 है।

सचिन ने कहा,''आपको खेलते हुए देखना काफी मजेदार रहा है। नबंरों की अपनी भूमिका है, लेकिन आपकी ताकत एक पूरी पीढ़ी को प्रेरित करना है।यही आपकी असली ताकत है और भारतीय क्रिकेट में आपका बहुत बड़ा योगदान है।  यह ही आपकी असली सफलता है। आपको कई और साल खेलने के लिए शुभकामनाएं  , जाओ और अच्छा करो।''

भारत के लिए 200 टेस्ट खेलने वाले सचिन ने आगे कहा कि कोहली ने अपनी फिटनेस से कई लोगों को प्रेरित किया है।''चीजों को जल्दी सीखना और उन्हे लागू  करना आपकी ताकत थी। हम 2011 में कैनबरा में थे, मुझे याद है कि हम एक थाई रेस्त्रां में खाना खाने जाया करते थे और फिर हॉटल वापस आते थे। मुझे अच्छी तरह से याद है कि एक शाम आपने मुझे आपने अपने  लक्ष्य के बारे में बताया था। ऐसे ही एक दिन जब हम खाना खाकर होटल लौट रहे थे, तो आपने कहा, Þ पाजी बहुत हो गया, फिटनेस पर ध्यान है। तब मैंने कहा था कि जहां तक फिटनेस का सवाल है कोई ऐसी चीज नहीं है, जिसे आप हासिल न कर सको और आंकड़े सबके सामने मौजूद हैं।

टेस्ट क्रिकेट में कोहली बहुत अच्छे हैं : रोहित
भारतीय क्रिकेट कप्तान रोहित शर्मा ने विराट कोहली की तारीफ करते हुए कहा है कि वह खेल के सबसे लंबे प्रारूप में काफी अच्छे रहे हैं। रोहित ने मैच की पूर्व संध्या पर गुरुवार को यहां वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में कहा, '' यह विराट के लिए बेहद शानदार और लंबी यात्रा रही है। वह विशेष रूप से इस प्रारूप में बहुत अच्छे रहे हैं और उन्होंने बहुत सी चीजें बदली हैं। बेशक उनका सफर उतार-चढ़ाव भरा रहा है।''

रोहित ने कोहली के साथ अपने खास पलों को याद करते हुए कहा, '' ऑस्ट्रेलिया में 2018 में हमने जो श्रृंखला जीती थी, वह एक यादगार पल था। इससे और बेहतर की बात करूं तो सबसे अच्छा पल 2013 में दक्षिण अफ्रीका में विराट कोहली का टेस्ट शतक था। यह एक चुनौतीपूर्ण पिच थी और हमें क्रिस मॉरिस और डेल स्टेन जैसे गेंदबाजों का सामना करना था। यह उनकी सबसे अच्छी पारी थी, जो मुझे याद है।''

अनुभवी बल्लेबाजों अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा के टेस्ट भविष्य के बारे में पूछे जाने पर कप्तान रोहित ने कहा, '' पुजारा और रहाणे के रिक्त स्थानों को भरना बहुत मुश्किल चुनौती   है। यहां तक कि मुझे भी नहीं पता कि उनकी जगह कौन आ रहा है। आप उनकी वर्षों की मेहनत और योगदान को शब्दों में बयान में नहीं कर सकते हैं। हमने पिछले कुछ समय में विदेश जमीन पर जो सीरीज जीती हैं और जिसकी वजह से भारत नंबर एक बना है, उनमें रहाणे और पुजारा ने एक बड़ी भूमिका निभाई है। हम उन पर नजर रखेंगे। ''

उल्लेखनीय है कि 33 वर्षीय कोहली शुक्रवार को यहां पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के आईएस बिंद्रा  स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ पहले मैच में अपना 100वां टेस्ट मैच खेलेंगे। उनके साथ-साथ रोहित के लिए भी यह एक विशेष अवसर होगा, क्योंकि टेस्ट प्रारूप में पहली बार भारत का नेतृत्व करेंगे।
रोहित ने इस बारे में कहा, '' मेरी कप्तानी का सिद्धांत टेस्ट में भी वही रहेगा। वर्तमान में रहना, स्थिति का विश्लेषण करना और फिर प्रतिक्रिया देना। बहुत आगे की नहीं सोचना चाहता। हम सभी जानते हैं कि यह एक अलग प्रारूप है। वनडे के साथ इसकी कोई तुलना नहीं है।''

Post Comment

Comment List

Latest News

हिमाचल प्रदेश के ऊना में लगी आग में चार बच्चे जिंदा जले हिमाचल प्रदेश के ऊना में लगी आग में चार बच्चे जिंदा जले
थानाधिकारी आशीष पठानिया ने बताया कि अंब में बुधवार देर रात बिहार में दरभंगा जिला निवासी भदेश्वर दास और रमेश...
जिंदल पैंथर और विमल एरियन ने सिरमौर कप में जीत दर्ज की
म्यूजियम से हथियार निकाल कर रूस से युद्ध लड़ रहा यूक्रेन
पेरू में बर्ड फ्लू के कारण सैकड़ों समुद्री जीवों और पक्षियों की मौत, एच5एन1 वायरस है वजह
भारतीय कंपनियां रूस से सस्ता तेल खरीदने के लिए दिरहम में कर रही भुगतान 
नहीं रही रणथंभौर की उम्रदराज बाघिन कृष्णा
वीआईटी वेल्लोर में मुथमिज अरिगनार कलैगनार एम. करुणानिधि हॉस्टल ब्लॉक और पर्ल रिसर्च पार्क का शुभारंभ