BJP वाले किस मुंह से महिला सम्मान की बात करते हैं, इन्होंने MP में बलात्कार पीड़िता को 1500 रुपए दिए थे: सुप्रिया श्रीनेत

BJP वाले किस मुंह से महिला सम्मान की बात करते हैं, इन्होंने MP में बलात्कार पीड़िता को 1500 रुपए दिए थे: सुप्रिया श्रीनेत

सुप्रिया श्रीनेत ने ओपीएस पर मोदी सरकार को घेरते हुए चुनौती दी। कर्मचारियों की मांग मोदी ने पूरी नहीं की तो जनता इन चुनावों में सबक सिखा देगी। मोदी को तीन काले कानून की तरह एनपीएस भी वापस लेनी पड़ेगी।

जयपुर। कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने ओपीएस पर मोदी सरकार को घेरते हुए चुनौती दी। कर्मचारियों की मांग मोदी ने पूरी नहीं की तो जनता इन चुनावों में सबक सिखा देगी। मोदी को तीन काले कानून की तरह एनपीएस भी वापस लेनी पड़ेगी।

पीसीसी मुख्यालय में मीडिया से बात करते हुए श्रीनेत ने कहा कि भाजपा वाले किस मुंह से महिला सम्मान की बात करते हैं। एमपी में बलात्कार पीड़िता को 1500 रुपए देते हैं। हम हाथरस, उन्नाव या लखीमपुर की बात करते हैं तो ये राजस्थान पर आ जाते हैं। मोदी को ओपीएस पर चुनौती देती हूं। कर्मचारी पुरानी पेंशन लौटाने की मांग उनसे कर रहे हैं। पेंशन स्कीम पर एनपीएस इनको वापस लेना पड़ेगा। तीन काले कानून भी इनको वापस लेने पड़े थे। यूपी में भी ओपीएस की डिमांड है।

भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव में भाजपा के पास मुद्दे नहीं हैं तो ध्रुवीकरण से लोगों को भ्रमित कर रहे हैं। मोदी यंहा 450 में सिलेंडर की बात करते हैं। उन्हें तो पूरे देश में 500 रुपए में सिलेंडर की घोषणा करनी चाहिए। राजस्थान में गहलोत सरकार ने जो विकास कार्य किए हैं, जिनके दम पर कांग्रेस सरकार रिपीट होगी। उदयपुर कन्हैयालाल प्रकरण पर कहा कि भाजपा आतंकवाद पर राजनीतिक रोटियां सेक रहे हैं। पकड़े गए आरोपी भाजपा अल्पसंख्यक सेल के सदस्य हैं। गहलोत सरकार ने 2 घण्टे में आरोपी पकड़े, लेकिन केंद्र सरकार उन्हें आज तक सजा नहीं दिला पाई। भ्रष्टाचार में पकड़े गए अधिकतर कर्मचारियों के बच निकलने के भाजपा के आरोपों पर कहा कि गहलोत सरकार ने सबसे ज्यादा भृष्टाचारी पकड़े लेकिन भाजपा इसे गलत तरीके से पेश कर रही है। भृष्टाचार करने वाले कई अफसर जेल गए हैं। यूपी सीएम के बयानों पर कहा कि यूपी सीएम का शासन सब जानते हैं। उनका बुलडोजर बृजभूषण के घर पर नहीं चलता। भाजपा के खुद की योजनाओं के नाम बदलकर कांग्रेस के अपनाने के आरोप पर कहा कि मुंगेरीलाल के हसीन सपने देख रहे हैं। आरोप गलत है। यह डर जरूर है कि उनकी सरकार आईं तो योजनाओं को बंद कर सकते हैं। चुनावी समय में योजनाएं लागू करने के सवाल पर कहा कि योजनाएं प्राथमिकता के आधार पर लागू होती हैं। जब सिलेंडर 1200 तक पहुंच गया तो हमे 500 रुपए में करना पड़ा। कोरोना में लोगों की आर्थिक स्थिति बदली तो हमें अन्नपूर्णा जैसी योजनाएं लागू करनी पड़ी। भाजपा के आरोप इसलिए गलत है कि चिरंजीवी योजना हमने बहुत पहले लागू कर दी। जातिगत जनगणना के सवाल पर कहा कि कांग्रेस सरकार रिपीट होगी तो हम जातिगत जनगणना कराएंगे। देश में जातिगत जनगणना आज के समय में जरूरी है। लोगों की जातिवार अध्ययन होगा तो सभी की संख्या के अनुसार योजनाओ का लाभ देने के लिए सरकार को काम करने में आसानी होगी।

गहलोत पायलट की सभाओं में नेताओं के एक साथ नहीं जाने के सवाल पर कहा कि हमारे सभी नेता एकजुट हैं। राजस्थान बडा प्रदेश है, यंहा सभी नेताओं को अलग अलग चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी दे रखी है। ऐसे में गहलोत, पायलट और अन्य नेता अलग अलग जगह जाकर चुनावी कैम्पेन सम्भाल रहे हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News

राजस्थान में एक पेड़ मां के नाम अभियान का हुआ शुभारंभ राजस्थान में एक पेड़ मां के नाम अभियान का हुआ शुभारंभ
  मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने अभियान के तहत मुख्यमंत्री आवास पर अपनी माताजी गोमती देवी के साथ बेल का पौधा
उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए राज्य बजट में शामिल किए जाएंगे शिक्षकों के सुझाव: भजनलाल
Upcoming Week of Stock Market : जीएसटी परिषद के नतीजों का बाजार पर रहेगा असर
भजनलाल सरकार 5 साल में नहीं कर पाएगी एक भी भर्ती, भाजपा-आरएसएस की सोच घातक: डोटासरा
गौ रक्षार्थ 11 कुंडीय गायत्री महायज्ञ का हुआ आयोजन
NEET Paper Leak Conflict : सीबीआई ने दायर की पहली FIR, शिक्षा मंत्रालय की शिकायत पर हुई दर्ज
केन्या में कर वृद्धि के विरोध में प्रदर्शन, 2 लोगों की मौत