बच्चे के काम करने से मना करने पर चिमटे से दागा

युवक ने उसके साथ कुकर्म भी किया

बच्चे के काम करने से मना करने पर चिमटे से दागा

चूड़ी चमकाने के लिए बिहार से जयपुर लाए जा रहे बच्चों से ठेकेदार 24 घंटे में से 19 घंटे काम करवाना आम बात है। ऐसा ही एक दिल दहलाने वाला मामला शास्त्री नगर थाना इलाके में सामने आया है।

जयपुर। चूड़ी चमकाने के लिए बिहार से जयपुर लाए जा रहे बच्चों से ठेकेदार 24 घंटे में से 19 घंटे काम करवाना आम बात है। ऐसा ही एक दिल दहलाने वाला मामला शास्त्री नगर थाना इलाके में सामने आया है। यहां एक दम्पती ने 12 साल के बच्चे को कमरे में बंद कर 19 घंटे काम करवाया और जब उसने काम करने से मना करने पर गर्म चिमटे से उसे दागा। अकेला होने पर युवक ने उसके साथ कुकर्म भी किया। बच्चा किसी तरह मौका पाकर पड़ोसी की छत पर पहुंचा और वहां से पूरी जानकारी दी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। इस मामले में पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया, जबकि कुकर्म करने वाला उसका पति मौके से फरार हो गया।

आवाज भी नहीं निकालने देते थे
बच्चे ने कबूल किया उसे केवल लघुशंका और शौच के लिए कमरे से बाहर निकाला जाता था और दिन-रात काम करवाया जाता था। सुबह जल्दी नहीं उठता तो आंखों में मिर्च डाल देते थे। रोने की आवाज दबाने के लिए तेज आवाज में गाने बजाते। थक जाता और काम नहीं करता तो गर्म चिपटा चिपका देते, सरिए से पीटते, भाग नहीं जाऊं, इसके लिए चाकू से पैर पर चीरा लगा देते। बच्चे ने बताया कि चार माह पहले रियाज की पत्नी रूही बाहर गई थी। तब घर पर अकेले को देखकर रियाज ने पहली बार कुकर्म किया। इसके बाद छह सात बार रूही घर से बाहर गई, तब रियाज ने उससे कुकर्म किया।

उसे रियाज ने और भी यातनाएं दी। पीड़ित नजर बचाकर कमरे से बाहर निकलकर पड़ोस की छत पर कूद गया। तब स्थानीय लोग एकत्र हो गए। एक संस्था से जुड़े स्थानीय जावेद व शर्मिला ने शास्त्री नगर थाना पुलिस को सूचना दी। थानाधिकारी दिलीप सिंह ने बताया कि आरोपी रियाज घर से भाग गया। मामले में उसकी पत्नी रूही को गिरफ्तार कर लिया है।

Read More यूआईटी की 7 योजनाएं हुई लांच

यह है मामला
पुलिस ने बताया कि मूलत: बिहार के दरभंगा निवासी मोहम्मद रियाज और उसकी पत्नी रूही परवीन अपने गांव के 12 वर्षीय एक बच्चे को सात माह पहले जयपुर लाए थे। वे यहां शास्त्री नगर कच्चा बंधा स्थित रियाज के बड़े भाई फेज के मकान में रहे थे। दम्पती ने अपने दो बच्चों के साथ बिहार से लाए पीड़ित बालक को उसी कमरे में अपने साथ रख-रखा था और उसी कमरे में खाना-पीना और चूड़ी बनाने का काम कर रहे थे। पीड़ित बच्चे से रियाज और रूही सुबह 7 बजे से देर रात 12 बजे तक चूड़ी बनवाने का काम करवाते।

Post Comment

Comment List

Latest News

यमुना की सफाई के लिए गंभीरता से काम कर रही है सरकार : सिसोदिया  यमुना की सफाई के लिए गंभीरता से काम कर रही है सरकार : सिसोदिया 
सरकार ने दिल्ली जलबोर्ड को विभिन्न इलाकों में लोगों के घरों में मुफ्त सीवर कनेक्शन मुहैया कराने, पुराने पाइपलाइन को...
शिक्षक संघ ने की प्रदर्शन करने की घोषणा 
कोरोना पीड़ित परिवारों के सदस्यों से मिले राहुल गांधी, पीएम मोदी से किया ये आग्रह
लॉ यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट पदों के चयन के लिए मेरिट लिस्ट जारी 
छात्र-छात्राओं ने शिक्षक की मांग को लेकर स्कूल गेट पर जड़ा ताला
अब एक्टिंग करते नजर आएंगे गुरू रंधावा
मेला शुरु होने के 5वें दिन खुले दशहरा मैदान के शौचालय