स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में जयपुर का 9वां स्थान

शहरी विकास मंत्रालय ने 100 स्मार्ट सिटी की रैंकिंग जारी की

स्मार्ट सिटी की रैंकिंग में जयपुर का 9वां स्थान

केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने देश के 100 स्मार्ट सिटी की रैंकिंग जारी की। हर महीने पूर्ण प्राजेक्ट्स और तेजी से चल रहे कामों के आधार पर होने वाली इस रैंकिंग में जयपुर की रैंकिंग सुधरी है अर्थात 96.20 स्कोर के साथ जयपुर 9वें स्थान पर रहा है, जबकि 104.45 स्कोर के साथ उदयपुर छठे स्थान पर आया है।

जयपुर। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने देश के 100 स्मार्ट सिटी की रैंकिंग जारी की। हर महीने पूर्ण प्राजेक्ट्स और तेजी से चल रहे कामों के आधार पर होने वाली इस रैंकिंग में जयपुर की रैंकिंग सुधरी है अर्थात 96.20 स्कोर के साथ जयपुर 9वें स्थान पर रहा है, जबकि 104.45 स्कोर के साथ उदयपुर छठे स्थान पर आया है। प्रोजेक्ट में शामिल कोटा 95.03 स्कोर के साथ 10वें और अजमेर शहर 88.46 स्कोर के साथ 15वें स्थान पर रहा है।

यह रैंकिंग हर महीने स्मार्ट सिटी में होने टेंडर, मौके पर प्रोजेक्ट्स की स्थिति, फंड यूटिलाइजेशन समेत 9 बिंदुओं के एनालिसिस के आधार पर जारी की जाती है। इस रैंकिंग में ऑल ओवर इंडिया में पहले स्थान पर भोपाल है।

राजस्थान को मिली थी पहली रैंकिंग
पिछले दिनों ही स्मार्ट सिटी परियोजना को काम के आधार पर शहरी विकास मंत्रालय ने राज्यों की रैंकिंग जारी की थी। इसमें राजस्थान को नंबर एक रैंक दी थी। देशभर के 100 शहरों में चल रहे स्मार्ट सिटी के काम की समीक्षा में राजस्थान को 140 में से 90.40 अंक मिले हैं।

Read More 29 सितम्बर से 14 अक्टूबर तक सेना भर्ती रैली का आयोजन

अनियमित कार्मिक को नियमित किया तो आयुक्त-ईओ जिम्मेदार
प्रदेश के नगरीय निकायों में अनियमित कर्मचारियों को निकायों के स्तर पर नियमित करने के मामले में सरकार ने सख्ती दिखाई है। स्वायत्त शासन विभाग ने निकायों को साफ  किया है कि बिना स्क्रीनिंग कमेटी के फैसले के किसी भी कर्मचारी को नियमित किया गया तो, निकाय आयुक्त या ईओ इसके जिम्मेदार होंगे। कर्मचारी के नियमितिकरण का फैसला निकाय में गठित स्क्रीनिंग कमेटी ही कर सकती है।






Post Comment

Comment List

Latest News