बिहार में प्रथम चरण की 3 सीटों पर नए प्रत्याशी को मिलेगा जीत का मौका

जीतन राम मांझी को पराजित किया था

बिहार में प्रथम चरण की 3 सीटों पर नए प्रत्याशी को मिलेगा जीत का मौका

नवादा सीट से चदन सिंह इस बार के चुनावी संग्राम से बाहर हैं वहीं, जमुई (सु) से जीते सांसद चिराग पासवान हाजीपुर (सु) से चुनाव लड़ रहे हैं।

पटना। बिहार में प्रथम चरण में होने वाले लोकसभा चुनाव में चार सीटों में से तीन सीट गया (सु), नवादा और जमुई (सु) के विजेता के इस सीट पर चुनाव नहीं लड़ने पर इस बार के चुनाव में नये प्रत्याशी को जीत कर सासंद बनने का मौका मिलेगा। बिहार में प्रथम चरण में चार सीट गया (सु), औरंगाबाद, नवादा और जमुई (सु.), के लिए मतदान 19 को होगा। इनमें दो सीट गया (सु) से विजयी विजय कुमार मांझी और नवादा सीट से चदन सिंह इस बार के चुनावी संग्राम से बाहर हैं वहीं, जमुई (सु) से जीते सांसद चिराग पासवान हाजीपुर (सु) से चुनाव लड़ रहे हैं। औरंगाबाद सीट से भाजपा के सांसद इस बार भी इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

दो विधायकों के बीच मुकाबला
वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गबंधन (राजग) में शामिल जनता दल यूनाईटेड (जदयू) प्रत्याशी विजय कुमार मांझी ने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के उम्मीदवार महागठबंधन के प्रत्याशी जीतन राम मांझी को पराजित किया था। वर्ष 2024 के चुनाव में जीतन राम मांझी महागठंधन छोड़कर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल हो गए हैं। राजग के घटक दलों के बीच सीटों के तालमेल में गया (सु) सीट इस बार पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी (हम) को दे दी गई है। इस तरह से वर्ष 2019 में जदयू के टिकट पर विजयी विजय कुमार मांझी इस बार के चुनावी संग्राम से बाहर हैं। गया (सु) सीट पर इंडियन नेशनल डेमोक्रेटिक इंक्लूसिव अलायंस में शामिल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रत्याशी और बोधगया के विधायक कुमार सर्वजीत का मुकाबला(हम) के प्रमुख और इमामगंज के विधायक जीतनराम मांझी से है। गया (सु) इस बार के लोकसभा चुनाव में एकमात्र सीट है, जहां दो विधायक जीतन राम मांझी और कुमार सर्वजीत के बीच मुकाबला होगा। इस तरह गया (सु) सीट पर नए सांसद बनेंगे। 

अरुण को उम्मीदवार बनाया
वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में जमुई (सु) सीट पर राजग में शामिल (लोजपा) के टिकट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान पासवान ने राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) उम्मीदवार और पूर्व सांसद भूदेव चौधरी को पराजित किया था। इस बार के चुनाव में राजग के घटक दल लोजपा-रामविलास से चिराग पासवान ने जमुई (सु) सीट से अपने जीजा अरुण भारती को उम्मीदवार बनाया है। चिराग पासवान ने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। वहीं, इस बार के लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन में शामिल (राजद) ने जमुई (सु) सीट से अर्चना रविदास को उम्मीदवार बनाया है। अर्चना रविदास पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही हैं। इस तरह जमुई (सु) पर भी नया सांसद बनेगा।

चंदन सिंह चुनावी रेस से बाहर
नवादा सीट से वर्ष 2019 के चुनाव में राजग के दल लोक जनशक्ति पार्टी के टिकट पर चंदन सिंह ने जीत हासिल की थी। चंदन सिंह ने (राजद) प्रत्याशी और पूर्व बाहुबली विधायक राजवल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी को पराजित किया था। लोजपा में टूट के बाद चंदन सिंह अपने बड़े भाई सूरजभान सिंह के साथ पशुपति पारस के खेमे में शामिल हो गए थे। कुछ दिन पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी (आरएलजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति पारस ने सीट बंटवारे को लेकर राजग का दामन छोड़ दिया था। इस बार के चुनाव में चंदन सिंह चुनावी रेस से बाहर हो गए हैं। राजग में सीटो में तालमेल के तहत लोजपा के कोटे से (भाजपा) के हिस्से में आई नवादा सीट पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री सी.पी.ठाकुर के पुत्र और राज्यसभा सासंद विवेक ठाकुर उम्मीदवार हैं।

Read More नौकरियों में महिलाओं के लिए महिला छात्रावास की घोषणा, रोजगार देने वालों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि 

विवेक ठाकुर पहली बार लोकसभा के चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। वहीं इंडी गठबंधन में शमिल राजद ने श्रवण कुश्वाहा को उम्मीदवार बनाया है। श्रवण कुशवाहा पूर्व में गोविंदपुर विधानसभा क्षेत्र और साथ ही स्थानीय निकाय क्षेत्र से विधान परिषद का भी चुनाव लड़ चुके हैं। श्रवण कुश्वाहा भी लोकसभा चुनाव में पहली बार अपनी किस्मत आजमाएंगे। वहीं नवादा लोकसभा सीट के लिए श्रवण कुशवाहा को प्रत्याशी बनाए जाने के बाद राजद नेता और पूर्व विधायक राजवल्लभ यादव के भाई विनोद यादव ने नाराज होकर राजद के सभी पद से इस्तीफा दे दिया है और निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नवादा लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। नवादा सीट पर भी नये उम्मीदवार को जीत के बाद सांसद बनने का मौका है। 

Read More RSS में शामिल हो सकेंगे सरकारी कर्मचारी, खड़गे बोले- प्रतिबंध हटाना मोदी की खीज का नतीजा

 

Read More शंभू बॉर्डर किसान आंदोलन: बैरिकेडिंग पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया स्वतंत्र समिति बनाने का सुझाव

Tags: election

Post Comment

Comment List

Latest News

निकायों के निर्माण कार्यों में एम-सैंड का उपयोग अनिवार्य, प्रोजेक्ट्स में न्यूनतम 25 प्रतिशत एम-सैंड लेंगे काम निकायों के निर्माण कार्यों में एम-सैंड का उपयोग अनिवार्य, प्रोजेक्ट्स में न्यूनतम 25 प्रतिशत एम-सैंड लेंगे काम
नगरीय विकास एवं आवासन विभाग ने एक आदेश जारी किया है, जिसमें निर्माण कार्यों में खनिज बजरी के विकल्प के...
जल जीवन मिशन कामों की कल होगी समीक्षा, प्रति ग्राम पंचायत दो-दो नल जल मित्र के प्रस्ताव होंगे पारित
राज्य सरकार एवं हुडको के मध्य हुआ एमओयू
शंभू बॉर्डर किसान आंदोलन: बैरिकेडिंग पर सुप्रीम कोर्ट ने दिया स्वतंत्र समिति बनाने का सुझाव
राजस्थान को मिला 9959 करोड़ रुपए का बजट
कस्टम ड्यूटी में कटौती के बाद सोना-चांदी की खरीदारी में वृद्धि
AAP ने लगाए आरोप- केंद्र सरकार ने बजट में दिल्ली और पंजाब के साथ किया सौतेला व्यवहार