लोकसभा चुनावों में कांग्रेस अब तक राजस्थान में 3 बार खाता नहीं खोल पाई

1984 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस ने जीती थी सभी 25 सीटें

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस अब तक राजस्थान में 3 बार खाता नहीं खोल पाई

राजस्थान में अब तक लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का तीन बार खाता नहीं खुल पाया है। मोदी लहर में 2014 और 2019 का चुनाव सहित 1989 चुनाव में भी कांग्रेस एक सीट भी नहीं जीत पाई थी।

जयपुर। राजस्थान में अब तक लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का तीन बार खाता नहीं खुल पाया है। मोदी लहर में 2014 और 2019 का चुनाव सहित 1989 चुनाव में भी कांग्रेस एक सीट भी नहीं जीत पाई थी। वहीं जब 1984 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को ऐसी सहानुभूति मिली थी कि राजस्थान में 25 की 25 सीटें उनकी झोली में आई थी। 

वर्ष 1989 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 25 की 25 सीटें गंवा भी दी थी। जिसकी वजह से शिवचरण माथुर को इस्तीफा भी देना पड़ा था। उस समय बीजेपी के खाते में 13 सीट, जनता दल के खाते में 11 और एक सीट सीपीएम के खाते में आई थी। ये अनोखा रिकॉर्ड शिवचरण माथुर के नाम के साथ जुड़ा हुआ है। कांग्रेस ने 2014 लोकसभा चुनाव प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट और अशोक गहलोत के नेतृत्व में लड़ा, लेकिन हार मिली। वर्ष 2019 लोकसभा चुनाव में गहलोत सरकार की मौजूदगी थी, लेकिन गहलोत और पायलट के नेतृत्व में भी चुनाव में खाता नहीं खुल पाया। इस बार पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और अशोक गहलोत की राजनीतिक परीक्षा होगी।

Post Comment

Comment List

Latest News