दूसरे फेज की सीटों में कांग्रेस दलित-अल्पसंख्यकों तक पहुंचने में जुटी

सेंधमारी की सूचनाओं ने आलाकमान की चिंता बढाई

दूसरे फेज की सीटों में कांग्रेस दलित-अल्पसंख्यकों तक पहुंचने में जुटी

आलाकमान स्तर से देखरेख कर रहे नेताओं ने इन सूचनाओं के आधार पर इन सीटों पर मोर्चा संभाल रहे नेताओं को कई सुझाव दिए थे।

जयपुर। लोकसभा चुनाव के तहत राजस्थान में कांग्रेस ने दूसरे फेज की 13 सीटों पर कमर कसते हुए कुछ सीटों पर दलित, अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है। पहले फेज में कुछ सीटों पर मिले फीडबैक के बाद आलाकमान स्तर से नेताओं को लेकर प्रदेश कांग्रेस को निर्देश मिले हैं। राजस्थान में लोकसभा चुनाव की 25 सीटों पर जीत की रणनीति बनाने के लिए कांग्रेस आलाकमान भी अपने स्तर पर पहले से अधिक सक्रिय हो गया है। लोकसभा प्रभारियों के माध्यम से सभी सीटों पर कांग्रेस मुख्यालय स्तर से लगातार देखरेख की जा रही है। फीडबैक रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश कांग्रेस को भी कई चुनावी गतिविधियों के बारे में जरूरी सुझाव भिजवाए जा रहे हैं। राजस्थान में पहले फेज की 12 सीटों पर आज मतदान होगा। कांग्रेस आलाकमान को पहले फेज की सीटों पर प्रचार प्रसार के दौरान कई सीटों पर नेताओं और कार्यकर्ताओं की गुटबाजी से चुनाव प्रभावित होने की सूचनाएं मिलीं। जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण, बीकानेर, चूरू, अलवर और दौसा जैसी सीटों पर गुटबाजी के चलते कांग्रेस के परंपरागत वोट बैंक में सेंधमारी की सूचनाओं ने आलाकमान की चिंता बढाई। आलाकमान स्तर से देखरेख कर रहे नेताओं ने इन सूचनाओं के आधार पर इन सीटों पर मोर्चा संभाल रहे नेताओं को कई सुझाव दिए थे।

दूसरे फेज में निष्क्रिय रहे नेताओं को मिलेगा नोटिस
पहले फेज के सीटों की पहुंची फीडबैक रिपोर्ट में कई नेताओं और कार्यकर्ताओं के अंदरूनी तौर पर निष्क्रिय रहने और केवल बाहरी तौर पर समर्थन करने की खबरें मिली थी। फिलहाल ऐसे नेताओं की लिस्ट तैयार की गई है,लेकिन अभी कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है, क्योंकि इससे दूसरे फेज के चुनावों पर असर पड़ सकता है। अब दूसरे फेज की 13 सीटों पर पार्टी कोई भीतरघात नहीं झेलना चाहती है। इसलिए लोकसभा प्रभारियों के माध्यम से इन क्षेत्रों में जिम्मेदारी संभाल रहे स्टार प्रचारकों और दिग्गज नेताओं को कमान संभालने और कमजोर पहलुओं को दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। 
इन बड़े नेताओं को दिए टास्क
आलाकमान स्तर से खासतौर पर डूंगरपुर-बांसवाड़ा, बाड़मेर, कोटा, जालोर, टोंक-सवाईमाधोपुर जैसी सीटों पर भीतरघात की सूचनाओं से बड़े नेताओं को अवगत कराया है। प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा और पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा से भी इन सीटों के बारे में लगातार फीडबैक लिया जा रहा है। स्टार प्रचारकों में पूर्व सीएम अशोक गहलोत, कांग्रेस महासचिव सचिन पायलट सहित कई नेताओं को विशेष जिम्मेदारी सौंपी गई है, ताकि मतदान से पहले सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को एकजुट किया जा सके। 

 

Tags: Congress

Post Comment

Comment List

Latest News