रिजल्ट में गड़बड़झाले का सोशल मीडिया पर चलाया अभियान, एनटीए ने दी नीट को लेकर सफाई

नॉर्मलाइजेशन फामूर्ले को कुछ कैंडिडेट के लिए लागू किया गया

रिजल्ट में गड़बड़झाले का सोशल मीडिया पर चलाया अभियान, एनटीए ने दी नीट को लेकर सफाई

ऐसे में परसेंटाइल का नॉर्मलाइजेशन करते हुए इन कैंडिडेट को मुआवजे के रूप में अनुग्रह अंक दिए गए हैं, इनके चलते उनके 718 और 719 हो गए हैं। 

जयपुर। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने देश की सबसे बड़ी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस एग्जाम (नीट यूजी-2024) का परिणाम जारी कर दिया, लेकिन इस परिणाम में भी गड़बड़झाला करने का आरोप लगा है। परीक्षा में 69वीं रैंक लाने वाले कैंडिडेट के स्कोर कार्ड में 718 अंक दिखाए गए हैं, जबकि यह अंक परिणाम के अनुसार नहीं आ सकते हैं। इसको लेकर कैंडिडेट ने अब सोशल मीडिया पर अभियान छेड़ दिया है। एनटीए ने इस पर स्पष्टीकरण भी जारी किया है। इसके तहत एनटीए ने बताया है कि 5 मई को हुई परीक्षा के आयोजन के दौरान टाइम लॉस चिंता जताते हुए कैंडिडेट ने कोर्ट केस किया था, इसमें कैंडिडेट के समय के नुकसान का पता लगाया गया था। कोर्ट के फैसले के बाद 13 जून, 2018 को तैयार किए गएहै। ऐसे में परसेंटाइल का नॉर्मलाइजेशन करते हुए इन कैंडिडेट को मुआवजे के रूप में अनुग्रह अंक दिए गए हैं, इनके चलते उनके 718 और 719 हो गए हैं। 

इसलिए नहीं बैठता 718 का आकंड़ा
एजुकेशन एक्सपर्ट देव शर्मा का कहना है कि सभी कैंडिडेट को परीक्षा में 200 प्रश्न पूछे गए थे, जिनमें 180 प्रश्न करने थे। प्रत्येक सही जवाब पर चार अंक और गलत जवाब पर एक अंक काटा जाना था। ऐसे में 66 कैंडिडेट ने पूरे 180 प्रश्न सही किए हैं, कैंडिडेट ने सभी प्रश्नों के सही जवाब दिए हैं तो उसके 720 अंकों होने हैं, अगर उसने एक प्रश्न का जवाब नहीं दिया तो 716 अंक उसके होने चाहिए थे। इसी तरह प्रश्न का जवाब दिया और वो गलत निकला तब 719 अंक आने चाहिए थे। इसीलिए 718 अंक किस हिसाब से आए यह है, यह अन्य कैंडिडेट्स के समझ में नहीं आ रहा है। हालांकि एनटीए ने यह साफ कर दिया है। 

इस पर भी है आपत्ति 
सोशल मीडिया पर चल रहे अभियान के तहत कैंडिडेट्स यह भी दावा कर रहे हैं कि एक ही केंद्र पर परीक्षा दे रहे कैंडिडेट टॉपर बने हैं। इन कैंडिडेट्स के रोल नंबर बिल्कुल नजदीक है। ऐसा तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात और हरियाणा में हुआ है। स्टूडेंट सोशल मीडिया पर भी इसे शेयर कर रहे हैं, जिसमें 8 स्टूडेंट तो बिल्कुल नजदीक के रोल नंबर वाले हैं, जो इस परीक्षा में टॉप किए हैं। इन सभी कैंडिडेट्स का रोल नंबर एक ही सीरीज के आसपास है, जिनमें से 6 कैंडिडेट के परफेक्ट स्कोर बना है। यह सभी कैंडिडेट नेशनल टेस्टिंग एजेंसी पर गड़बड़ी करने का आरोप लगा रहे हैं।

Tags: campaign

Post Comment

Comment List

Latest News

UGC NET Exam : 18 जून को हुआ पेपर गड़बड़ी के चलते रद्द UGC NET Exam : 18 जून को हुआ पेपर गड़बड़ी के चलते रद्द
यूजीसी द्वारा 18 जून को करवाया गया नेट का एग्जाम परीक्षा में गड़बड़ी के चलते रद्द कर दिया गया है। ...
प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टर चिरंजीवी योजना को बदनाम करने से बचें: गहलोत
24000 खानों को ईसी मंजूरी का मामला : 21422 खानधारकों के दस्तावेज वेलिडेटेड, जल्द जारी होगी ईसी
Silver & Gold Price चांदी दो सौ रुपए सस्ती और सोना दो सौ रुपए महंगा
युवा विरोधी भजनलाल सरकार को सड़क से लेकर सदन में घेरेंगे: पूनिया
मोदी कैबिनेट में हुए 5 बड़े फैसले, 14 खरीफ की फसलों की एमएसपी बढ़ाई
नीट में धांधली के खिलाफ 24 जून को संसद घेराव करेगी NSUI