Property का बंटवारा नहीं होने से नाराज युवक ने चाकुओं से किया था हमला

एक साथ पहुंचे तीन शवों को देख सबकी आंखें हुईं नम

Property का बंटवारा नहीं होने से नाराज युवक ने चाकुओं से किया था हमला

पुलिस ने बताया कि शकुंतला किचन में खाना बना रही थी। तभी रघुवीर ने शाम करीब आठ बजे सबसे पहले भाभी शकुंतला से झगड़ा किया और उस पर चाकू से हमला कर दिया।

जयपुर। अपनी भाभी, भतीजे और भतीजी पर चाकुओं से ताबड़तोड़ जानलेवा हमला कर खुद आत्महत्या करने वाले रघुवीर सिंह ने जायदाद का बंटवारा नहीं होने से नाराज होकर वारदात की थी। इस क्रूरता को करने से पहले रघुवीर सिंह ने एक दिन पहले भी कई रिश्तेदारों को फोन किया था। उसने कहा था कि आप आकर हमारा बंटवारा करवा दो, अन्यथा रोते हुए जाओगे। तब किसी ने उसे गंभीरता से नहीं लिया और आरोपी ने अपनी हैवानियत दिखाते हुए बच्चों को भी नहीं छोड़ा। पुलिस ने चाकुओं के हमले से मौत का शिकार हुए एक साल के भतीजे भानू प्रताप, 12 वर्षीय भतीजी दिव्यांशी और आत्महत्या करने वाले रघुवीर के शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिए। एक साथ जब तीन शव कॉलोनी में पहुंचे तो सबकी आंखें नम हो गई। इधर गंभीर घायल शकुंतला उर्फ बेबी कंवर का उपचार जारी है। 

प्लॉट-मकान बना विवाद
पुलिस ने बताया कि लक्ष्मण और रघुवीर के पिता का करीब दस साल पहले निधन हो गया था। इन दोनों की मां माया कंवर के नाम से लक्ष्मी नगर में प्लॉट है। लक्ष्मण ने इसके कुछ हिस्से पर मकान बना लिया और कुछ हिस्सा अभी खाली पड़ा है। रघुवीर की वर्ष 2021 में शादी हुई लेकिन कुछ दिन बाद ही पत्नी पीहर चली गई। रघुवीर लक्ष्मण के पास ही एक कमरे में रहता था। मां करीब दस दिन से पीहर गई थी। इसके बाद हत्या करने के इरादे से वार कर दिए। 

ऐसे किया हमला
पुलिस ने बताया कि शकुंतला किचन में खाना बना रही थी। तभी रघुवीर ने शाम करीब आठ बजे सबसे पहले भाभी शकुंतला से झगड़ा किया और उस पर चाकू से हमला कर दिया।मां की चीख सुनकर दौड़कर नीचे आई दिव्यांशी ने 100 मीटर दुकान के पास बैठे लोगों से कहा कि चाचा मम्मी को मार रहे हैं, बचाओ। इस पर कोई आगे नहीं आया। खुद दिव्यांशी हिम्मत कर पहुंची तो रघुवीर ने उस पर चाकुओं से हमला कर दिया। इसी दौरान एक साल के सूर्यप्रताप उर्फ भानू को भी लहूलुहान कर दिया। रघुवीर ने दिव्याशी पर सबसे ज्यादा वार किए।

कुंदी लगाकर हुआ फरार
भाभी, भतीजे और भतीजी को गंभीर रूप से घायल कर आरोपी रघुवीर ने कपड़े बदले और मकान के बाहर से कुंदी लगाकर अपनी बाइक से फरार हो गया। रघुवीर के जाने के कुछ समय बाद ही लक्ष्मण घर पहुंचा और गेट खोलकर देखा तब वारदात का पता चला। तब तक लहूलुहान शकुंतला ने बच्चों को बचाने का प्रयास किया लेकिन बचा नहीं पाई। पूरे मकान पर खून ही खून था। 

Read More अत्याधुनिक डिजिटल और तकनीक आधारित पहलों की शुरुआत के साथ BoB ने मनाया 117वां स्थापना दिवस

डीसीपी अमित की पोस्ट
ये कलियुग है, रघु ने लक्ष्मण के परिवार की हत्या कर दी
वारदात के बाद डीसीपी अमित कुमार ने अपनी फेसबुक पर लिखा प्लॉट और मामूली कहासुनी में रघुवीर ने अपने भीतर के शैतान की हैवानियत से सब बर्बाद कर दिया। घटना के बाद उसने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। निर्मम वारदात उसने पूरे होश में की। लेकिन खुद की जान देने से पहले शराब पी, पटरियों पर बोतल पड़ी थी। फिर आत्महत्या कर ली। अक्सर उल्टा होता है, व्यक्तिनशे में इतनी हैवानियत करता है और होश में आते ही आत्महत्या करता है। ये कलियुग है, ठीक उल्टा हुआ। रघुवीर की मां ने अपने दोनों बेटों का नाम रामायण से प्रभावित होकर रघुवीर (राम) और लक्ष्मण रखा। ये कलियुग है रघुवीर ने लक्ष्मण के परिवार की हत्या कर दी।

Read More Budget 2024 कल, फोर्टी ने बजट के लिए दिए सुझाव

Post Comment

Comment List

Latest News

बस स्टैंड की बजाय बाईपास से ही बस ले जाने वाले चालकों पर होगी कार्रवाई बस स्टैंड की बजाय बाईपास से ही बस ले जाने वाले चालकों पर होगी कार्रवाई
राजस्थान रोडवेज सीएमडी श्रेया गुहा ने सोमवार को रोडवेज मुख्यालय में समीक्षा बैठक ली। जिसमें सभी अधिकारी मौजूद रहे।
Jaipur Gold & Silver Price : चांदी 450 रुपए और जेवराती सोना सौ रुपए सस्ता 
ERCP का समझौता पूर्वी राजस्थान का गला घोटेगा पीने का पानी भी पूरा नहीं मिलेगा : रामकेश मीणा 
Budget 2024 : कल करेगी सीतारमण बजट पेश, सातवीं बार आम बजट पेश कर बनाएगी रिकार्ड
पाकिस्तानी सिंगर राहत फतेह अली खान गिरफ्तार
महाराणा प्रताप और सूरजमल के वंशजों को लड़ाना बंद करो:  भैराराम चौधरी
उद्योग व्यापार और एमएसएमई को राहत की उम्मीद