पैंथर ने बाड़े में बकरियों को किया घायल

बाड़े में तीन बकरियों को मार डाला

पैंथर ने बाड़े में बकरियों को किया घायल

रामगढ़ बांध के भराव क्षेत्र से सटी बेड़ा की ढाणी में पैंथर ने रामजीलाल मीना के बाड़े में तीन बकरियों को मार डाला तथा चार को गंभीर रूप से घायल कर दिया।

जमवारामगढ़। रामगढ़ बांध के भराव क्षेत्र से सटी बेड़ा की ढाणी में पैंथर ने रामजीलाल मीना के बाड़े में तीन बकरियों को मार डाला तथा चार को गंभीर रूप से घायल कर दिया। अचानक बकरियों की तेज आवाज आने से पशुपालक, किसान व स्थानीय लोग आए, तो पैंथर भाग गया। पैंथर के हमले की लोगों ने जमवारामगढ़ सरपंच नीलम मीना, सरपंच प्रतिनिधि कालूराम मीणा को सूचना दी। इसके बाद सरपंच ने वन विभाग के अधिकारियों को जानकारी दी। सूचना पर विभाग के क्षेत्रीय वन अधिकारी प्रेम शंकर मीना सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। इस दौरान ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों ने वन विभाग की ओर से मुआवजा राशि दिलाने की मांग की। सरपंच की सूचना पर वनपाल सीताराम मीना व मुकेश गुर्जर मौके पर पंहुचे तथा पैंथर के हमले की मौका रिपोर्ट तैयार की। वन कर्मचारियों ने बताया कि मुआवजा के लिए प्रस्ताव स्वीकृति के लिए उच्च अधिकारियों को भेजेंगे। स्वीकृति के बाद मुआवजा राशि नियमानुसार दी जाएगी।

वन्यजीव को भोजन व पानी की तलाश
वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र पेयजल की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है। भीषण गर्मी में जंगल में वन्यजीव छिपे रहते है और भोजन व पानी की तलाश में आबादी में आ जाते हैं। कुछ सालों पहले भी दीपोला गांव के पास भाजपा नेता एचएस परिडवाल पर भी पैथर हमला कर चुका है। उसके बाद लगातार क्षेत्र में पैंथर का मूवमेंट है, लेकिन वन विभाग के अधिकारी इस मामले को गंभीरता से नहीं लेते है।

आबादी क्षेत्र में पैथरों का आतंक बढ़ा है। समय रहते वन विभाग के अधिकारी नहीं चेते तो बड़ी जनहानि भी हो सकती है। पीड़ित पशुपालक को आर्थिक सहायता तुरंत मिलनी चाहिए। इससंबंध में उच्च अधिकारियों को पत्र लिखा जाएगा।
- नीलम मीना, सरपंच जमवारामगढ़

Read More केंद्र सरकार खत्म कर रही डेमोक्रेसी

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News