फीफा विश्व कप: क्वालीफाई करने वाली आखिरी टीम बनी कोस्टारिका

कैंपबेल के गोल से न्यूजीलैंड को 1-0 से हरा, लगातार तीसरी बार बनाई विश्वकप में जगह

फीफा विश्व कप: क्वालीफाई करने वाली आखिरी टीम बनी कोस्टारिका

दोहा। कोस्टारिका इस साल के विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने वाली आखिरी टीम बन गई। जोएल कैंपबेल के शानदार गोल की बदौलत कोस्टारिका ने बुधवार को प्लेआॅफ मुकाबले में न्यूजीलैंड को 1-0 से पराजित कर कतर विश्व कप के लिए आखिरी सीट बुक कर ली।

दोहा। कोस्टारिका इस साल के विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने वाली आखिरी टीम बन गई। जोएल कैंपबेल के शानदार गोल की बदौलत कोस्टारिका ने बुधवार को प्लेआॅफ मुकाबले में न्यूजीलैंड को 1-0 से पराजित कर कतर विश्व कप के लिए आखिरी सीट बुक कर ली। इसके साथ ही विश्व कप की सभी 32 टीमें तय हो गई हैं।

फॉरवर्ड कैंपबेल ने खेल के तीसरे मिनट में ही गोल कर कोस्टारिका को बढ़त दिला दी थी। न्यूजीलैंड के लिए 16वें मिनट में बराबरी का बेहतरीन मौका मिला लेकिन रैफरी ने वुड के प्रयास को खारिज कर दिया। न्यूजीलैंड को फिर के झटका लगा, जब नौ मिनट पहले ही मैदान पर उतरे कोस्टा ब्रेवरस को 69वें मिनट में लाल कार्ड दिखा बाहर भेज दिया गया। इसके बाद कोस्टारिका की मजबूत रक्षापंक्ति ने न्यूजीलैंड को कोई मौका नहीं दिया।


ग्रुप ई में खेलेगी कोस्टारिका
नवंबर में कतर में शुरू होने वाले टूर्नामेंट में कोस्टारिका अब ग्रुप ई में जर्मनी, स्पेन और जापान के साथ होगा। कतर विश्व कप में हालांकि कोई ग्रुप आफ डेथ नहीं दिखता लेकिन दो पूर्व चैंपियनों जर्मनी और स्पेन की मौजूदगी में ग्रुप ई को ही सबसे कठिन ग्रुप माना जा रहा है।

Read More कॉमनवेल्थ गेम्स में चानू ने जीता गोल्ड मेडल

लगातार तीसरा विश्व कप
इस जीत के साथ कोस्टारिका ने लगातार तीसरे विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर लिया है। कोस्टारिका का यह छठा विश्व कप है। विश्व कप में कोस्टारिका का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2014 में रहा, जब टीम क्वार्टर फाइनल तक पहुंची।

सबसे कठिन ग्रुप में मिली जगह
छठी बार विश्व कप में पहुंची कोस्टारिका को सबसे कठिन ग्रुप ई में जगह मिली है। इस साल के विश्व कप में कोई स्पष्ट ग्रुप आॅफ डेथ नहीं है। लेकिन ग्रुप ई को सबसे कठिन ग्रुप माना जा रहा है। इस ग्रुप में जर्मनी और स्पेन दो पूर्व विश्व चैंपियन हैं। जर्मनी ने चार बार (2014, 1990, 1974, 1954) विश्व कप जीता है, जबकि स्पेन 2010 में विश्व चैंपियन बना। ग्रुप में सबसे मजबूत एशियाई टीमों में से एक जापान भी शामिल है। ग्रुप जी एक अन्य प्रतिस्पर्धी ग्रुप है, जिसमें ब्राजील, कैमरून, सर्बिया और स्विटजरलैंड हैं।

    विश्व कप के ग्रुप
ग्रुप ए कतर इक्वाडोर सेनेगल नीदरलैंड्स
ग्रुप बी इंग्लैंड ईरान अमेरिका वेल्स
ग्रुप सी  अर्जेन्टीना सऊदी अरब  मैक्सिको  पोलैंड
ग्रुप डी  फ्रांस आस्ट्रेलिया, डेनमार्क  ट्युनिशिया
ग्रुप ई  स्पेन कोस्टारिका  जर्मनी  जापान
ग्रुप एफ  बेल्जियम कनाडा  मोरक्को  क्रोएशिया
ग्रुप जी  ब्राजील सर्बिया  स्विटजरलैंड  कैमरून
 ग्रुप एच  पुर्तगाल  घाना  उरुग्वे कोरिया रिपब्लिक



Read More स्थायी कप्तानी के लिए हार्दिक पांड्या तैयार: कहा, 'मौक़ा मिला तो खुशी से लेना चाहूंगा'

Post Comment

Comment List

Latest News