अध्यापिका के नदारद रहने से नहीं खुला स्कूल

बाहर खेलते नजर आए बच्चे, पढ़ाई हुई प्रभावित

अध्यापिका के नदारद रहने से नहीं खुला स्कूल

आवर क्षेत्र की ग्राम पंचायत गुराडिया कलां के हात्या गौड़ गांव में विद्यालय में 9 बजे तक अध्यापक नहीं पहुंचे। जिससे विद्यालय में गांव के लोग इकट्ठे हो गए। विद्यालय में कार्यरत प्रधानाध्यापक 6 दिन की ट्रेनिंग में भवानीमंडी उपस्थित है तथा स्थानीय विद्यालय में प्रतिनियुक्ति पर लगाई गई अध्यापिका बिना सूचना के विद्यालय से नदारद रहने से विद्यालय नहीं खुल सका।

आवर। आवर क्षेत्र की ग्राम पंचायत गुराडिया कलां के हात्या गौड़ गांव में विद्यालय में 9 बजे तक अध्यापक नहीं पहुंचे। जिससे विद्यालय में गांव के लोग इकट्ठे हो गए। विद्यालय में कार्यरत प्रधानाध्यापक शेरू निशा 6 दिन की ट्रेनिंग में भवानीमंडी उपस्थित है तथा स्थानीय विद्यालय में प्रतिनियुक्ति पर लगाई गई अध्यापिका मानवेंद्र मीणा बिना सूचना के विद्यालय से नदारद रहने से विद्यालय नहीं खुल सका। जिस पर विद्यालय में उपस्थित ग्रामीणों ने बताया कि मानवेंद्र मीणा अक्सर विद्यालय में देर से आती है और रोजाना गुराडिया कलां विद्यालय में जाने का बहाना बनाकर जल्दी चली जाती है और अधिकांश समय विद्यालय में रहते हुए भी फ ोन पर बातें करती रहती है। बच्चों को नहीं पढ़ाती। बच्चों का भविष्य अंधकार में हो रहा है। वही 3 वर्ष पूर्व स्थानीय विद्यालय में पूजा मीणा अध्यापिका की स्थाई नियुक्ति हुई थी। मगर वह भी 3 वर्षों से भवानी में प्रतिनियुक्ति पर लगा रखी अधिकारी को शिकायत करने पर ग्रामीणों को समझाकर वापस भेज दिया जाता है। वहीं शिक्षा विभाग के अधिकारियों के द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

 3 वर्ष से पूजा मीणा अध्यापिका की प्रतिनियुक्ति की जानकारी मिली जिस पर ब्लॉक शिक्षा अधिकारी निर्मला मेहरा के फ ोन लगाया गया मगर फ ोन स्विच आॅफ होने के कारण कोई जानकारी नहीं मिल सकी।
- निर्मला मेहरा, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी भवानीमंडी।

मैं बीमार होने के कारण छुट्टी पर हूं। हत्यागौड विद्यालय बंद होने की जानकारी मिली। मैंने फ ोन पर बात कर विद्यालय में अध्यापक भेज दिया गया। बिना सूचना के विद्यालय से नदारद रहने वालों के खिलाफ  उचित कार्यवाही की जाएगी।
- पीरुलाल हरोकी, पीईओ, गुराडिया कलां।

 सुबह 9 बजे तक विद्यालय न खुलने के कारण बच्चे विद्यालय के बाहर खेलते नजर आए। विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों द्वारा विद्यालय ना खोलने की शिकायत की। जिस पर तुरंत अधिकारियों से संपर्क कर विद्यालय में अध्यापक लगाने एवं बिना बताए विद्यालय से नदारद रहने वालों के खिलाफ  सख्त कार्यवाही की मांग की गई। 
- भागवत भाई, सरपंच, ग्राम पंचायत गुराडिया कलां।

 मेरे द्वारा आॅनलाइन छुट्टी ली गई है। इसके अलावा मैंने पीईओ कार्यालय में छुट्टी के लिए एप्लीकेशन दी है।  - मानवेंद्र मीणा, अध्यापिका। 

Post Comment

Comment List

Latest News